Monday, November 28, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

ओवैसी ने भागवत पर लगाया ‘डराने’ का आरोप, पूछा- जब हिंदू-मुसलमानों का DNA एक तो असंतुलन कहां है

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि यदि हिंदुओं और मुसलमानों का एक ही डीएनए है, तो असंतुलन' कहां है? जनसंख्या नियंत्रण की कोई आवश्यकता नहीं है।

नई दिल्ली: AIMIM सुप्रीमो असदुद्दीन ओवैसी ने बुधवार को RSS प्रमुख मोहन भागवत पर अपनी दशहरा रैली के दौरान भारत में ‘जनसंख्या असंतुलन’ को लेकर डरने का आरोप लगाया। ओवैसी ने ट्वीट कर कहा कि इस तरह की बयानबाजी के परिणामस्वरूप दुनिया भर में नरसंहार और घृणा अपराध हुए हैं।

अभी पढ़ें RSS की विजयादशमी: पहली बार महिला चीफ गेस्ट, मंदिर, महिला सशक्तिकरण और जनसंख्या नीति पर बोले संघ प्रमुख मोहन भागवत

अवैसी ने  कहा कि उदाहरण के लिए सर्बियाई राष्ट्रवादियों की ओर से अल्बानियाई मुसलमानों के नरसंहार के बाद कोसोवो बनाया गया था। हैदराबाद के सांसद ने जोर देकर कहा कि जनसंख्या नियंत्रण कानून की कोई आवश्यकता नहीं है क्योंकि भारत की कुल प्रजनन दर में काफी गिरावट आई है।

असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि यदि हिंदुओं और मुसलमानों का एक ही डीएनए है, तो असंतुलन’ कहां है? जनसंख्या नियंत्रण की कोई आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि चिंता बढ़ती आबादी और बेरोजगार युवाओं की है। उन्होंने ये भी कहा कि मुसलमानों में प्रजनन दर में सबसे तेज गिरावट आई है।

इससे पहले मोहन भागवत ने भारत के जनसंख्या विस्फोट के दुष्परिणामों के बारे में बात करते हुए एक समग्र जनसंख्या नीति की आवश्यकता पर बल दिया जो सभी पर लागू हो। उन्होंने कहा कि कुछ लोग कहते हैं कि जब तक हम अपनी जनसंख्या कम नहीं करते तब तक कुछ नहीं हो सकता। यह कथन पूरी तरह से सत्य नहीं है। यह सच है कि जितनी अधिक जनसंख्या, उतना अधिक बोझ। हमारे पास एक बड़ी आबादी है। इसे एक बोझ के रूप में वर्णित किया जा सकता है।

अभी पढ़ें तेलंगाना के CM चंद्रशेखर राव का ‘मिशन 2024’, भारत राष्ट्र समिति के नाम से बनाई राष्ट्रीय पार्टी

जनसंख्या असंतुलन के बारे में आशंका व्यक्त करते हुए भागवत ने कहा कि 50 साल पहले जनसंख्या असंतुलन के कारण हमें गंभीर परिणाम भुगतने पड़े थे। ऐसा नहीं है कि हमें केवल परिणामों का सामना करना पड़ा। बढ़ती जनसंख्या के कारण पूर्वी तिमोर नाम के एक नए देश का गठन किया गया था। दक्षिण सूडान नाम के एक नए देश का गठन किया गया था। कोसोवो का गठन किया गया था। विभिन्न समुदायों की आबादी में अंतर के कारण नए देशों का गठन किया गया था। देशों को विभाजित किया गया था।

अभी पढ़ें   देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -