Wednesday, 28 February, 2024

---विज्ञापन---

बटर चिकन और दाल मक्खनी, दोनों सभी की फेवरेट, क्या इनके फायदे जानते हैं आप?

Butter Chicken vs Dal Makhani: दाल मक्खनी और बटर चिकन दोनों ही ऐसी डिश हैं, जिनका कोई भी नाम लेता है तो मुंह में पानी आ जाता है। आइए जानते हैं दोनों को खाने के फायदे।

Edited By : Deepti Sharma | Updated: Jan 21, 2024 10:41
Share :
Butter Chicken vs Dal Makhani
बटर चिकन बनाम दाल मखनी Image Credit: Freepik

Butter Chicken vs Dal Makhani: दाल मखनी और बटर चिकन दोनों ऐसी डिश हैं, जिन्हें हर कोई खाना पसंद करता है। बड़े-बड़े रेस्त्रां में जाकर ज्यादातर लोगों की यही ऑर्डर करते हैं। वेजिटेरियन और नॉन वेज खाने वाले लोगों की फेवरेट डिश यह दोनों हैं। वहीं इनको खाने से हेल्थ बेनिफिट्स भी कई तरह से मिलते हैं।

फैट (Fat)

बटर चिकन में कैलोरी की मात्रा काफी होती है। बटर चिकन की हर एक सर्विंग में 12 ग्राम सैचुरेटेड फैट होता है। फैट का एवरेज डेली सेवन 22 ग्राम से कम होना चाहिए।

कैलोरी (Calorie)

चिकन थोड़ा हल्का होता है, लेकिन 140 ग्राम ग्रेवी के साथ चिकन एक सर्विंग में लगभग 438 कैलोरी होती है और अगले दिन फिजिकल एक्टिविटी करके आसानी से कम कर सकते हैं।

चिकन खाने के फायदे और नुकसान जानें इस वीडियो में…

हाई प्रोटीन (High Protein)

चिकन में प्रोटीन की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। एक दिन में 175 ग्राम तक प्रोटीन ले सकते हैं। एक सर्विंग में 30 ग्राम प्रोटीन होता है, इसलिए प्रोटीन की डेली की जरुरत के आधे से ज्यादा को पूरा चिकन पूरा कर देता है।

ये भी पढ़ें- High Blood Pressure होने पर शरीर में दिखते हैं 5 साइड इफेक्ट

फाइबर और कार्ब्स (Fiber and Carbs)

बटर चिकन की एक सर्विंग में 3 ग्राम फाइबर और लगभग 14 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होता है। इसलिए बटर चिकन हमारी हेल्थ के लिए खराब नहीं है।

कार्बोहाइड्रेट चिकन (Carbohydrate Chicken)

बटर चिकन की एक सर्विंग में 3 ग्राम फाइबर और लगभग 14 ग्राम कार्बोहाइड्रेट होता है। इसलिए बटर चिकन का सेवन हमारे स्वास्थ्य के लिए नुकसानदायक नहीं है।

दाल मक्खनी के फायदे

पाचन में सुधार

उड़द दाल में सोल्यूबल और इनसोल्युबल दोनों तरह के फाइबर होते हैं, जो पाचन में सुधार करते हैं और इससे जुड़ी कई समस्याओं को दूर करते हैं।

दाल मक्खनी फायदे जानें इस वीडियो में… 

डायबिटीज होती है कंट्रोल

उड़द की दाल में भरपूर फाइबर होता है, जो ग्लूकोज के लेवल को कंट्रोल करता है। डायबिटीज के मरीज अपनी डाइट में उड़द दाल जरूर शामिल करें।

दिल के लिए फायदेमंद

उड़द दाल में मैग्नीशियम और फोलेट की भरपूर मात्रा पाई जाती है, जो आर्टरी ब्लॉकेज को होने से बचाती है। ब्लड सर्कुलेशन को सही करती है, जिससे दिल हेल्दी रहता है।

आयरन की कमी पूरी होती

उड़द दाल में आयरन की मात्रा भरपूर पाई जाती है, जिसमें हीमोग्लोबिन कम रहता है। इसलिए डायबिटीज के मरीजों को उड़द दाल को अपनी डाइट में शामिल करना चाहिए।

Disclaimer: उपरोक्त जानकारी पर अमल करने से पहले डॉक्टर या हेल्थ एक्सपर्ट की राय अवश्य ले लें। News24 की ओर से कोई जानकारी का दावा नहीं किया जा रहा है।

First published on: Jan 21, 2024 10:21 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें