Thursday, 29 February, 2024

---विज्ञापन---

वागड़ में भाजपा-कांग्रेस के लिए चुनौती बनीं 2 आदिवासी पार्टियां, जानें कैसे बिगड़ रहे समीकरण

Rajasthan Election 2023: राजस्थान में मतदान के बाद से ही चुनाव के नतीजों का इंतजार है। इस बीच वागड़ क्षेत्र में 2 आदिवासी पार्टियां भाजपा-कांग्रेस के चुनौती बनी हुई है।

Edited By : Rakesh Choudhary | Updated: Nov 27, 2023 14:40
Share :
Rajasthan Election 2023 Banswara Dungarpur
Rajasthan Election 2023 Banswara Dungarpur

Rajasthan Election 2023: राजस्थान में वागड़ क्षेत्र की सीटों पर कांग्रेस और भाजपा के बीच दो क्षेत्रीय पार्टियों ने मुकाबले को चतुष्कोणीय बना दिया है। इन सीटों पर कांग्रेस-भाजपा ने जमकर जोर लगाया। इन सीटों पर पीएम मोदी समेत भाजपा-कांग्रेस के कई दिग्गजों ने जमकर चुनावी जनसभाएं की। सभी दलों ने आदिवासियों को रिझाने के लिए कई बड़े वादे किए। बता दें कि पिछले चुनाव में बीटीपी ने 2 सीटों पर जीत दर्ज की थी। इस बार भी बीटीपी ने कई सीटों पर प्रत्याशी उतारे हैं। इसके अलावा इस चुनाव से पहले अस्तित्व में आई भारत आदिवासी पार्टी ने भी पूरा दमखम लगाया। इस बार आदिवासी बाहुल्य सीटों पर जमकर मतदान भी हुआ। आइये जानते हैं क्या है इन सीटों का हाल-

1. निंबाहेड़ा – इस सीट से कांग्रेस के विधायक और मंत्री उदयलाल आजंना के सामने भाजपा ने श्रीचंद कृपलानी को मैदान में उतारा। दोनों ही दिग्गज नेता है। इसके अलावा क्षेत्रीय पार्टियों से भी 10 प्रत्याशी मैदान में हैं।

2. कुशलगढ़- इस सीट पर इस बार सबसे ज्यादा मतदान हुआ। इस सीट से 2018 में निर्दलीय रमिला खड़िया ने जीत दर्ज की थी। ऐसे में इस बार कांग्रेस ने रमिला खड़िया को टिकट दे दिया और भाजपा ने भीमा भाई को मैदान में उतारा है। इसके अलावा बीटीपी और बीएपी के प्रत्याशी भी मैदान में हैं।

News24 Whatsapp Channel

3. घाटोल- उदयपुर जिले की घाटोल सीट से भाजपा ने मानशंकर निनामा तो कांग्रेस ने नंदलाल निनामा को मैदान में उतारा है। इस सीट पर मुकाबला काफी रोचक है। हालांकि भाजपा की सीट होने से यहां से पार्टी को जीत की उम्मीद है।

4. धरियावद- धरियावाद सीट से कांग्रेस ने मौजूदा विधायक नगराज मीणा तो भाजपा ने कन्हैयालाल मीणा को मैदान में उतारा है। यहां भी आदिवासी पार्टियों के प्रत्याशी समीकरण बिगाड़ रहे हैं।

5. चौरासी- डूंगरपुर जिले की इस सीट से इस बार कांग्रेस के ताराचंद भगोरा और भाजपा ने सुशील कटारा को चुनाव मैदान में उतारा है। इस सीट पर पिछली बार बीटीपी के राजकुमार रोत ने जीत दर्ज की थी। इस बार वे बीएपी की ओर से उमीदवार है। ऐसे में यहां कांटे की टक्कर हैं।

6. बांसवाड़ा – इस सीट से कांग्रेस ने मौजूदा विधायक और मंत्री अर्जुन सिंह बामणिया को मैदान में उतारा है वहीं भाजपा ने धन सिंह रावत पर भरोसा जताया है। यहां भी आदिवासी पार्टियों के प्रत्याशी दोनों ही पार्टियों के लिए मुसीबत बने हुए हैं।

7. बागीदौरा- बागीदौरा सीट से कांग्रेस ने मौजूदा विधायक और मंत्री महेंद्रजीत सिंह मालवीया को प्रत्याशी बनाया है। वहीं भाजपा ने कृष्णा कटारा को मैदान में उतारा है। इसके अलावा इस सीट से कांग्रेस के बागी भी मैदान में हैं।

First published on: Nov 27, 2023 02:39 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें