Saturday, 24 February, 2024

---विज्ञापन---

राहुल गांधी को स्मृति ईरानी का जवाब, बोलीं- मणिपुर खंडित नहीं, मेरे देश का अंग है

Parliament No-confidence motion: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गुरुवार को अविश्वास प्रस्ताव के दूसरे दिन संसद को संबोधित किया। राहुल गांधी ने मणिपुर पर मोदी सरकार को घेरा। इस दौरान लोकसभा में भारी हंगामा हुआ। केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने उनसे माफी की मांग की। लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर बहस के दौरान बोलते हुए […]

Edited By : Nitin Arora | Updated: Aug 9, 2023 13:25
Share :
smriti irani

Parliament No-confidence motion: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने गुरुवार को अविश्वास प्रस्ताव के दूसरे दिन संसद को संबोधित किया। राहुल गांधी ने मणिपुर पर मोदी सरकार को घेरा। इस दौरान लोकसभा में भारी हंगामा हुआ। केंद्रीय मंत्री किरण रिजिजू ने उनसे माफी की मांग की। लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर बहस के दौरान बोलते हुए राहुल गांधी ने कहा, ‘भारत एक आवाज है, जिसे सुनने के लिए हमें अपने अहंकार को, नफरत को मिटाना पड़ेगा।’ वहीं, मणिपुर मुद्दे पर राहुल गांधी के भाषण के बाद बीजेपी सांसद स्मृति ईरानी ने सदन में बोलना शुरू किया और कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधा।

सदन में राहुल गांधी के भाषण के बाद ‘राहुल, राहुल’ के नारे के जवाब में ‘मोदी, मोदी’ के नारे लगे। इस बीच स्मृति ईरानी ने कहा, ‘आप (कांग्रेस) I.N.D.I.A नहीं हैं क्योंकि आप INDIA में भ्रष्टाचार को डिफाइन करते हैं, आप INDIA में अक्षमता को डिफाइन करते हैं।’

मणिपुर पर कही ये बात

स्मृति ईरानी ने कहा, ‘पहली बार भारत मां की हत्या की बात की गई है और कांग्रेस पार्टी इसपर तालियां बजाती रही। यहां आज एक हिंदुस्तानी होने के नाते कहती हूं कि मणिपुर खंडित नहीं है, विभाजित नहीं है, मेरे देश का अंग है।’ बता दें कि राहुल गांधी ने अपने भाषण में कहा था, ‘भारत एक आवाज है, भारत हमारी जनता की आवाज है, दिल की आवाज है। उस आवाज की हत्या आपने (केंद्र सरकार) मणिपुर में की। इसका मतलब भारत माता की हत्या आपने मणिपुर में की…आपने मणिपुर के लोगों को मारकर आपने भारत की हत्या की है।’

 

स्मृति ईरानी का कहना है, ‘संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बार-बार कहा कि सरकार मणिपुर मुद्दे पर बहस के लिए तैयार है। विपक्ष इससे भाग गया, हम नहीं गए।’

कश्मीरी पंडितों को न्याय में देरी

सांसद स्मृति ईरानी ने कांग्रेस पर तीखा हमला बोलते हुए कहा कि कश्मीरी पंडित आज भी 90 के दशक में अपने ऊपर हुए अत्याचारों के लिए न्याय का इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘मुझे बताइए कि गिरिजा टिक्कू और सरला बट्ट को कब इंसाफ मिलेगा? तब वहां यह नारा दिया जाता था कि या तो धर्म बदलो, या कश्मीर छोड़ो या यहीं मरो।’

ईरानी ने आग कहा…’आज सदन में बताया गया कि उन्होंने (राहुल गांधी) यात्रा की और आश्वासन दिया कि अगर उनका बस चले तो वे अनुच्छेद 370 को फिर से बहाल करेंगे…मैं चाहूंगी सदन से भागे हुए व्यक्ति को बताएं कि न तो देश में धारा 370 बहाल होगी और न ही कश्मीरी पंडितों को ‘Ralib Galib Chalib’ से धमकाने वालों को बख्शा जाएगा।’

इन मुद्दे पर भी भाजपा ने कांग्रेस को घेरा

स्मृति ईरानी ने 1984 के सिख विरोधी दंगों और कश्मीर में अशांति के मुद्दे उठाए जब देश में कांग्रेस का शासन था। उन्होंने आगे कहा, ‘राजस्थान में महिलाओं के साथ बलात्कार हो रहे हैं। भीलवाड़ा इसका ताजा उदाहरण है। लड़की के साथ बलात्कार किया गया, उसके शरीर को काट दिया गया और कुछ हिस्सों को भट्टी में फेंक दिया गया। यह सब 14 साल की लड़की के साथ हुआ। पश्चिम बंगाल में भी महिलाओं पर अत्याचार हो रहे हैं। लेकिन उस पर कुछ नहीं कहा गया।’

First published on: Aug 09, 2023 01:08 PM
संबंधित खबरें