Tuesday, 27 February, 2024

---विज्ञापन---

अब तक 100 एनकाउंटर करने वाले IPS अजय पाल शर्मा को आया हार्ट अटैक, जानें अब कैसी है तबीयत?

Lucknow News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के तेजतर्रार IPS Ajay Pal Sharma को देर रात हार्ट अटैक आया। उन्हें आनन-फानन में लखनऊ के मेदांता अस्पताल (Lucknow Medanata Hospital) में भर्ती कराया गया है। फिलहाल उनका विशेषज्ञ डॉक्टरों की निगरानी में इलाज चल रहा है। बता दें कि आईपीएस अजय पाल उत्तर प्रदेश के एनकाउंटर स्पेशलिस्ट […]

Edited By : Naresh Chaudhary | Updated: Nov 4, 2022 18:50
Share :

Lucknow News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के तेजतर्रार IPS Ajay Pal Sharma को देर रात हार्ट अटैक आया। उन्हें आनन-फानन में लखनऊ के मेदांता अस्पताल (Lucknow Medanata Hospital) में भर्ती कराया गया है। फिलहाल उनका विशेषज्ञ डॉक्टरों की निगरानी में इलाज चल रहा है। बता दें कि आईपीएस अजय पाल उत्तर प्रदेश के एनकाउंटर स्पेशलिस्ट अधिकारी हैं।

फिलहाल डायल 112 में एसपी के पद पर तैनात

जानकारी के मुताबिक यूपी डायल 112 में एसपी पद पर तैनात आईपीएस अजय पाल शर्मा की गिनती यूपी के तेजतर्रार पुलिस अधिकारियों में होती है। बताया गया है कि गुरुवार देर रात उनकी तबीयत अचानक खराब हो गई। उन्हें तत्काल लखनऊ स्थित मेदांता अस्पताल में भर्ती कराया गया है। लखनऊ मेदांता के मीडिया प्रभारी डॉक्टर आलोक कपूर ने उनकी हालत के बारे में जानकारी दी।

मानर अटैक था, एंजियोप्लास्टी की गई

मेदांता अस्पताल के मीडिया प्रभारी ने बताया कि कि उन्हें माइनर हार्ट अटैक पड़ा था। इसके कारण उनकी एंजियोप्लास्टी की गई है। फिलहाल उनकी सेहत में सुधार है। उनके मुताबिक जल्द ही आईपीएस अधिकारी को अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी। बता दें कि अजय पाल शर्मा 2011 बैच के आईपीएस अधिकारी है। उनकी प्रथम तैनाती सहारनपुर में हुई थी।

100 एनकाउंटर का रिकॉर्ड है

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आईपीएस अजय पाल के नाम अब तक 100 एनकाउंटर का रिकॉर्ड है। अजय पाल का नाम प्रदेशभर में तब सुर्खियों में आया था जब उन्होंने रामपुर में एक बच्ची की रेप के बाद हत्या के आरोपी को एनकाउंटर के बाद पकड़ा था। बताया गया है कि आईपीएस अजय पाल नोएडा में भी तैनात रहे हैं। कैराना पलायन के आरोपी को भी अजय पाल ने ही गिरफ्तार किया था।

काफी दिनों से नहीं मिला कोई चार्ज

इन सब के अलावा आईपीएस अजय पाल का नाम कुछ मामलों में भी रहा है। नोएडा में तैनाती के दौरान उनका एक कथित तौर पर वीडियो सामने आया था। इसके बाद उन्हें रामपुर भेजा गया। इसकी जांच रिपोर्ट आने के बाद उन्हें रामपुर से भी हटा दिया गया। कहा जाता है कि इसके बाद उन्हें कहीं का भी चार्ज नहीं दिया गया है।

First published on: Nov 04, 2022 06:50 PM
संबंधित खबरें