Monday, January 30, 2023
- विज्ञापन -

Latest Posts

Vijay Hazare Trophy: 36 साल के बल्लेबाज ने फाइनल में मचा दिया गदर, सौराष्ट्र को 14 साल बाद ट्रॉफी दिलाकर मैदान से लौटा

Vijay Hazare Trophy: महाराष्ट्र के 248 रनों के लक्ष्य का पीछा करने ओपनिंग पर उतरे Sheldon Jackson ने हाहाकार मचा दिया।

नई दिल्ली: विजय हजारे ट्रॉफी 2022 का फाइनल मुकाबला महाराष्ट्र-सौराष्ट्र के बीच खेला गया। शुक्रवार को खेले गए फाइनल मैच में सौराष्ट्र के 36 साल के बल्लेबाज ने मैच जिताऊ पारी खेलकर क्रिकेट के गलियारों में कोहराम मचा दिया। हम बात कर रहे हैं सौराष्ट्र के बल्लेबाज शेल्डन जैक्सन की। महाराष्ट्र के 248 रनों के लक्ष्य का पीछा करने ओपनिंग पर उतरे शेल्डन जैक्सन ने हाहाकार मचा दिया। उन्होंने ताबड़तोड़ शतक ठोका और अपनी टीम को 14 साल बाद ट्रॉफी दिलाकर मैदान पर लौटे।

महाराष्ट्र के मंसूबों पर फिरा पानी

शेल्डन ने 116 गेंदों में सेंचुरी ठोक महाराष्ट्र के मंसूबों पर पानी फेर दिया। इस दौरान उन्होंने 10 चौके-3 छक्के कूट डाले। शेल्डन लास्ट तक बल्लेबाजी करते रहे। उन्होंने 136 गेंदों में 12 चौके-5 छक्के ठोक अपनी टीम को 5 विकेट से जीत दिलाई। वहीं विकेटकीपर हार्विक देसाई ने 67 गेंदों में अर्धशतकीय पारी खेली। जबकि सातवें नंबर पर उतरे चिराग जानी ने 25 गेंदों में नाबाद 30 रन जड़े। अंतत: सौराष्ट्र को शेल्डन की शानदार पारी की बदौलत 14 साल बाद ट्रॉफी पर कब्जा जमाने का मौका मिल गया।

और पढ़िए- Asia Cup 2023: पाकिस्तान से छीनी एशिया कप की मेजबानी तो…,’ PCB चेयरमैन रमीज राजा ने दिया बड़ा बयान

मिडल ऑर्डर के ध्वस्त होने के बाद उठाई जिम्मेदारी

शेल्डन ने ऐसे समय में अपनी टीम को जीत दिलाने की जिम्मेदारी उठाई, जब टीम का मिडल ऑर्डर संघर्ष कर रहा था। तीसरे नंबर पर उतरे बल्लेबाज जय गोहिल बिना खाता खोले ही आउट हो गए। वहीं समर्थ व्यास 12, अर्पित वसवदा 15 और प्रेरक मांकड 1 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद शेल्डन ने चिराग जानी के साथ साझेदारी जमाई और टीम को जीत के मुहाने पर ले गए।

10 मैचों में बनाए थे सिर्फ 164 रन

खास बात यह है कि शेल्डन का यह सीजन इस मैच से पहले ठीक-ठाक ही रहा था। उन्होंने इस सीजन 10 मैचों में सिर्फ 164 रन ही बनाए थे। जिसमें एक नाबाद अर्धशतक शामिल रहा। साथ ही वह दो बार डक पर आउट हो गए थे, लेकिन जिस तरह उन्होंने फाइनल में अपनी टीम के लिए योगदान दिया, उसने उन्हें सौराष्ट्र का हीरो बना दिया है। चेतेश्वर पुजारा की अनुपस्थिति में उन्हें ओपनिंग पर प्रमोट किया गया। जिसका उन्होंने बखूबी फायदा उठाया और सौराष्ट्र को विनर बना दिया। 2002 के बाद से सौराष्ट्र अब तक तीन बार फाइनल में पहुंचा है, जबकि 2007-08 के दौरान वह विनर बनी थी।

रुतुराज गायकवाड़ ने ठोका शतक, चिराग जानी ने ली हैट्रिक

महाराष्ट्र इस बार ट्रॉफी जीतने से चूक गया। महाराष्ट्र के कप्तान रुतुराज गायकवाड़ ने फाइनल में शानदार शतकीय पारी खेली। उन्होंने 131 गेंदों में 7 चौके-4 छक्के ठोक 108 रन बनाए। वहीं आजिम काजी ने 37, नौशाद शेख ने 31 और सत्यजीत बचाव ने 27 रन बनाए।

और पढ़िए-  IND vs BAN: बांग्लादेश ने वनडे सीरीज के लिए इस खिलाड़ी को बनाया कप्तान, तमीम इकबाल की लेगा जगह

वहीं सौराष्ट्र की ओर से चिराग जानी ने हैट्रिक लेकर 10 ओवर में तीन विकेट चटकाए। कप्तान जयदेव उनादकट ने 10 ओवर में 25 रन देकर 1 विकेट निकाला वहीं प्रेरक मांकड और पार्थ भुत को एक-एक विकेट मिला। महाराष्ट्र की ओर से मुकेश चौधरी और विकी ओस्तवाल दो-दो विकेट चटकाने में कामयाब रहे।

और पढ़िए-खेल से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -