Thursday, 18 April, 2024

---विज्ञापन---

Rajasthan News: ‘कोई भी लाभार्थी तकनीकी खामियों के कारण पेंशन के लाभ से वंचित न रहे’- मंत्री टीकाराम जूली

Rajasthan News: सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री टीकाराम जूली ने बुधवार को महंगाई राहत कैंपों का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश भर में लगाए जा रहे महंगाई राहत कैंपों में निरीक्षण के दौरान कई खामियां पाई गई हैं। उन्होंने अधिकारियों को इस संबंध में दिशा-निर्देश भी दिए। विभाग द्वारा उपलब्ध कराई जा रही वैकल्पिक सुविधा […]

Edited By : Rakesh Choudhary | Updated: Apr 27, 2023 11:39
Share :
Rajasthan News, Tikaram Julle

Rajasthan News: सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री टीकाराम जूली ने बुधवार को महंगाई राहत कैंपों का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश भर में लगाए जा रहे महंगाई राहत कैंपों में निरीक्षण के दौरान कई खामियां पाई गई हैं। उन्होंने अधिकारियों को इस संबंध में दिशा-निर्देश भी दिए।

विभाग द्वारा उपलब्ध कराई जा रही वैकल्पिक सुविधा

उन्हाेंने कहा कि निरीक्षण के दौरान सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के ऐसे लाभार्थी जो किसी कारण से वार्षिक भौतिक सत्यापन कराने में असमर्थ रहे हैं। ऐसे लाभार्थियों के लिए विभाग द्वारा वार्षिक सत्यापन के लिए एक अन्य वैकल्पिक सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है।

जिसके अनुसार पेंशन स्वीकृतिकर्ता अधिकारी (उपखण्ड अधिकारी, ब्लाॅक विकास अधिकारी) द्वारा पेंशनर का आधार एवं जनाधार कार्ड अपलोड किया जाएगा। इन दस्तावेजों का सत्यापन विभाग के जिला स्तरीय अधिकारी द्वारा किए जाने के उपरान्त पेंशनर के वार्षिक सत्यापन का कार्य पूर्ण हो जाएगा। इस आशय के आदेश विभाग द्वारा जारी कर दिए गए है।

वर्ष में एक बार भौतिक सत्यापन जरूरी

उन्होंने बताया कि सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजनाओं के सभी लाभार्थियों को प्रति वर्ष माह नवम्बर-दिसम्बर में आगामी कलेण्डर वर्ष के लिए भौतिक सत्यापन करवाना आवश्यक होता है। समय पर वार्षिक भौतिक सत्यापन नहीं करवाने की स्थिति में पेंशनर्स को पेंशन का भुगतान रोका जाता है। भविष्य में पेंशनर द्वारा जब वार्षिक भौतिक सत्यापन करवा लिया जाता है तो उन्हें एरियर सहित पेंशन राशि का भुगतान किया जाता है।

First published on: Apr 27, 2023 11:39 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें