Sunday, December 4, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Top 5 Expert Tips: फेक वेबसाइट से साइबर अटैक का ट्रेंड, अंकुर चंद्रकांत से जानें बचने के तरीके

अब साइबर धोखेबाज लोगों को जाल में फंसाने और अकाउंट से मिनटों में पैसे निकालने के लिए रचनात्मक तरीकों का इस्तेमाल कर रहे हैं...इससे कैसे बचें?

How to avoid cyber fraud: यदि आप इंटरनेट का इस्तेमाल लगातार करते हैं, तो उपयोग कहै रते समय आपको साइबर ठगी से हर पल चौकन्ना रहने की जरूरत है। दरअसल, अब धोखेबाज लोगों को जाल में फंसाने और उनके अकाउंट से मिनटों में पैसे निकालने के लिए इजी और रचनात्मक तरीकों का इस्तेमाल कर रहे हैं। जी हां, साइबर ठग इसके लिए नकली वेबसाइट (Fake website ) का भी इस्तेमाल करने लगे हैं। इससे कैसे बचें? इस बारे में बता रहे हैं cyber security expert अंकुर चंद्रकांत।

अभी पढ़ें Samsung Galaxy A73 5G में Android 13 को किया रोल आउट, जानिए फीचर्स

इसमें कोई शक नहीं कि इंटरनेट आने के बाद दुनियाभर में काफी तेजी से बदलाव हुआ है। इंटरनेट ने हमें एक वर्चुअल दुनिया दी है, जिसमें हमारे सभी काम बहुत ही आसानी से हो रहे हैं। एक ओर इंटरनेट से बैंकिग आसान हुई है, वहीं साइबर धोखाधड़ी के केसेस में भी काफी इजाफा हुआ है। खासकर कोरोना महामारी के बाद साइबर फ्रॉड से जुड़ी घटनाओं की संख्या में इजाफा देखने को मिला है। डिजिटलीकरण और इंटरनेट के उपयोग के साथ भारत और उसके नागरिकों के लिए साइबर सुरक्षा एक बड़ी चुनौती है।

इंटरनेट की दुनिया में बड़े धोखे हैं….

इंटरनेट उपयोग करते समय आपको साइबर धोखाधड़ी से बचने के लिए बेहद सावधान रहने की जरूरत है, क्योंकि अब धोखेबाज लोगों को जाल में फंसाने और उनके अकाउंट से पैसे निकालने के लिए सरल और रचनात्मक तरीकों का इस्तेमाल कर रहे हैं। साइबर ठग इसके लिए फेक वेबसाइट का भी इस्तेमाल करते हैं। हालांकि कुछ बात का ध्यान रखा जाए तो इस प्रकार की साइबर ठगी से बचा जा सकता है। इस रिपोर्ट में हम आपको फेक वेबसाइट को पहचानने के पांच आसान तरीके बताएंगे, जिन्हें फॉलो करने पर साइबर ठगी की संभावना काफी कम हो जाएगी।

अभी पढ़ें Samsung Galaxy S23 Ultra में मिलेगा जबरदस्त कैमरा, सामने आई डिटेल्स

कैसे पता करें कि ये फेक वेबसाइट है?

  1. सर्च इंजन में वेबसाइट का एड्रेस टाइप करें और रिजल्ट का रिव्यू करें। वेबसाइट के एड्रेस में ही कई तरह की महत्वपूर्ण जानकारी होती है, ब्राउज करने, खरीदने, रजिस्ट्रेशन करने से पहले हमेशा यूआरएल की जांच करें।
  2. वेबसाइट के कनेक्शन टाइप को देखें और सुनिश्चित करें वेबसाइट का HTTPS लिखा है कि नहीं, क्योंकि वेबसाइट HTTPS पर सुरक्षित रूप से कनेक्ट होती है, HTTP पर नहीं।
  3. वेबसाइट सर्टिफिकेशन और ट्रस्ट सील को वेरिफाई करें। इसकी वैधता की पुष्टि करने के लिए हमेशा SSL सर्टिफिकेशन को चेक करें। ट्रस्ट सील आमतौर पर होमपेज, लॉगिन पेज और चेकआउट पेज पर लगाए जाते हैं।
  4. यदि आपको वेबसाइट पर खराब अंग्रेजी के साथ गलत वर्तनी और गलत स्पेलिंग दिखती है, तो यह फेक वेबसाइट हो सकती है। आमतौर पर खराब व्याकरण, या अजीब वाक्यांश होने पर साइट की वास्तविकता पर सवाल उठता है।
  5. यदि आपको वेबसाइट पर आक्रामक विज्ञापन दिखते हैं तो सावधान रहें। आप जिस साइट पर हैं, वहां आश्चर्यजनक रूप से बड़ी संख्या में विज्ञापन दिखाई दे रहे हैं तो इस प्रकार की वेबसाइट को तुरंत बंद कर दें। इस प्रकार की वेबसाइट पर गलती से भी आपने किसी विज्ञापन पर क्लिक कर दिया तो आपको अन्य फेक साइट पर भेज दिया जाएगा, जो कि वायरस और ट्रोजन से भरी होती है। यह विश्वसनीय साइट भी नहीं है, यहां भी वायरस और ट्रोजन हो सकते हैं।

अभी पढ़ें – गैजेट्स से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -