Monday, 26 February, 2024

---विज्ञापन---

कौशांबी में महिलाकर्मी ने विभाग के अधिकारी पर लगाया यौन उत्पीड़न का आरोप, जांच शुरू

UP News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कौशांबी (Kaushambi) जिले से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां सरकारी विभाग में तैनात एक संविदा कर्मी ने विभाग के अधिकारी पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। चूंकि महिला प्रयागराज (Prayagraj) की रहने वाली है, इसलिए महिला ने प्रयागराज पुलिस से मामले की शिकायत की है। […]

Edited By : Naresh Chaudhary | Updated: Dec 28, 2022 14:51
Share :

UP News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कौशांबी (Kaushambi) जिले से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां सरकारी विभाग में तैनात एक संविदा कर्मी ने विभाग के अधिकारी पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। चूंकि महिला प्रयागराज (Prayagraj) की रहने वाली है, इसलिए महिला ने प्रयागराज पुलिस से मामले की शिकायत की है। पुलिस का कहना है कि जांच की जा रही है। जल्द ही मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

प्रयागराज की रहने वाली है पीड़िता

प्रयागराज की रहने वाली एक महिला कौशांबी जिले के प्रोविजन विभाग के एक सेंटर पर सविंदाकर्मी के रूप में काम करती है। महिला ने प्रयागराज के महिला थाने पहुंचकर अपने साथ हुई घटना के बारे में शिकायत की है। महिला ने थाना पुलिस को बताया कि वह कौशांबी के प्रोविजन विभाग का एक अधिकारी उसे परेशान कर रहा है। आरोप है कि अधिकारी निरीक्षण के बहाने उसका यौन उत्पीड़न करता है। कार्यालय में आकर उसके साथ अश्लील हरकतें करता है।

पीड़िता ने पुलिस को बताया कि जब वह घर चली जाती है तो आरोपी उसे व्हाट्सएप पर अश्लील मैसेज करता है। वीडियो कॉल करता है। बताया गया है कि अधिकारी की ओर से की गई छेड़छाड़ और अश्लीलता का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। हालांकि न्यूज24 इस तरह के किसी भी वीडियो की पुष्टि नहीं करता है।

और पढ़िएकोहरे का कहर! इस शहर में 100 से ज्यादा फ्लाइट्स प्रभावित, घर निकलने से पहले जानें एडवाइजरी

पिछले एक साल से शोषम का आरोप

महिला थाने में पीड़िता की ओर से कहा गया है कि उसके घर की आर्थिक स्थिति सही नहीं है, इसलिए वह नौकरी करने के लिए मजबूर है। पीड़िता का आरोप है कि अधिकारी उसका पिछले एक साल से मानसिक और शारीरिक शोषण कर रहा है। वहीं कौशांबी जिले के एसपी बृजेश श्रीवास्तव ने बताया कि पीड़िता से संपर्क किया जा रहा है। संपर्क होते ही मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

और पढ़िए मऊ में दर्दनाक हादसा; सर्दी से बचने के लिए जलाए अलाव से झोपड़ी में लगी आग, जिंदा जले मां और 4 बच्चे

इसके अलावा प्रयागराज पुलिस आयुक्त रमित शर्मा ने बताया कि किसी भी सरकारी कार्यालय में किसी भी प्रकार के शोषण की शिकायत मिलने पर सीधे कार्रवाई नहीं होती है। पहले मामले की जांच होती है। पुलिस को मामले की जांच में लगाया गया है।

(प्रयागराज से पंकज चौधरी की रिपोर्ट)

और पढ़िए देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

First published on: Dec 28, 2022 12:07 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें