Wednesday, 24 April, 2024

---विज्ञापन---

सड़कों के गड्ढे, गाड़ी की स्पीड, कर्मचारियों से दोस्ती; लॉरेंस बिश्नोई के गुर्गों ने तैयार किया था सलमान खान की हत्या का पूरा प्लान

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को सलमान खान की हत्या की कथित साजिश से जुड़े मामले में एक सनसनीखेज खुलासा किया है। पुलिस ने कहा है कि लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के सदस्यों ने अभिनेता के मुंबई स्थित फार्महाउस के कर्मचारियों से दोस्ती करने की कोशिश की, ताकि वे उनके आने और जाने के टाइम […]

Edited By : Pushpendra Sharma | Updated: Sep 16, 2022 11:05
Share :
lawrence bishnoi salman khan

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने गुरुवार को सलमान खान की हत्या की कथित साजिश से जुड़े मामले में एक सनसनीखेज खुलासा किया है। पुलिस ने कहा है कि लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के सदस्यों ने अभिनेता के मुंबई स्थित फार्महाउस के कर्मचारियों से दोस्ती करने की कोशिश की, ताकि वे उनके आने और जाने के टाइम के बारे में पता लगा सकें।

विशेष पुलिस आयुक्त, दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ एचजीएस धालीवाल ने कहा- गिरोह के सदस्यों ने सलमान के फार्महाउस के आसपास के इलाके की भी रेकी की ताकि यह पता चल सके कि गड्ढों के कारण उनके घर के अंदर और बाहर आते समय वाहन किस गति से चलेगा। शूटरों के पास पिस्टल के छोटे-छोटे कारतूस थे। उन्होंने कहा कि सिद्धू मूस वाला की हत्या से पहले गिरोह ने अभिनेता को मारने के लिए प्लान बी तैयार किया था।

अभी पढ़ें Urvashi Rautela का इंडियन अवतार सोशल मीडिया पर वायरल, सादगी से लूट रहीं लाइम लाइट

खुद को बताया फैन
एएनआई से बात करते हुए, अधिकारी ने कहा, “उन्होंने सलमान खान के फार्महाउस का जायजा लिया, सड़क का उपयोग देखा, सड़कों पर गड्ढों के कारण वाहन के अंदर और बाहर जाने की गति सीमा को नोट किया। उन्होंने खुद को सलमान खान के प्रशंसकों के रूप में पेश किया। उनके घर के कर्मचारियों से मित्रता करने की कोशिश की। ताकि वे सलमान के प्रवेश और निकास के समय और उसके साथ आने वाले लोगों को जान सकें।”

फार्महाउस पर की रेकी
अपनी योजना के तहत सामने आई घटनाओं के बारे में बताते हुए धालीवाल ने कहा कि गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के गिरोह के सदस्यों ने अभिनेता के फार्महाउस की रेकी की थी और एक महीने से अधिक समय तक पास में एक कमरा किराए पर लिया था।

डेढ़ महीने तक रुके थे गुर्गे
कपिल पंडित, संतोष जाधव, सचिन विश्नोई थापन मुंबई के वेजे इलाके के पनवेल में किराए के कमरे में रहने आए थे। पनवेल में सलमान खान का एक फार्महाउस है, इसलिए उसी फार्महाउस के रास्ते में लॉरेंस के शूटरों ने एक कमरा किराए पर लिया था और यहां करीब डेढ़ महीने तक रुके थे। बिश्नोई के निर्देश के बाद कपिल पंडित, संतोष जाधव और सचिन बिश्नोई ने रेकी की, लेकिन उस दौरान वे सिद्धू की हत्या पर ज्यादा काम कर रहे थे। उस आधार पर बुनियादी काम किया गया था।

अभी पढ़ें Thank God Controversy: विवादों में फंसी ‘थैंक गॉड’, रिलीज से पहले स्टार्स के खिलाफ मामला दर्ज

कपिल पंडित गोल्डी-बिश्नोई गिरोह का शार्पशूटर
कपिल पंडित गोल्डी-बिश्नोई गिरोह का शार्पशूटर था और हाल ही में उसे भारत-पाक सीमा से दिल्ली पुलिस और पंजाब पुलिस की स्पेशल सेल के संयुक्त अभियान में गिरफ्तार किया गया था। गौरतलब है कि सलमान खान को मारने की साजिश का खुलासा 2018 में हुआ था। इस बीच सलमान खान धमकी मामले की जांच क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दी गई है। मुंबई पुलिस ने कहा, “इससे पहले, बांद्रा पुलिस मामले की जांच कर रही थी। मुंबई अपराध शाखा के अधिकारियों के इस मामले में गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ के लिए दिल्ली जाने की उम्मीद है।”

अभी पढ़ें – मनोरंजन  से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें 

Click Here – News 24 APP अभी download करें

First published on: Sep 15, 2022 10:51 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें