Thursday, October 6, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Stray Dog Menace: केरल में आवारा कुत्तों का आतंक, इस साल अब तक रेबीज से 21 लोगों की मौत

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने लोगों से राज्य में आवारा कुत्तों से निपटने के लिए हिंसक उपायों का सहारा नहीं लेने का आग्रह किया है।

Stray Dog Menace: केरल आवारा कुत्तों के आतंक से जूझ रहा है। राज्य में इस साल अब तक रेबीज से 21 लोगों की मौत हो चुकी है, जिनमें से 15 को एंटी-रेबीज वैक्सीन (IDRV) और इम्युनोग्लोबुलिन (ERIG) नहीं मिला। उधर, कुत्तों के हमलों के बाद सोशल मीडिया पर कई वीडियो और तस्वीरें वायरल हो रहीं हैं जिनमें आवारा कुत्तों को पकड़कर दर्दनाक तरीके से मारा जा रहा है।

केरल के कोट्टायम जिले में एक स्ट्रीट डॉग को लोगों ने पीट-पीटकर मार डाला। आरोप था कि इस स्ट्रीट डॉग ने कई लोगों पर हमला किया था। ये सिर्फ एक घटना नहीं है। इसके अलावा भी कई अन्य ऐसी घटनाएं हैं जिनमें आवारा कुत्तों को मौत के घाट उतार दिया गया। राज्य के कुछ इलाकों में कथित तौर पर जहर के कारण एक दर्जन से अधिक आवारा कुत्ते मृत पाए गए थे।

अभी पढ़ें Chandigarh University: जांच के लिए SIT गठित, महिला अधिकारी भी टीम में होंगी शामिल

 

सोशल मीडिया पर छिड़ी बहस

लोगों पर स्ट्रीट डॉग के हमलों के बाद उन्हें जान से मारने जैसे कदम पर सोशल मीडिया पर बहस भी छिड़ गई है। उधर, स्ट्रीट डॉग का खौफ इतना है कि पिछले दिनों मीडिया में एक खबर आई थी कि केरल का एक आदमी समीर बच्चों को स्कूल ले जाने के दौरान एयर गन साथ रखता है ताकि अगर स्ट्रीट डॉग्स उनपर हमला करे तो वह रक्षा कर सके।

इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल है। बंदूक लेकर बच्चों के सामने चलते हुए समीर को कहते हुए देखा और सुना जा सकता है कि अगर कोई आवारा कुत्ता हमला करता है तो वह उसे गोली मार देगा।

आवारा कुत्तों की वजह से डरे बच्चे

समाचार एजेंसी पीटीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार, बाद में उन्होंने एक टेलीविजन चैनल से कहा कि एक पिता के रूप में अपने बच्चों की सुरक्षा सुनिश्चित करना उनकी जिम्मेदारी है। समीर ने बताया कि आवारा कुत्तों के डर से बच्चों ने स्कूल जाना बंद कर दिया था।

समीर ने बताया कि एक मदरसे के छात्र को आवारा कुत्ते ने काट लिया था जिसके बाद से यहां के बच्चे मदरसा जाने से डरते थे। इसलिए, मैंने उन्हें सुरक्षा देने का फैसला किया। उन्होंने कहा कि उनके बेटे ने वीडियो शूट किया और इसे सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया।

मेयर बीना फिलिप ने दी ये प्रतिक्रिया

इस बीच कोझीकोड की मेयर बीना फिलिप ने पहले आवारा कुत्तों की लोगों द्वारा सामूहिक हत्याओं का विरोध किया था, लेकिन बाद में उन्हें अपना रुख बदलने के लिए मजबूर होना पड़ा। उन्होंने कहा कि लोगों को अपनी और बच्चों की रक्षा के लिए ऐसा कदम उठाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।

मेयर ने एक टीवी चैनल से बात करते हुए बताया कि जब हमारे अपने बच्चों पर कुत्तों द्वारा हमला किया जाता है और उसके बाद अगर लोग स्ट्रीट डॉग्स के खिलाफ कदम उठाते हैं तो इसके लिए लोगों को दोषी नहीं ठहराया जा सकता है। मेयर ने कहा कि मैं कुत्तों को मारने के पक्ष में नहीं हूं और न ही इसे सही ठहराऊंगी, लेकिन मौजूदा स्थिति में मैं लोगों को भी दोष नहीं दे सकती। उन्होंने कहा कि अगर कुत्ते के काटने के इतने मामले नहीं होते तो शायद मानवीय दृष्टिकोण पर विचार किया जा सकता था।

अभी पढ़ें 20 सितंबर को खुलेगा श्रीनगर का पहला मल्टीप्लेक्स, पहले दिन दिखाई जा सकती है ये फिल्म

केरल सरकार ने क्या कहा

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने लोगों से राज्य में आवारा कुत्तों से निपटने के लिए हिंसक उपायों का सहारा नहीं लेने का आग्रह करते हुए कहा कि सड़कों पर कुत्तों को पीटने, जहर देने से समस्या का समाधान नहीं होगा। सीएम विजयन ने कहा, “इस तरह के कृत्यों में लोगों का शामिल होना अस्वीकार्य है।”

इस मुद्दे से निपटने के लिए सरकार की ओर से किए जा रहे उपायों पर सीएम विजयन ने जनता से घरेलू कुत्तों को सड़कों पर नहीं छोड़ने की अपील की। उन्होंने कहा कि राज्य में पालतू कुत्तों का रजिस्ट्रेशन अनिवार्य किया जाएगा। पंचायत घरेलू कुत्तों का टीकाकरण पूरा होने के तीन दिन के भीतर रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र उपलब्ध कराएगी।

विजयन ने कहा कि राज्य के अधिकांश स्थानीय सरकारी निकायों में आवारा कुत्तों के लिए टीकाकरण अभियान पहले ही शुरू हो चुका है। टीका अभियान 20 अक्टूबर तक चलेगा।

अभी पढ़ें   देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -