Monday, September 26, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

2007 T20 WC Celebration: धोनी नहीं ये था टी 20 वर्ल्ड कप का हीरो, बनाए सबसे ज्यादा रन

पहले मैच से लेकर आखिरी तक Gautam Gambhir ही वह बल्लेबाज थे, जिन्होंने टीम इंडिया के लिए टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन ठोके।

नई दिल्ली: पहले टी 20 वर्ल्ड कप की बात हो या फिर 2011 वनडे वर्ल्ड कप की। इस पर बात हमेशा बहस रही है कि क्या किसी एक व्यक्ति को वर्ल्ड कप जीत का क्रेडिट दिया जाना चाहिए। क्या टीम एफर्ट को ही इंडिविजुअल अचीवमेंट मान लेना सही है? अब तक इस पर बहस जारी है।

अभी पढ़ें IND vs AUS T20I: टीम इंडिया के लिए बुरी खबर! मैच होगा या नहीं? जानें लेटेस्ट अपडेट

निसंदेह महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) टीम इंडिया के सफल कप्तानों में से एक रहे हैं। उनके नेतृत्व में ही टीम इंडिया ने 2007 टी 20 वर्ल्ड कप जीता था, वहीं 2011 वनडे वर्ल्ड कप में भी उनकी कप्तानी में टीम इंडिया ने जीत दर्ज की थी, लेकिन क्या आप जानते हैं कि टी 20 वर्ल्ड कप 2007 में अपने बल्ले से टीम को बड़ा योगदान किसने दिया था?

टूर्नामेंट में बनाए सबसे ज्यादा रन
इस सवाल का जवाब है गौतम गंभीर। जी हां, पहले मैच से लेकर आखिरी तक गौतम गंभीर ही वह बल्लेबाज थे, जिन्होंने टीम इंडिया के लिए टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा रन ठोके। 24 सितंबर को टीम इंडिया 2007 वर्ल्ड कप की जीत को सेलिब्रेट कर रही है। निसंदेह गंभीर टीम इंडिया की जीत के हीरो रहे थे।

उन्होंने पूरे टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करते हुए 7 मैचों की 6 ईनिंग में 227 रन बनाए। उनका औसत 37.83 और स्ट्राइक रेट 129.71 का था। उन्होंने तीन अर्धशतक भी जमाए थे। पाकिस्तान के खिलाफ फाइनल में तो गंभीर ने ऐसी धमाकेदार पारी खेली कि सब दंग रह गए। गंभीर ने ओपनिंग करते हुए 54 गेंदों में 8 चौके और 2 छक्के ठोक 138 से ज्यादा की स्ट्राइक रेट से 75 रन ठोक डाले थे। इस मुकाबले में रोहित शर्मा ने 16 गेंदों में 30 रन की नाबाद पारी खेली थी।

अभी पढ़ें ‘मतलबी हैं बाबर-रिजवान, इनसे छुटकारा मिले…’, शाहीन अफरीदी के ट्वीट ने लगाई आग!

लिस्ट में दूसरे स्थान पर
गौतम गंभीर 2007 वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा रन ठोकने वाले खिलाड़ियों की लिस्ट में दूसरे स्थान पर थे। पहले नंबर पर ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज मैथ्यू हेडन थे, जिन्होंने 6 मैचों की 6 ईनिंग में 265 रन बनाए थे। उनका औसत 88 का था। वहीं महेंद्र सिंह धोनी की बात करें तो धोनी ने 7 मैचों की 6 ईनिंग में 30 से ज्यादा की एवरेज से 150 रन बनाए थे। धोनी इस लिस्ट में 12वें नंबर पर थे। जबकि टीम इंडिया के विस्फोटक ऑलराउंडर युवराज सिंह 13वें स्थान पर थे। उन्होंने 6 मैचों की 5 ईनिंग में 148 रन बनाए थे। इसमें ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सेमीफाइनल में 30 गेंदों में 70 रन की ऐतिहासिक पारी शामिल है।

आरपी सिंह ने की थी शानदार गेंदबाजी
वहीं गेंदबाजों की बात करें तो फाइनल में आरपी सिंह, जोगिंदर शर्मा, एस श्रीसंत और इरफान पठान ने शानदार गेंदबाजी कर टीम इंडिया को जीत दिलाई। आरपी सिंह ने 3, इरफान पठान ने 3, जोगिंदर शर्मा ने 2 और श्रीसंत ने एक विकेट चटकाया था। टूर्नामेंट में भारत के लिए सबसे ज्यादा विकेट आरपी सिंह ने लिए थे। उन्होंने 7 मैचों में 12 विकेट चटकाए। जिसमें 13 रन देकर 4 विकेट का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन शामिल है।

अभी पढ़ें – खेल से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -