Wednesday, November 30, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Hrithik Roshan Zomato Ad Controversy: ‘महाकाल थाली’ विवाद पर कंपनी ने मांगी माफी

बी-टाउन के सेलेब्स इन दिनों बॉयकॉट ट्रेंड का हिस्सा बनते जा रहे हैं। फिल्मों के बाद अब एक और विज्ञापन को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। इस विज्ञापन को करने वाले कोई और नहीं बल्कि बॉलीवुड के ग्रीक गॉड के नाम से मशहूर अभिनेता ऋितिक रौशन हैं।

मुंबई: बी-टाउन के सेलेब्स इन दिनों बॉयकॉट ट्रेंड का हिस्सा बनते जा रहे हैं। फिल्मों के बाद अब एक और विज्ञापन को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। इस विज्ञापन को करने वाले कोई और नहीं बल्कि बॉलीवुड के ग्रीक गॉड के नाम से मशहूर अभिनेता ऋितिक रौशन हैं। रविवार को ट्विटर पर ‘बॉयकॉट जोमैटो’ ट्रेंड करने लगा। ये सब उज्जैन के महाकाल मंदिर के दो पुजारियों द्वारा ऑनलाइन फूड डिलीवरी फर्म द्वारा ऋतिक रोशन के विज्ञापन को वापस लेने की मांग के बाद शुरू हुआ।

मंदिर के पुजारियों के मुताबिक इस विज्ञापन से हिंदू भावनाओं को ठेस पहुंची है। विज्ञापन में दिखाया गया है कि ऋतिक ‘महाकाल’ से खाना ‘थाली’ मंगवाते हैं। इसपर पुजारियों ने कहा कि उनका प्रसाद भक्तों को (थाली) मुफ्त दिया जाता है और ये ऐसा कुछ नहीं है जिसे फूड डिलीवरी ऐप के जरिए ऑनलाइन ऑर्डर किया जा सकता है।

ऋतिक रोशन का Zomato ad
‘मन किया, जोमैटो किया’ शीर्षक वाले विज्ञापन में, ऋतिक कहते हैं कि उन्हें उज्जैन में एक “थाली” (खाने की थाली) थाली खाने का मन हुआ, इसलिए “महाकाल” से ऑर्डर किया। बता दें, मध्यप्रदेश के उज्जैन स्थित भगवान शिव का महाकालेश्वर या महाकाल मंदिर बारह ज्योतिर्लिंगों में से एक है, जो देश भर से भक्तों को आकर्षित करता है।

पीटीआई के मुताबिक, मंदिर के पुजारी महेश और आशीष ने कहा कि जोमैटो को तुरंत विज्ञापन वापस लेना चाहिए और माफी मांगनी चाहिए। उन्होंने दावा किया कि भक्तों को एक थाली पर ‘प्रसाद’ परोसा जाता है और विज्ञापन हिंदुओं की भावनाओं को आहत करता है।

पुजारियों ने कहा कि उन्होंने उज्जैन के जिला कलेक्टर आशीष सिंह से भी संपर्क किया, जो महाकाल मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष हैं और कंपनी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है ताकि कोई भी फिर से हिंदू धर्म का मजाक न उड़ाए। आशीष ने विज्ञापन को ‘भ्रामक’ करार देते हुए कहा कि मंदिर ‘प्रसाद’ के रूप में मुफ्त भोजन देता है और इसे बेचा नहीं जाता है।

इसके तुरंत बाद ट्विटर पर ‘बॉयकॉट जोमैटो’ ट्रेंड करने लगा। विवाज देखते ही देखते बढ़ता चला गया। एक यूजर ने लिखा, ‘धर्मनिरपेक्ष भारत में हिंदू धर्म से संबंधित इस तरह का विज्ञापन करते समय Zomato को पहले सोचना चाहिए।’ दूसरे ने लिखा, @Zomato, जो मांसाहारी परोसता है, हिंदुओं के पवित्र महाकाल मंदिर की प्रसाद थाली को इस्त्री करके अपना व्यवसाय चलाना चाहता है। तो मेरे हिंदू बहादुर भाइयों को जगाओ..और जोमैटो और ऋतिक रोशन को उनकी सही जगह दिखाओ।”

हालांकि, एक ट्वीट के जवाब में, ज़ोमैटो ने स्पष्ट किया कि विज्ञापन, उज्जैन के विशिष्ट पिन कोड में चला, जिसमें ‘महाकाल रेस्तरां’ के ‘थालियों’ का संदर्भ दिया गया, न कि श्रद्धेय श्री महाकालेश्वर मंदिर का। “महाकाल रेस्तरां” उज्जैन में सबसे ज्यादा ऑर्डर किए जाने वाले रेस्टोरेंट्स में से एक है और “थाली” ‘महाकाल रेस्तरां’ में इसके मेन्यू में से एक है न कि श्रद्धेय श्री महाकालेश्वर मंदिर।” वहीं विरोध बढ़ने के बाद जोमैटो ने सभी से माफी मांगी है।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -