Friday, 23 February, 2024

---विज्ञापन---

Ambedkar Jayanti 2023: राष्ट्रपति मुर्मू, पीएम मोदी ने डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर को किया याद, देशवासियों को दी बधाई

Ambedkar Jayanti 2023: राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे समेत तमाम नेताओं ने शुक्रवार को डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर को उनकी जयंती पर याद किया। दिल्ली में संसद भवन लॉन में डॉ बीआर अंबेडकर की 133 वीं जयंती समारोह के अवसर पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें पूर्व राष्ट्रपति […]

Edited By : Om Pratap | Updated: Apr 14, 2023 12:00
Share :
ambedkar jayanti 2023, ambedkar statue in hyderabad, ambedkar jayanti interesting facts

Ambedkar Jayanti 2023: राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे समेत तमाम नेताओं ने शुक्रवार को डॉक्टर भीमराव अम्बेडकर को उनकी जयंती पर याद किया। दिल्ली में संसद भवन लॉन में डॉ बीआर अंबेडकर की 133 वीं जयंती समारोह के अवसर पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें पूर्व राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, एनसीपी प्रमुख शरद पवार और अन्य नेताओं ने भाग लिया।

लखनऊ में बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने आज डॉ भीम राव अम्बेडकर की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। उधर, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने दलित आइकन और संविधान के जनक बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर की जयंती के अवसर पर बधाई दी।

और पढ़िए – Ambedkar Jayanti 2023: मायावती ने डॉक्टर अंबेडकर को दी श्रद्धांजलि, बोलीं- उनका जीवन संघर्ष गरीबों-मजदूरों के लिए उम्मीद की किरण

द्रौपदी मुर्मू ने ट्विटर पर कहा कि मैं हमारे संविधान के निर्माता बाबासाहेब भीमराव रावजी अम्बेडकर की जयंती के अवसर पर सभी देशवासियों को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं देती हूं। उन्होंने कहा कि ज्ञान और कौतुक के प्रतीक, डॉ. अम्बेडकर ने प्रतिकूल परिस्थितियों में भी एक शिक्षाविद्, कानूनी विशेषज्ञ, अर्थशास्त्री, राजनीतिज्ञ और समाज सुधारक के रूप में अथक रूप से काम किया और राष्ट्र के कल्याण के लिए ज्ञान का प्रसार किया। उनका मूल मंत्र – शिक्षित, संगठित और वंचित समुदाय को समाज की मुख्यधारा में लाने का संघर्ष हमेशा प्रासंगिक रहेगा।

द्रौपदी मुर्मू ने कहा कि अम्बेडकर का कानून के शासन में अटूट विश्वास और सामाजिक और आर्थिक समानता के प्रति प्रतिबद्धता भारत के लोकतंत्र की रीढ़ है। उन्होंने कहा, “इस अवसर पर, आइए हम डॉक्टर अम्बेडकर के आदर्शों और जीवन मूल्यों को अपनाने का संकल्प लें और एक समतावादी और समृद्ध राष्ट्र और समाज बनाने के लिए आगे बढ़ते रहें।”

और पढ़िए – Bihar Dalit Leader Murder: बिहार में अम्बेडकर जयंती पर बवाल, एक दिन पहले हुई थी दलित नेता की हत्या

डॉक्टर अम्बेडकर ने सामाजिक भेदभाव के खिलाफ चलाया था अभियान

14 अप्रैल, 1891 को जन्मे, अम्बेडकर एक भारतीय न्यायविद, अर्थशास्त्री, राजनीतिज्ञ और समाज सुधारक थे, जिन्होंने सामाजिक भेदभाव के खिलाफ अभियान चलाया और महिलाओं और श्रमिकों के अधिकारों का समर्थन किया। 6 दिसंबर, 1956 को उनका निधन हो गया। 1990 में, अम्बेडकर को भारत के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार, भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

और पढ़िए – देश से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहाँ पढ़ें

First published on: Apr 14, 2023 09:19 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें