Monday, November 28, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को किया गया हाउस अरेस्ट! BJP नेता के ट्वीट से सोशल मीडिया पर मचा तहलका

ट्विटर पर कई चीनी नागरिकों ने भी शी जिनपिंग की कथित हाउस अरेस्ट के बारे में पोस्ट किया। कई लोगों ने दावा किया कि ली कियाओमिंग को चीन का राष्ट्रपति बनाया गया है।

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (BJP) के सीनियर नेता सुब्रमण्यम स्वामी के एक ट्वीट से सोशल मीडिया पर तहलका मच गया। सुब्रमण्यम स्वामी ने शनिवार को ट्वीट कर कहा कि चीन को लेकर एक नई अफवाह है, जिसकी जांच की जाएगी। क्या शी जिनपिंग नजरबंद हैं?

स्वामी ने ट्वीट में आगे लिखा कि माना जा रहा है कि जब जिनपिंग हाल ही में समरकंद में थे, तब चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के नेताओं के कहने पर जिनपिंग को सेना अध्यक्ष पद से हटा दिया था। उसके बाद अफवाह है कि उन्हें हाउस अरेस्ट किया गया है।

अभी पढ़ें तालिबान जल्द ही PUBG और TikTok पर लगाएगा प्रतिबंध, कहा- ये युवा पीढ़ी को कर रहे गुमराह

स्वामी के इस ट्वीट के अलावा सोशल मीडिया पर कई ऐसे पोस्ट हैं जिनमें दावा किया गया है कि समरकंद में शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के शिखर सम्मेलन में मौजूद चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) पीएलए के प्रमुख के पद से हटा दिया गया था। हालांकि, चीनी कम्युनिस्ट पार्टी या राज्य मीडिया की ओर से अभी तक कोई आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है।

ट्विटर पर कई चीनी नागरिकों ने भी शी जिनपिंग की कथित हाउस अरेस्ट के बारे में पोस्ट किया। कई लोगों ने दावा किया कि ली कियाओमिंग को चीन का राष्ट्रपति बनाया गया है। जेनिफर जेंग नाम के एक यूजर ने ट्वीट किया कि PLA सैन्य वाहन 22 सितंबर को बीजिंग की ओर जा रहे हैं। पूरा काफिला 80 KM तक लंबा है। अफवाह यह है कि CCP के सीनियर द्वारा जिनपिंग को PLA के प्रमुख के पद से हटाने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था।

अभी पढ़ें 42 बिलियन अमेरीकी डालर है ब्रिटिश शाही परिवार की दौलत, जानें किंग चार्ल्स के राजा बनने पर बढ़ा किसका कद

शी जिनपिंग के बारे में अचानक अफवाह क्यों?

चीन में इस हफ्ते दो पूर्व मंत्रियों को मौत की सजा और चार अधिकारियों को उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक, सजा पाने वाले मंत्री और अधिकारी एक राजनीतिक गुट का हिस्सा थे। वर्तमान में, कम्युनिस्ट पार्टी देश भर में भ्रष्टाचार विरोधी अभियान चला रही है और ऐसा माना जाता है कि ये छह लोग जिनपिंग के विरोधी थे। माना जाता है कि जिनपिंग की नजरबंदी की खबर जिनपिंग विरोधी लॉबी द्वारा शुरू और फैलाई गई थी।

हाल ही में SCO शिखर सम्मेलन में शामिल हुए थे जिनपिंग

बता दें कि चीनी राष्ट्रपति हाल ही में उज्बेकिस्तान के समरकंद में संपन्न हुए एससीओ शिखर सम्मेलन में शामिल हुए थे। सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन भी शामिल हुए थे। अगली बैठक की मेजबानी भारत करेगा।

अभी पढ़ें  दुनिया से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -