---विज्ञापन---

UP News: नितिन गडकरी बोले- 2024 से पहले उत्तर प्रदेश की सड़कें अमेरिका को भी मात देंगी, ये है सरकार की योजना

UP News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में शनिवार को हुए भारतीय सड़क कांग्रेस (81st Annual Session of the Indian Roads Congress) के 81वें वार्षिक सत्र का उद्घाटन हुआ। इस दौरान केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Union Road Transport & Highways Minister Nitin Gadkari) ने […]

Edited By : Naresh Chaudhary | Updated: Oct 9, 2022 15:42
Share :
Nitin Gadkari, Petrol, Diesel,
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी

UP News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की राजधानी लखनऊ (Lucknow) के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में शनिवार को हुए भारतीय सड़क कांग्रेस (81st Annual Session of the Indian Roads Congress) के 81वें वार्षिक सत्र का उद्घाटन हुआ। इस दौरान केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Union Road Transport & Highways Minister Nitin Gadkari) ने उत्तर प्रदेश के लिए 8,000 करोड़ रुपये की परियोजनाओं की घोषणा की। साथ ही उन्होंने कहा कि वर्ष 2024 से पहले उत्तर प्रदेश की सड़कों को अमेरिका से बेहतर बनाना है।

उन्होंने कहा कि इसके लिए मोदी सरकार आने वाले दिनों में यूपी के लिए 5 लाख करोड़ रुपये मंजूर करने जा रही है। इस दौरान गडकरी ने राज्य सरकार से राज्य में शहरी परिवहन को और बेहतर बनाने के लिए इलेक्ट्रिक डबल डेकर एसी बसें शुरू करने का भी आग्रह किया है।

निवेश के लिए अच्छी सड़के, जलापूर्ति और बिजली जरूरी

गडकरी ने सत्र के दौरान प्रदेश सरकार से आग्रह किया है कि यूपी में धीरे-धीरे डीजल और पेट्रोल का उपयोग कम करें। उन्होंने कहा कि किसी भी क्षेत्र का विकास करने और रोजगार पैदा करने के लिए बुनियादी ढांचे की जरूरत है। निवेश लाने के लिए अच्छी सड़कों, जलापूर्ति और बिजली की आपूर्ति आवश्यक है। प्रधानमंत्री मोदी का भारत को सबसे शक्तिशाली अर्थव्यवस्था बनाने का विजन है।

पराली और बेकार टायरों का हो सकता है इस्तेमाल

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि सड़क और बुनियादी ढांचे पर काम करने से वायु प्रदूषण 40% तक बढ़ रहा है। इससे निपटने के लिए उत्तर प्रदेश को देश में इथेनॉल की सबसे बड़ी मात्रा का उत्पादन करने के साथ-साथ और भी कुछ करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि पराली को कोलतार बनाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। बेकार टायरों का बिटुमेन बनाने के लिए इस्तेमाल हो सकता है।

भारतमाला प्रोजेक्ट में यूपी को मिलेंगी कई सौगातें

मंत्री ने कहा कि एनएचएआई के सहयोग से राज्य के सभी बस स्टेशनों को पीपीपी (पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप) के आधार पर नया रूप दिया जाएगा। पहले चरण में 25 स्टेशनों को अपग्रेड किया जाएगा। गडकरी ने कहा कि उत्तर प्रदेश को जल्द ही गोरखपुर-सिलीगुड़ी, वाराणसी-कोलकाता और गोरखपुर बरेली कॉरिडोर मिलेगा, जो भारतमाला प्रोजेक्ट-2 का हिस्सा होगा।

केंद्रीय मंत्री ने यह भी घोषणा की कि प्रतापगढ़ सुल्तानपुर-अयोध्या राज्य राजमार्ग को चौड़ा किया जाएगा। जबकि उत्तर प्रदेश में 1,000 करोड़ रुपये की लागत से 12 रेल ओवरहेड ब्रिज बनाए जाएंगे।

First published on: Oct 09, 2022 03:42 PM
संबंधित खबरें