Tuesday, September 27, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

हिरासत में 22 साल की अमिनी की मौत, विरोध में ईरानी महिलाओं ने काटे बाल, हिजाब जलाया

नई दिल्ली: 22 साल की महिला महसा अमिनी की मौत के बाद ईरान में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए हैं। ईरानी महिलाएं सार्वजनिक रूप से अपने हिजाब को हटाकर जला रही हैं। सुश्री अमिनी को ईरान की “नैतिकता पुलिस” ने “गलत तरीके से” हिजाब पहनने के लिए गिरफ्तार किया था क्योंकि उसने अपने बालों को पूरी तरह से ढका नहीं था।

बताया जा रहा है कि 22 साल की महसा अमिनी अपने परिवार के साथ किसी टूर पर थी। इस दौरान हिजाब न पहनने पर मंगलवार को स्थानीय पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। कहा जा रहा है कि अमिनी की पुलिस ने पिटाई की जिसके बाद वे कोमा में चली गई और शुक्रवार को उसने दम तोड़ दिया।

अभी पढ़ें पूर्वी लीसेस्टर हिंसा में गिरफ्तार लोगों की संख्या पहुंची 15

रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, 22 साल की महसा अमिनी अपने परिवार के साथ किसी टूर पर थी। इस दौरान हिजाब न पहनने पर मंगलवार को स्थानीय पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। पिटाई के बाद वे कोमा में चली गई और शुक्रवार को उनकी मृत्यु हो गई। इसके विरोध में ईरान के महिलाएं अपने बाल काट कर विरोध जता रही हैं।

सोशल मीडिया पर, प्रदर्शनकारी सरकार विरोधी नारे लगाते हुए प्रदर्शनों के कई वीडियो वायरल हुए हैं। कुछ वीडियो में ईरानी पुलिस को प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस का इस्तेमाल करते हुए देखा जा सकता है। साझा किए गए वीडियो में प्रदर्शनकारियों को तेहरान विश्वविद्यालय के पास इकट्ठा होते हुए दिखाया गया है, जो “महिला, जीवन, स्वतंत्रता” जैसे नारे लगा रहे हैं। कई महिलाओं को एक प्रतीकात्मक विरोध में अपने हिजाब को उतारते हुए देखा गया ।

ईरानी पत्रकार और कार्यकर्ता मसीह अलीनेजाद ने एक वीडियो ट्वीट किया और कहा, “हिजाब पुलिस द्वारा #Mahsa_Amini की हत्या के विरोध में ईरानी महिलाएं अपने बाल काटकर और हिजाब जलाकर अपना गुस्सा दिखाती हैं।

अभी पढ़ें अंतिम विदाई कार्यक्रम में प्रधानमंत्री लिज ट्रस ने की प्रार्थना, यीशु की इस सीख को दोहराया

बता दें कि ईरान के शरीयत या इस्लामी कानून के तहत महिलाओं को अपने बालों को ढंकने और लंबे, ढीले-ढाले कपड़े पहनने के लिए बाध्य किया जाता है। ऐसा नहीं करने पर सार्वजनिक फटकार, जुर्माना या गिरफ्तारी का सामना करना पड़ता है। लेकिन हाल के महीनों में कट्टर शासकों की कार्रवाई के बावजूद महिलाएं हिजाब के खिलाफ अपनी आवाज उठा रही हैं।

अभी पढ़ें  दुनिया से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -