Wednesday, 24 April, 2024

---विज्ञापन---

Corona In China: लीक हुए सरकारी दस्तावेजों में दावा, चीन में करीब 25 करोड़ लोग कोरोना संक्रमित

Corona In China: लीक हुए सरकारी दस्तावेजों का हवाला देते हुए रेडियो फ्री एशिया के अनुसार, दिसंबर महीने के पहले सप्ताह में ‘कोविड-नीति’ को कमजोर किए जाने के बाद सिर्फ 20 दिनों में चीन में करीब 25 करोड़ लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग की 20 मिनट की बैठक में लीक […]

Edited By : Om Pratap | Updated: Dec 26, 2022 15:15
Share :

Corona In China: लीक हुए सरकारी दस्तावेजों का हवाला देते हुए रेडियो फ्री एशिया के अनुसार, दिसंबर महीने के पहले सप्ताह में ‘कोविड-नीति’ को कमजोर किए जाने के बाद सिर्फ 20 दिनों में चीन में करीब 25 करोड़ लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं।

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग की 20 मिनट की बैठक में लीक हुए दस्तावेज के मुताबिक एक से 20 दिसंबर के बीच 24.8 करोड़ लोग कोविड-19 से संक्रमित हुए, जो चीन की आबादी का 17.65 फीसदी है।

एक सीनियर चीनी पत्रकार ने गुरुवार को रेडियो फ्री एशिया को बताया कि दस्तावेज़ वास्तविक था और बैठक में भाग लेने वाले किसी ऐसे व्यक्ति ने इसे लीक किया था। बता दें कि शनिवार को चीन में कोरोना के 3,761 नए मामले दर्ज किए जबकि मौतों की संख्या जीरो रही।

और पढ़िए –Pakistan Blast News: बलूचिस्तान में सिलसिलेवार ब्लास्ट, 5 की मौत और 10 घायल

चीन में हर दिन 5 हजार से अधिक मौत का दावा

यह रिपोर्ट ऐसे समय में आई है जब ब्रिटिश स्वास्थ्य डेटा फर्म एयरफिनिटी (Airfinity) ने कहा है कि चीन में प्रतिदिन 5,000 से अधिक मौतों के साथ संक्रमण एक दिन में दस लाख से अधिक होने की संभावना है।

एयरफिनिटी के नए मॉडलिंग ने चीन के क्षेत्रीय प्रांतों के डेटा की जांच की है। वर्तमान प्रकोप कुछ क्षेत्रों में दूसरों की तुलना में अधिक तेजी से बढ़ रहा है। बीजिंग और ग्वांगडोंग में मामले अभी बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं।

और पढ़िए-Richard Verma: जो बाइडेन ने भारतीय अमेरिकी रिचर्ड वर्मा को शीर्ष राजनयिक पद के लिए नामित किया

चीन में स्थिति और भयावह होने की आशंका

एयरफ़िनिटी मॉडल का अनुमान है कि मामले की दर जनवरी के उच्चतम स्तर पर प्रतिदिन 3.7 मिलियन और मार्च 2023 में 4.2 मिलियन प्रतिदिन तक पहुंच सकती है।

एयरफिनिटी के टीके और महामारी विज्ञान के प्रमुख डॉ लुईस ब्लेयर ने कहा कि चीन ने बड़े पैमाने पर कोरोना टेस्ट बंद कर दिया है और अब एसेप्टोमैटिक मामलों की रिपोर्ट नहीं कर रहा है। चीन ने COVID-19 मौतों को दर्ज करने के तरीके को भी बदल दिया है, केवल उन लोगों को शामिल किया है जो पॉजिटिव रिपोर्ट के बाद सांस में कमी या फिर  निमोनिया से मरते हैं।

और पढ़िए –  दुनिया से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

First published on: Dec 24, 2022 02:56 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें