---विज्ञापन---

Delhi Girl Rape Case: नाबालिग के रेप केस में कैसे फंसा दिल्ली सरकार का अधिकारी? भाजपा का सवाल, गिरफ्तारी में 8 दिन क्यों लगे?

Delhi Minor Rape Case : 12वीं कक्षा की नाबालिग छात्रा के साथ दरिंदगी करने वाले महिला एवं बाल विकास विभाग के डिप्टी डायरेक्टर पद पर तैनात प्रमोदय खाखा के बाद अब उसकी पत्नी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। पत्नी पर पुलिस ने कई गंभीर आरोप लगाए हैं। अधिकारी ने जहां नाबालिग छात्रा को […]

Edited By : jp Yadav | Updated: Aug 22, 2023 08:53
Share :
Delhi Girl Rape Case
Delhi Girl Rape Case

Delhi Minor Rape Case : 12वीं कक्षा की नाबालिग छात्रा के साथ दरिंदगी करने वाले महिला एवं बाल विकास विभाग के डिप्टी डायरेक्टर पद पर तैनात प्रमोदय खाखा के बाद अब उसकी पत्नी को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। पत्नी पर पुलिस ने कई गंभीर आरोप लगाए हैं। अधिकारी ने जहां नाबालिग छात्रा को अपनी दरिंदगी का शिकार बनाया तो उसकी पत्नी ने जानते-बूझते इस अपराध को छिपाया। इतना ही नहीं, दुष्कर्म की शिकार नाबालिग छात्रा जब गर्भवती हो गई तो आरोपी अधिकारी की पत्नी ने उसे अबॉर्शन पिल्स दी थी। इससे उसका गर्भपात हो गया।

पैनिक अटैक की वजह से खुलासा

आरोप है कि अधिकारी ने 2020 और 2021 के दौरान कई बार घर पर ही नाबालिग छात्रा के साथ दुष्कर्म किया। इस दौरान उसे धमकी भी दी गई कि वह इस बारे में किसी को नहीं बताए। डर की वजह से पीड़ित छात्रा चुपचाप दर्द सहती रही। इस बीच वह डिप्रेशन में चली गई। इतना ही नहीं, छात्रा को पैनिक अटैक भी आने लगे। इस पर छात्रा की मां उसे लेकर डॉक्टर के पास गई।

डाक्टर के सामने रोने लगी पीड़िता

उधर, डॉक्टर के सामने पैनिक अटैक की वजह का खुलासा हुआ तो मां के पैरों तले जमीन खिसक गई। बेटी ने रोते हुए बताया कि अधिकारी ने अपने घर में उसके साथ बार-बार दुष्कर्म किया। बताया जा रहा है कि आरोपी अधिकारी का काला चिट्ठा इतनी जल्दी सामने नहीं आता अगर दुष्कर्म पीड़िता को पैनिक अटैक नहीं आता, क्योंकि इसके बाद ही मां पीड़िता को डाक्टर के पास ले जाने के लिए मजबूर हुई।

आरोपी की पत्नी भी ‘अपराध’ में शामिल

दरिंदगी के इस मामले में खुलासा यह हुआ है कि आरोपी की पत्नी को पति की करतूत के बारे में जानकारी थी। बताया जा रहा है कि गर्भवती की जानकारी जब पीड़िता ने आरोपी की पत्नी को दी तो उसने इस मामले में चुप रहने के लिए कहा। इसके बाद पत्नी ने पीड़िता को अबार्शन की पिल्स दे दी, जिसके चलते उसका गर्भपात हो गया। वहीं, अगर महिला में जरा भी इंसानियत होती तो वह पुलिस को शिकायत करती और पीड़िता दरिंदगी से बच जाती। वहीं, हैरत की बात यह भी है कि पत्नी ने अपने बेटे के जरिये अबॉर्शन पिल्स मंगवाई थी।

गर्भपात की वजह से तबीयत हुई थी खराब

यह जानकारी भी सामने आ रही है कि अबॉर्शन पिल्स की वजह से नाबालिग छात्रा का गर्भपात तो हो गया, लेकिन उसकी तबीयत लगातार खराब रहने लगी। इसके बाद उसे पैनिक अटैक आने लगा। वहीं, जब अपनी बेटी को डॉक्टर के पास लेकर गई तो उसने चौंकाने वाला खुलासा किया। डॉक्टर के सामने ही बेटी ने बताया कि आरोपी प्रमोदय खाखा पिछले कई महीनों से उसके साथ दुष्कर्म कर रहा था।

आरोपी की गिरफ्तारी में देरी क्यों? भाजपा का सवाल

उधर, आरोपी अधिकारी की देरी से गिरफ्तारी को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने सवाल उठाए हैं। भाजपा नेता बांसुरी स्वराज समेत अन्य विपक्षी नेताओं ने मामला सामने आने के बाद आरोपी की 8 दिन बाद गिरफ्तारी पर सवाल उठाए हैं। भाजपा ने आरोपित अधिकारी प्रमोदय खाखा को लेकर कहा है कि उसकी गिरफ्तारी में इतनी देर इसलिए हुई, क्योंकि वह आतिशी और अरविंद केजरीवाल का करीबी है।

उधर, पूरा मामला सामने आने के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अधिकारी प्रमोदय को निलंबित करने का आदेश दे दिया है और  इस संबंध में मुख्य सचिव से रिपोर्ट तलब की है। वहीं, पुलिस ने आरोपी के खिलाफ यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण अधिनियम (POCSO Act) की धाराओं में मामला दर्ज किया है।

गौरतलब है कि 2020 में नाबालिग छात्रा के पिता की मौत हो गई। इसके बात मां ने ही पति के दोस्त अधिकारी प्रमोदय खाखा के पास बेटी की देखभाल के लिए भेज दिया था। इस दौरान अधिकारी ने नाबालिग छात्रा की देखभाल का विश्वास भी जताया था।

First published on: Aug 22, 2023 08:39 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें