Wednesday, 28 February, 2024

---विज्ञापन---

तीन राज्यों में BJP की जीत के बाद विरोधी पार्टियां उठा रही EVM पर सवाल; मांग-बैलट पेपर से हों चुनाव

Political Reaction On Election Results : विधानसभा चुनाव के नतीजे सामने आने के बाद हमेशा की तरह अब फिर मशीन (EVM) पर आरोप लगने लग गए हैं। विभिन्न पार्टियों का कहना है कि यह भाजपा की जीत नहीं, बल्कि EVM की जीत है।

Edited By : Balraj Singh | Dec 6, 2023 10:30
Share :

इंद्रजीत सिंह/ भोपाल

देश के पांच राज्यों में हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में से तीन राज्यों मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में भारतीय जनता पार्टी (BJP) की जीत के बाद तमाम विरोधी पार्टियों की तरफ से EVM पर सवाल उठाए जाने का दौर शुरू हो चुका है। शिवसेना उद्धव ठाकरे गुट ने मुखपत्र सामना के जरिये सवाल उठाया है, वहीं कांग्रेस नेताओं दिग्विजय सिंह, कमलनाथ, शिवसेना नेता संजय राऊत और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने ही अंदाज में सवाल उठाए हैं। इसी बीच खबर है कि दिल्ली में 6 दिसंबर को होने वाली इंडिया गठबंधन की बैठक टल गई है।

कांग्रेस नेताओं ने उठाए सवाल

वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह का कहना है कि वह 2003 से ही EVM के जरिए मतदान का विरोध करते आ रहे हैं। चिप वाली किसी भी मशीन को हैक किया जा सकता है। क्या लोकतंत्र को हैकरों को नियंत्रित करने की अनुमति दे सकते हैं? ये मौलिक सवाल है और इसका समाधान सभी दलों को करना होगा। सवाल यह भी है कि EC, SC क्या आप कृपया हमारे भारतीय लोकतंत्र की रक्षा करेंगे?

News24 Whatsapp Channel

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की मानें तो कुछ विधायकों ने उनसे कहा कि उन्हें उनके गांव में ही 50 वोट मिले हैं। ये कैसे हो सकता है? एग्जिट पोल तो माहौल बनाने के लिए था। हार पर मंथन, मिशन 24 पर चिंतन-मनन, नेता प्रतिपक्ष कौन होगा, ये सब फैसले हाईकमान करेगा।

यह भी पढ़ें : जीते तीनों राज्यों में 2 डिप्टी सीएम का फॉर्मूला लगा सकती है भाजपा… कुछ ऐसी चल रही है पार्टी की प्लानिंग

शिवसेना नेता संजय राऊत बोले-मोदी को लोकतंत्र बचाने की गारंटी देनी चाहिए

शिवसेना नेता संजय राऊत की मानें तो ये EVM की जीत है, ये EVM का जनादेश है। उनके अनुसार जनता की मांग है कि एक बार बैलेट से चुनाव हो। प्रधानमंत्री मोदी को लोकतंत्र बचाने की गारंटी देनी चाहिए। ईवीएम का मूड मतलब जनता का मूड नहीं है। बीजेपी ने जीत का जश्न मनाते हुए कहा था कि मोदी की गारंटी पर जनता ने मुहर लगाई है और राहुल गांधी की मोहब्बत की दुकान नहीं चली, लेकिन मोदी जी ने तो बहुत सी गारंटी दी किसानों की आय दोगुनी करने की गारंटी, लोगों के खाते में 15लाख जमा करने की गारंटी और हर साल 2 करोड़ लोगों को नौकरी की गारंटी इस गारंटी का क्या हुआ?

यह भी पढ़ें: गोगामेड़ी हत्याकांड पर सियासत शुरू, भाजपा का आरोप- सीएम ने घटाई सुरक्षा, हार का बदला ले रही कांग्रेस

अखिलेश यादव का सवाल-पता नहीं किस बात की जल्दी है चुनाव आयोग को?

इसी तरह समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सवाल उठाया कि जब अमेरिका-जापान में बैलट पेपर व्यवस्था है। अगर एक महीना वोट पड़ता है, काउंटिंग भी एक महीने में होती है तो फिर भारत में क्यों नहीं? समय लेकर काउंटिंग करें, तुरंत नहीं। आखिर किस बात की जल्दी रहती है भाई?

जानें कौन हैं DMK सांसद सेंथिल कुमार, जिन्होंने संसद में गौमूत्र वाले बयान देकर मचा दी खलबली

First published on: Dec 06, 2023 10:30 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें