Thursday, September 29, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

अखिलेश यादव ने एक्सप्रेसवे पर घूमते हथिनी का वीडियो डाला, पुलिस ने महावत पर कर दी बड़ी कार्रवाई

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में पिछले दिनों एक हथिनी का आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे (Agra-Lucknow Expressway) पर धूमते हुए वीडियो वायरल हुआ था। जानकारी होने पर वन विभाग और संबंधित अधिकारियों ने मामले का संज्ञान लिया। अब प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने इस वीडियो को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया है।

लखनऊः उत्तर प्रदेश के उन्नाव में पिछले दिनों एक हथिनी का आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे (Agra-Lucknow Expressway) पर धूमते हुए वीडियो वायरल हुआ था। जानकारी होने पर वन विभाग और संबंधित अधिकारियों ने मामले का संज्ञान लिया। अब प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने इस वीडियो को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया है। साथ में उन्होंने बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे की गुणवत्ता पर निशाना साधते हुए चुटकी भी ली।

उन्नाव में एक्सप्रेसवे पर पहुंच गई थी हथिनी अनारकली

आपको बता दें कि उन्नाव में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर पिछले शुक्रवार (29 जुलाई) को एक हथिनी धूमती दिखी थी। वहां से गुजर रहे कुछ लोगों ने उसका वीडियो बना लिया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। जानकारी पर अधिकारियों में हड़कंप मच गया। क्षेत्र के डीएफओ व रेंजर मौके पर पहुंचे। मामले की जानकारी ली। पता चला कि हथिनी का मालिक राम किशन दो दिन पहले उन्नाव के पुरवा गांव से चला था। पारा थाना क्षेत्र के एक होटल पर खाना खाने के लिए रुका था। तभी उसकी हथिनी वहां से चली गई थी। चार किमी चल कर आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर पहुंच गई थी।

सपा प्रमुख ने किया ट्वीट

अब सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने ट्वीट किया है, ये तो गनीमत है कि पाबंदी के बावजूद हाथी जी सपा के बनाए मजबूत ‘आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे’ पर विचरण कर रहे हैं, कहीं गलती से ये बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे पर चले गए होते तो गुणवत्ता का मारा वो बेचारा इनका वजन सह नहीं पाता… वो खुद खंडित होता और ये चोटिल। एक्सप्रेस-वे सुरक्षा कहां है?

हथिनी और महावत को वन विभाग ने पकड़ा

इसके बाद वन विभाग सक्रिय हो गया। रिपोर्ट्स के मुताबिक वन विभाग ने हथिनी अनारकली और उसके महावत राम किशन को पकड़ कर दुबग्गा वन रेंज में रखा गया है। इसके बाद मामला कोर्ट में पेश होने के बाद महावत राम किशन को न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। आरोप है कि हथिनी के मालिक के पास उसको रखने का लाइसेंस नहीं था। पुलिस और वन विभाग की टीम अब मामले की जांच की रही हैं। फिलहाल हथिनी को दूसरा महावत के पास रखा गया है।

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -