Saturday, 24 February, 2024

---विज्ञापन---

‘पीठ चीरते हुए सीने से बाहर आई गोली…’, यूपी STF के एनकाउंटर में ढेर असद और गुलाम की आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट

Umesh Pal Murder Case: गैंगस्टर अतीक अहमद के बेटे असद को यूपी एसटीएफ की दो गोलियां लगी थीं। जबकि उसका सहयोगी शूटर मोहम्मद गुलाम केवल एक गोली में ढेर हो गया था। दोनों का गुरुवार की रात करीब पांच घंटे झांसी मेडिकल कॉलेज में पोस्टमार्टम चला। मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर नरेंद्र सेंगर के मुताबिक, जब […]

Edited By : Bhola Sharma | Updated: Apr 20, 2023 14:50
Share :
Umesh Pal Murder Case, Atiq Ahmad, Asad Ahmad, Mohammad Ghulam, Jhansi Encounter, UP STF
असद अहमद और मोहम्मद गुलाम।- फाइल फोटो

Umesh Pal Murder Case: गैंगस्टर अतीक अहमद के बेटे असद को यूपी एसटीएफ की दो गोलियां लगी थीं। जबकि उसका सहयोगी शूटर मोहम्मद गुलाम केवल एक गोली में ढेर हो गया था। दोनों का गुरुवार की रात करीब पांच घंटे झांसी मेडिकल कॉलेज में पोस्टमार्टम चला। मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर नरेंद्र सेंगर के मुताबिक, जब असद और गुलाम के शव अस्पताल लाए गए तो उनकी दो घंटे पहले मौत हो चुकी थी।

असद को एक गोली पीठ पर तो दूसरी गोली सीने में लगी थी। पीठ पर लगी गोली दिल और सीने को चीरते हुए बाहर निकल गई थी। वहीं दूसरी गोली सीने में लगने के बाद गले में जाकर फंस गई। डॉक्टरों की टीम ने गोली बरामद की है। वहीं, शूटर गुलाम को एक गोली लगी थी, जो सीने को चीरते हुए बाहर निकल गई थी।

यह भी पढ़ें: Asad Encounter: बेहद गोपनीय था असद और गुलाम का एनकाउंटर, 10 पॉइंट्स में समझें ऑपरेशन झांसी

डॉक्टर नरेंद्र ने बताया कि पोस्टमार्टम पैनल में तीन डॉक्टर थे। पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराई गई है। उन्होंने बताया कि असद की पीठ से काफी खून बह रहा था।

गुलाम की मां ने बेटे का शव लेने से किया इंकार

गुलाम की मां खुशनुदा ने कहा है कि गंदे काम का यही नतीजा होता है। सरकार ने बिल्कुल सही किया है। भावुक खुशनुदा ने कहा कि जो गंदा काम करते हैं, वो इसे याद रखेंगे। सरकार ने गलत नहीं किया है। उन्होंने कहा जब आपने (गुलाम) किसी को मारा, तो गलत किया। अब तुम्हारे साथ वही होगा। उन्होंने शव लेने से भी इंकार कर दिया। कहा कि हो सकता है उनकी पत्नी गुलाम का शव लें। उनकी जिम्मेदारी है। उनके फर्ज अलग हैं, लेकिन हम वादा कर चुके हैं। उसका शव नहीं लेंगे।

दो विदेशी हथियार बरामद

एसटीएफ का कहना है कि असद और गुलाम बाइक से थे। उन्हें सरेंडर करने के लिए कहा गया, लेकिन उन्होंने फायरिंग कर दी और एनकाउंटर में मारे गए। असद और गुलाम के पास से दो विदेशी हथियार एक ब्रिटिश बुलडॉग रिवाल्वर और एक जर्मन वाल्थर P88 सेमी-ऑटोमैटिक पिस्तौल बरामद किए हैं।

और पढ़िए – Sudan Violence: कर्नाटक के 31 आदिवासी सूडान में फंसे, कांग्रेस का दावा- सरकार नहीं कर रही रेस्क्यू

उमेश और राजू पाल हत्याकांड में थे वांछित

असद अहमद और गुलाम वकील उमेश पाल की हत्या में वांछित थे। उमेश पाल बसपा विधायक राजू पाल की हत्या के चश्मदीद गवाह थे। उमेश पाल की फरवरी में और राजू पाल की 2005 में हत्या कर दी गई थी। असद और गुलाम को यूपी पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स ने झांसी में एनकाउंटर में मार गिराया था।

और पढ़िए – देश से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहाँ पढ़ें 

First published on: Apr 14, 2023 04:07 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें