Thursday, December 8, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

दाउद इब्राहिम का करीबी रियाज भाटी मुंबई से गिरफ्तार, इस तरह चढ़ा हत्थे

मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ने सोमवार को अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के सहयोगी रियाज भाटी को रंगदारी के एक मामले में गिरफ्तार किया।

मुंबई: मुंबई पुलिस की अपराध शाखा ने सोमवार को अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के सहयोगी रियाज भाटी (Riyaz Bhati) को रंगदारी के एक मामले में गिरफ्तार किया। क्राइम ब्रांच की एंटी एक्सटॉर्शन सेल ने आरोपी को अंधेरी वेस्ट से गिरफ्तार किया है। उसे जबरन वसूली और हत्या की धमकी के एक मामले में मंगलवार को अदालत में पेश किया जाएगा।

Riyaz Bhati मुंबई के वर्सोवा पुलिस स्टेशन में भाटी रंगदारी के मामले में वांछित है। अधिकारियों ने कहा कि भाटी ने मोहम्मद सलीम इकबाल कुरैशी (उर्फ सलीम फ्रूट) – छोटा शकील के एक करीबी रिश्तेदार के साथ मिलकर वर्सोवा के एक व्यापारी को जान से मारने की धमकी दी थी। उन्होंने पीड़ित से 30 लाख रुपये मूल्य की एक कार और 7.5 लाख रुपये नकद भी वसूले।

अभी पढ़ें Auraiya News: 10वीं के छात्र की पिटाई के बाद मौत पर मायावती ने सरकार पर साधा निशाना, ट्वीट कर कहीं ये बातें

दाऊद इब्राहिम का करीबी छोटा शकील और उसके रिश्तेदार सलीम फ्रूट का भी नाम एफआईआर में है। सलीम फ्रूट को इससे पहले राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने डी कंपनी सिंडिकेट के खिलाफ एक मामले में गिरफ्तार किया था। वह फिलहाल न्यायिक हिरासत में है।

मुंबई पुलिस ने दाऊद के सहयोगी रियाज भाटी (Riyaz Bhati) को गिरफ्तार किया

रियाज भाटी पर अहम बढ़त मिलने पर एईसी की टीम ने जाल बिछाकर सोमवार को अंधेरी से आरोपी को पकड़ लिया। एईसी कार्यालय में पूछताछ के बाद भाटी को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस उसे आज अदालत में पेश करेगी और उसकी हिरासत की मांग करेगी।

अभी पढ़ें Madhya Pradesh: शिवराज कैबिनेट की बैठक में बड़ा ऐलान, अब इस नाम से जाना जाएगा भव्य ‘महाकाल कॉरिडोर’

इससे पहले भाटी को रंगदारी, जमीन हड़पने और फायरिंग समेत कई मामलों में गिरफ्तार किया जा चुका है। उसने 2015 और 2020 में भी फर्जी पासपोर्ट का इस्तेमाल कर देश से भागने की कोशिश की थी। 2021 में उसके खिलाफ मुंबई के गोरेगांव पुलिस स्टेशन में रंगदारी का मामला दर्ज किया गया था। उन्हें जबरन वसूली मामले में मुंबई के पूर्व पुलिस प्रमुख परम बीर सिंह के साथ आरोपी बनाया गया था।

मामला दर्ज होने के बाद भाटी ने अदालत का दरवाजा खटखटाया, लेकिन उनकी अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी गई। मुंबई सत्र न्यायालय ने पाया कि भाटी की हिरासत में पूछताछ उसके आपराधिक इतिहास को देखते हुए मामले में आवश्यक है।

अभी पढ़ें प्रदेश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें 

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -