Saturday, 20 April, 2024

---विज्ञापन---

Vande Bharat Train: वंदे भारत ट्रेन में होंगे ये 25 बदलाव, यात्रियों को मिलेगा फायदा!

Vande Bharat Train: रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने शनिवार को घोषणा की कि वंदे भारत एक्सप्रेस का नया रंग भगवा होगा, जो भारतीय राष्ट्रीय ध्वज से प्रेरित है। चेन्नई में इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (ICF) की समीक्षा बैठक के दौरान नए रंग का खुलासा किया गया। वैष्णव ने कहा कि नया रंग वंदे भारत एक्सप्रेस के […]

Edited By : Nitin Arora | Updated: Jul 10, 2023 12:48
Share :

Vande Bharat Train: रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने शनिवार को घोषणा की कि वंदे भारत एक्सप्रेस का नया रंग भगवा होगा, जो भारतीय राष्ट्रीय ध्वज से प्रेरित है। चेन्नई में इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (ICF) की समीक्षा बैठक के दौरान नए रंग का खुलासा किया गया। वैष्णव ने कहा कि नया रंग वंदे भारत एक्सप्रेस के 28वें रेक पर लागू किया जाएगा, जिसका निर्माण आईसीएफ में किया जा रहा है।

नई भगवा वंदे भारत एक्सप्रेस अभी चालू नहीं हुई है। वह आईसीएफ में खड़ी है। ट्रेन का अभी परीक्षण चल रहा है और आने वाले महीनों में इसके चालू होने की उम्मीद है।

वंदे भारत एक्सप्रेस के कुल 25 रेक अपने निर्धारित मार्गों पर परिचालन कर रहे हैं। इनमें नई दिल्ली-वाराणसी मार्ग, नई दिल्ली-कटरा मार्ग और मुंबई-अहमदाबाद मार्ग शामिल हैं। वंदे भारत एक्सप्रेस के दो रेक भविष्य में चलने के लिए आरक्षित हैं। समाचार एजेंसी एएनआई ने रेलवे अधिकारियों के हवाले से कहा, ‘इस 28वें रेक का रंग परीक्षण के आधार पर बदला जा रहा है।’

ट्रेन में हुए 25 सुधार

वैष्णव ने कहा कि वंदे भारत ट्रेनों में 25 सुधार किए गए हैं। अश्विनी वैष्णव ने प्रेस वार्ता में कहा, ‘यह मेक इन इंडिया की अवधारणा है, जिसका अर्थ है, भारत में हमारे अपने इंजीनियरों और तकनीशियनों द्वारा डिजाइन किया गया है। इसलिए वंदे भारत के संचालन के दौरान एसी, शौचालय आदि के संबंध में फील्ड इकाइयों से हमें जो भी फीडबैक मिल रहा है, उन सभी सुधारों का उपयोग डिजाइन में बदलाव करने के लिए किया जा रहा है।

मंत्री ने वंदे भारत एक्सप्रेस के कामकाज की भी समीक्षा की। समीक्षा के दौरान, उन्होंने एक नई सुरक्षा सुविधा पर चर्चा की जिसे ‘एंटी-क्लाइंबर्स’ या एंटी-क्लाइंबिंग डिवाइस के रूप में जाना जाता है, जो सभी वंदे भारत और अन्य ट्रेनों में मानक बन जाएगा।

एंटी-क्लाइंबर वे उपकरण होते हैं जो लोगों को ट्रेन पर चढ़ने से रोकने के लिए ट्रेनों के किनारों पर लगाए जाते हैं। वे धातु की छड़ों या जंजीरों से बने होते हैं जो एक-दूसरे से सटी हुई होती हैं, जिससे लोगों के लिए ट्रेन पर चढ़ना मुश्किल हो जाता है।

आने वाले महीनों में सभी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों में एंटी-क्लाइंबर लगाए जाने की उम्मीद है। उम्मीद है कि इन उपकरणों से ट्रेनों की सुरक्षा में सुधार होगा और लोगों को बिना टिकट ट्रेनों में चढ़ने से रोका जा सकेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में उत्तर प्रदेश के गोरखपुर स्टेशन पर वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों के दो नए और उन्नत संस्करणों, गोरखपुर-लखनऊ और जोधपुर-साबरमती मार्गों का उद्घाटन किया। इससे देश भर में परिचालन वंदे भारत एक्सप्रेस सेवाओं की कुल संख्या 50 हो गई। वंदे भारत एक्सप्रेस एक सेमी-हाई-स्पीड ट्रेन है जिसे 2019 में लॉन्च किया गया था। यह भारत की सबसे तेज़ ट्रेन है, जिसकी टॉप स्पीड 160 किलोमीटर प्रति घंटा है।

First published on: Jul 10, 2023 12:48 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें