---विज्ञापन---

Aadhaar After Death: मृत्यु के बाद आधार का हो सकता है गलत इस्तेमाल! ऐसे रखें सुरक्षित

Aadhaar After Death: अगर आपके किसी करीबी की मृत्यु हो गई है और आप परेशान है कि आधार को रद्द या सरेंडर करना चाहिए या नहीं? या मृत्यु के बाद आधार का क्या होता है या फिर ये जानना चाहते हैं कि मृत व्यक्ति के आधार का कैसे गलत तरह से इस्तेमाल किया जा सकता है? तो आइए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं।

Edited By : Simran Singh | Updated: May 21, 2024 12:15
Share :
Aadhaar Card After Death
आधार कार्ड

Aadhaar After Death: क्या कभी आपने सोचा है कि किसी की मृत्यु हो जाने के बाद उसके आधार कार्ड का क्या किया जाता है? क्या कभी आपके मन में ऐसे विचार आए हैं कि मृत्यु के बाद आधार कार्ड का कोई गलत इस्तेमाल कर सकता है? मृतक के आधार कार्ड को कैसे रद्द किया जा सकता है? इस तरह के तमाम सवालों का जवाब अगर आप भी जानना चाहते हैं, तो आइए इसके बारे में जानते हैं।

बहुत जरूरी है आधार कार्ड

आज के समय में आधार कार्ड (Aadhaar Card) एक मुख्य और जरूरी दस्तावेजों में से एक है। 12 अंको के यूनिक नंबर के साथ आने वाले आधार में आपके फिंगरप्रिंट, नाम, पता आदि की जानकारियां होती है। इसके बिना कई प्राइवेट काम नहीं हो पाते हैं। जबकि, सरकारी कामों के लिए भी आधार कार्ड एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है। कई जगहों पर लिंक्ड आधार कार्ड किसी व्यक्ति के मर जाने के बाद कैसे रद्द किया जाता है? मृत व्यक्ति के आधार को सरकार के पास जमा करवाना होता है या नहीं? आइए इसके बारे में जानते हैं।

क्या मृत व्यक्ति के आधार का गलत इस्तेमाल हो सकता है?

अगर आपका भी सवाल है कि मृतक के आधार कार्ड का गलत इस्तेमाल किया जा सकता है या नहीं? तो बता दें कि इसका जवाब हां में है। दरअसल, कई ऐसे मामले देखें गए हैं जब मृत व्यक्ति के आधार का यूज करके धोखाधड़ी की गई हो। बहुत से मामलों में आधार के दुरुपयोग की जानकारी परिजनों तक भी पहुंची। इसलिए कई लोग मृतक के आधार को रद्द करवाना चाहते हैं।

ये भी पढ़ें- Aadhaar से क्या घर बैठे बदल सकते हैं तस्वीर? जानिए

क्या कैंसिल किया जा सकता है मृत व्यक्ति का आधार?

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) के अनुसार मृत व्यक्ति के आधार कार्ड को कैंसिल नहीं करवाया जा सकता है। ऐसे में साफ है कि आधार चालू रहता है। अभी तक UIDAI की ओर से आधार को रद्द करने के लिए कोई प्रावधान नहीं है। ये ही नहीं आधार का 12 अंकों वाला यूनिक नंबर किसी को अलॉट भी नहीं होता है। आधार को सरेंडर या रद्द नहीं किया जा सकता है।

कैसे रखें मृत व्यक्ति का आधार सुरक्षित?

मृत व्यक्ति के आधार कार्ड को सुरक्षित रखने के लिए बायोमेट्रिक्सब लॉक करना जरूरी है। हालांकि, ये सिर्फ मृत्यु हो जाने के बाद के लिए ही नहीं बल्कि कोई व्यक्ति आपके आधार का गलत इस्तेमाल न कर सके। इसके लिए भी जरूरी है कि आप अपने आधार का बायोमेट्रिक लॉक लगा लें।

आधार का बायोमेट्रिक लॉक कैसे लगाएं?

  1. भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण की ऑफिशियल साइट (UIDAI) पर जाएं।
  2. यहां पर भाषा का पहले चयन कर लें और फिर लॉगिन करें।
  3. आपको ‘My Aadhaar’ का ऑप्शन शो हो रहा होगा, उस पर क्लिक करें।
  4. इसके बाद ‘Aadhaar Services’ के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  5. यहां Lock/Unlock Biometrics का ऑप्शन शो होगा, उस पर क्लिक करें।
  6. अपने आधार के 12 अंकों का नंबर एंटर करने के बाद कैप्चा कोड दर्ज करें।
  7. आधार लिंक फोन नंबर पर ओटीपी भेजने के लिए Send OTP पर क्लिक करें।
  8. फोन पर आए ओटीपी को दर्ज करें और फिर Biometrics डेटा को लॉक/अनलॉक करें।

ये भी पढ़ें- 14 जून तक कर सकेंगे फ्री में आधार अपडेट

 

First published on: May 21, 2024 12:15 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें