Wednesday, November 30, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

SBI vs HDFC Bank vs ICICI Bank: किस स्टॉक में अधिक मुनाफा देने की क्षमता है?

मुंबई: मैक्रोइकॉनॉमिक मंदी की आशंकाओं ने कहीं न कहीं बैंकिंग शेयरों को मजबूत किया है? ऐसे कयास हैं। बीएसई बैंकेक्स 2022 में अब तक बीएसई सेंसेक्स को 10 प्रतिशत अंक से हराने में कामयाब रहा है। विश्लेषकों ने उल्लेख किया कि बैंक बड़े पैमाने पर हेल्दी क्रेडिड वृद्धि को रिपोर्ट कर रहे हैं। अगस्त में कुल ऋण वृद्धि 16 प्रतिशत तक सुधरी है, जिसका नेतृत्व खुदरा और एमएसएम क्षेत्रों ने किया है। उन्होंने कहा कि त्योहारी सीजन की शुरुआत से भुगतान गतिविधियों में भी तेजी आई है।

अभी पढ़ें PM Jan Dhan Yojana: बहुत आसानी से 1.30 लाख रुपये तक का उठा सकते हैं फायदा, कमाल की है ये स्कीम

यहां बताया गया है कि एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक और एसबीआई जैसे तीन फ्रंटलाइन बैंकिंग स्टॉक एक-दूसरे के खिलाफ कैसे मजबूती दिखा रहे हैं। आइय समझते हैं…

स्टॉक प्रदर्शन

निजी ऋणदाता आईसीआईसीआई बैंक के शेयरों ने 13.4 प्रतिशत की छलांग लगाई है, जबकि एसबीआई ने 2022 में अब तक निवेशकों को 13 प्रतिशत का रिटर्न दिया है। एचडीएफसी बैंक के शेयर ने 4 फीसदी की गिरावट के साथ निवेशकों को निराश किया है। पिछले एक महीने में तीनों कर्जदाता 2.6 फीसदी तक गिरे हैं।

आम सहमति

सभी तीन बैंकिंग स्टॉक बिना किसी ‘sell’ रेटिंग के आम सहमति खरीद रहे हैं। एसबीआई के पास 32 ‘strong buy’ सिफारिशें हैं, पांच ‘buy’ और एक ‘hold’ कॉल है। यह ट्रेंडलाइन के सार्वजनिक रूप से उपलब्ध डेटा से पता चलता है।

दूसरी ओर, आईसीआईसीआई बैंक के पास 34 ‘strong buy’ सिफारिशें और पांच ‘buy’ कॉल हैं, जैसा कि ट्रेंडलाइन डेटा बताता है। सुस्त प्रदर्शन के बावजूद एचडीएफसी बैंक भी विश्लेषकों के लिए खरीदारी का सौदा है। ट्रेंडलाइन के आंकड़ों के मुताबिक, स्टॉक को 31 ‘strong buy’ रेटिंग, एक ‘buy’ और चार ‘hold’ रेटिंग मिली हैं।

विश्लेषकों का क्या कहना है

प्रभुदास लीलाधर के गौरव जानी ने कहा कि एसबीआई ऋण वृद्धि को लेकर आशावादी है, क्योंकि आर्थिक गतिविधियों में सुधार और टाइट लिक्विडिटी से उसके ऋण को समर्थन मिल सकता है। उन्होंने कहा कि संपत्ति की गुणवत्ता नियंत्रण में रह सकती है, उन्होंने कहा कि बैंक क्रेडिट लागत को 1 प्रतिशत से कम रखने का लक्ष्य बना रहा है। एनालिस्ट ने शेयर पर अपना लक्ष्य 620 रुपये से बढ़ाकर 650 रुपये कर दिया है।

नोमुरा इंडिया का मानना ​​है कि मध्यम अवधि में, एक अच्छी तरह से पूंजीकृत बैलेंस शीट, ऋण वृद्धि में सुधार और कम क्रेडिट लागत पूर्वानुमान सकारात्मक उत्प्रेरक होंगे जो बैंक शेयरों के मूल्यांकन गुणकों में सुधार देखेंगे।

अभी पढ़ें LIC Jeevan Labh Policy: 233 रुपये प्रति माह निवेश करें और बदले में पाएं 17 लाख रुपये, जानें क्या है ये स्कीम

वहीं, यदि औसत मूल्य लक्ष्य पर बात हो तो एचडीएफसी बैंक में सबसे अधिक संभावना है। ट्रेंडलाइन के अनुसार, आईसीआईसीआई बैंक में इन तीनों में से सबसे कम अपसाइड की संभावना है।

अभी पढ़ें – बिजनेस से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -