---विज्ञापन---

Kerala के गर्वनर भड़के, बीच सड़क बैठे; बोले- PM मोदी को फोन मिलाओ, अमित शाह से बात कराओ

Kerala Governor SFI Volunteers Controversy: केरल के राज्यपाल और मुख्यमंत्री के बीच विवाद गहराता जा रहा है। इसमें अब SFI भी कूद गई है।

Edited By : Khushbu Goyal | Updated: Feb 26, 2024 17:31
Share :
Kerala Governor Arif Mohammad Khan
सड़क किनारे कुर्सी पर बैठकर अपना विरोध जताते केरल के गवर्नर आरिफ मोहम्मद खान।

Kerala Republic Day Reception Controversy: केरल के राज्यपाल और SFI कार्यकर्ता फिर आमने-सामने हैं। राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने काले झंडे दिखाए जाने से भड़क गए और कोल्लम में बीच सड़क कुर्सी लगाकर बैठ गए। वे SFI कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि मैं यहां से नहीं जाऊंगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को फोन मिलाओ। गृह मंत्री अमित शाह से बात कराओ। उनके बात होने के बाद ही वे हटेंगे। जैसे-तैसे उन्हें समझा बुझाकर सड़क किनारे बैठाकर ट्रैफिक बहाल कराया, लेकिन वे अपनी बात पर अड़े हैं। पुलिस-अधिकारी मौके पर मौजूद हैं।

 

क्या है मामला?

गवर्नर के विरोध प्रदर्शन का वीडियो सामने आया है, जिसमें वे गुस्सा करते नजर आ रहे हैं। दरअसल, सत्तारूढ़ CPI (M) की स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन SFI (स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया) के कार्यकर्ताओं ने केरल के गवर्नर आरिफ मोहम्मद खान केरल को शनिवार सुबह काले झंडे दिखाए।

इससे वे नाराज हो गए और MC रोड पर उन्होंने अपना काफिला रुकवा दिया। वे पहले बीच सड़क बैठ गए। पुलिस अधिकारियों ने समझाया तो वे चाय की दुकान के बाहर कुर्सी लगाकर बैठ गए और कहा कि मैं यहां से नहीं हटूंगा। पुलिस SFI का साथ दे रही है। कानून तोड़ रही है। SFI के वर्कर्स अपराधी हैं।

 

SFI नेताओं के खिलाफ FIR हुई तो वर्कर्स भड़के

गवर्नर खान के विरोध प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस ने मामले में कार्रवाई करते हुए 13 SFI कार्यकर्ताओं के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। इससे छात्र नेता भड़क गए और उन्होंने कहा कि अभी तो हम धरना नारेबाजी कर रहे थे। अब सरकार को दिखाएंगे कि विरोध की ताकत क्या होती है? अब SFI कतई समझौता करने के मूड में नहीं।

क्या है विवाद की असली जड़?

दरअसल, राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने केरल विश्वविद्यालय सीनेट के लिए 4 स्टूडेंट्स को अपॉइंट किया, लेकिन केरल सरकार ने आरोप लगाया कि नियुक्त किए गए छात्र RSS से जुड़े हैं। उनकी विधारधारा RSS वाली है। इसका विरोध जताते हुए सत्तारुढ़ CPI (M) की स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन SFI ने दिसंबर 2023 से विरोध प्रदर्शन कर रहा है।

इस बीच 12 दिसंबर 2023 को गवर्नर आरिफ SFI पर उन पर हमला करने का आरोप लगाया और दावा किया कि प्रदेश के CM पिनराई विजयन ने उन पर हमला कराया है। CM काफी बेशर्म हैं। इसके बाद विवाद गहरा गया।

First published on: Jan 27, 2024 02:56 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें