Monday, 26 February, 2024

---विज्ञापन---

चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की घटना को सोनू सूद ने बताया दुर्भाग्यपूर्ण, कहा- अपनी बहनों के साथ खड़े होने का समय

नई दिल्ली: पंजाब के मोहाली में एक यूनिवर्सिटी में छात्राओं के कुछ आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने की खबर पर बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। सोनू सूद ने कहा कि जो हुआ वह दुर्भाग्यपूर्ण था। फिलहाल, हमें अपनी बहनों के साथ खड़ा होना होगा। बता दें कि सोनू सूद चंडीगढ़ के ही रहने […]

Edited By : Om Pratap | Updated: Sep 19, 2022 11:35
Share :

नई दिल्ली: पंजाब के मोहाली में एक यूनिवर्सिटी में छात्राओं के कुछ आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने की खबर पर बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। सोनू सूद ने कहा कि जो हुआ वह दुर्भाग्यपूर्ण था। फिलहाल, हमें अपनी बहनों के साथ खड़ा होना होगा। बता दें कि सोनू सूद चंडीगढ़ के ही रहने वाले हैं।

49 साल के सोनू सूद ने ट्वीट किया और लिखा कि चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में जो कुछ हुआ वह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। समय आ गया है कि हम अपनी बहनों के साथ खड़े हों और एक जिम्मेदार समाज की मिसाल कायम करें। यह हमारे लिए परीक्षा का समय है, जिम्मेदार बनें।

अभी पढ़ें Nora Fatehi Video: नोरा फतेही की ‘आंखों की मस्ती’ में खोए फैंस, डांसिंग डीवा ने दिखाई कातिल अदाएं

 

उधर, यूनिवर्सिटी के अधिकारियों ने उन रिपोर्टों को खारिज कर दिया है कि कई छात्राओं के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हैं। मोहाली के सीनियर एसपी विवेक शील सोनी ने संवाददाताओं से कहा कि प्रारंभिक जांच के दौरान यह पता चला है कि आरोपी छात्रा ने हिमाचल प्रदेश के बताए जा रहे किसी व्यक्ति के साथ अपना वीडियो शेयर किया था, जिसकी भूमिका भी जांच के दायरे में है।

अभी पढ़ें Video: एयरपोर्ट पर बच्चे ने दी Kartik Aaryan को आवाज, एक्टर के रिएक्शन ने जीता फैंस का दिल

सीनियर एसपी बोले- आरोपी छात्रा को किया गिरफ्तार

सीनियर एसपी ने कहा कि आईपीसी की धारा 354-सी और आईटी अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है और आरोपी छात्रा को गिरफ्तार कर लिया गया है। इससे पहले चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में हुई घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने मामले की उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए हैं।

मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा बेटियां हमारी शान, मर्यादा और गौरव हैं और ऐसी कोई भी घटना निंदनीय है। भगवंत मान ने कह कि वह घटना के बारे में जानकर दुखी हैं और उन्होंने जिला प्रशासन से घटना की गहन जांच करने को कहा है। उधर, विश्वविद्यालय के प्रो-चांसलर डॉ आरएस बावा ने एक बयान में कहा कि 60 ऐसे आपत्तिजनक एमएमएस पाए जाने का दावा झूठा और निराधार है।

अभी पढ़ें – मनोरंजन  से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें 

Click Here – News 24 APP अभी download करें

First published on: Sep 18, 2022 05:45 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें