Sunday, 25 February, 2024

---विज्ञापन---

पाकिस्तान में अजीब मामला; 10 महीने की बच्ची के पेट में थे जुड़वां भ्रूण, जानें क्या बोले मासूम के पिता?

Twin Inside Baby Stomach In Pakistan: पाकिस्तान में अजीब मामला सामने आया है। 10 साल की बच्ची को पेट दर्द के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों ने जांच पड़ताल की तो उन्हें आशंका हुआ कि बच्ची के पेट में ट्यूमर है, लेकिन जब ऑपरेशन कर ‘ट्यूमर’ निकाला गया तो डॉक्टर दंग रह गए। […]

Edited By : Om Pratap | Updated: Sep 4, 2023 10:45
Share :
Twin Inside Baby Stomach In Pakistan

Twin Inside Baby Stomach In Pakistan: पाकिस्तान में अजीब मामला सामने आया है। 10 साल की बच्ची को पेट दर्द के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों ने जांच पड़ताल की तो उन्हें आशंका हुआ कि बच्ची के पेट में ट्यूमर है, लेकिन जब ऑपरेशन कर ‘ट्यूमर’ निकाला गया तो डॉक्टर दंग रह गए। दरअसल, वो ट्यूमर नहीं बल्कि जुड़वां भ्रूण था। डॉक्टरों ने कहा कि समय पर इलाज न होने से बच्ची की मौत भी हो सकती थी।

‘द सन’ की रिपोर्ट के मुताबिक, पेट के ट्यूमर को हटाने के इरादे से डॉक्टरों ने 10 महीने की बच्ची का ऑपरेशन किया था। ऑपरेशन के बाद डॉ़क्टरों के उस वक्त होश उड़ गए, जब उन्हें पता चला कि बच्ची पेट में जो दिख रहा था, वो ट्यूमर नहीं बल्कि जुड़वां भ्रूण था। मामला पाकिस्तान के सादिकाबाद शहर का है।

बाल रोग विशेषज्ञ मुश्ताक अहमद ने बताया कि दो घंटे के कठिन ऑपरेशन के बाद बच्ची के पेट से भ्रूण को निकाला गया। उन्होंने बताया कि मेडिकल में इस तरह की स्थिति को ‘वैनिशिंग ट्विन सिंड्रोम’ कहा जाता है। वहीं, बच्ची के पिता ने कहा कि जन्म के बाद से ही उनकी बेटी के पेट में दर्द रहता था। वो इलाज के लिए कई डॉक्टरों के पास गए लेकिन कोई सटीक इलाज नहीं मिला। उन्होंने कहा कि बच्ची के पेट में भ्रूण की बात सुनकर वे भी दंग हैं।

बाल रोग विशेषज्ञ ने बताया- क्या होता है वैनिशिंग ट्विन सिंड्रोम

बाल रोग विशेषज्ञ अहमद ने समझाया कि वैनिशिंग ट्विन सिंड्रोम में एक भ्रूण बच्चों के शरीर में बढ़ता रहता है। ऐसा केस 10 लाख बच्चों में से एक आता है। उन्होंने कहा कि आगे के व्यापक परीक्षण के लिए एक सैंपल लैब में भेजा गया है। उन्होंने बताया कि सिंड्रोम में एक बच्चा मां के गर्भ में जबकि दूसरा भ्रूण बच्चे के पेट में विकसित होता है।

अहमद ने बताया कि सर्जिकल प्रक्रिया काफी जटिल थी। हमारा प्राथमिक उद्देश्य बच्ची की जान बचाना था। हम भगवान का भी शुक्रिया अदा करते हैं, जिसकी वजह से बच्ची का ऑपरेशन सक्सेसफुल रहा। डॉक्टरों ने बताया कि सर्जरी के बाद बच्ची की हालत ठीक है। वो जल्द ही स्वस्थ्य हो जाएगी।

ब्रिटिश मेडिकल जर्नल की एक रिपोर्ट के अनुसार, चिकित्सा विज्ञान के इतिहास में दुनिया भर में अब तक इस तरह के 200 से भी कम मामले सामने आए हैं। इससे पहले 2017 में इंडोनेशिया में एक एक्स-रे से पता चला कि एक 10 महीने के लड़के के शरीर के अंदर जुड़वां बच्चा पल रहा था।

दो साल बाद यानी 2019 में कोलंबिया में एक छोटी लड़की को सर्जरी कराने के लिए मजबूर होना पड़ा था। उसके भी पेट के अंदर जुड़वां भ्रूण थे। 2021 में इज़राइल के अशदोद में असुता मेडिकल सेंटर में एक बच्चे में भ्रूण का मामला सामने आया था।

First published on: Sep 04, 2023 10:45 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें