Tuesday, 27 February, 2024

---विज्ञापन---

मतदान में पुरुषों के मुकाबले महिलाएं आगे, गहलोत की फ्री मोबाइल स्कीम या कुछ और…समझें सियासी मायने

Rajasthan Election 2023: राजस्थान में पिछले चुनाव की तरह इस बार भी महिलाओं ने बढ़-चढ़कर चुनावी चकलस में हिस्सा लिया। ऐसे में विश्लेषक इसे लेकर कई सियासी मायने निकाल रहे हैं।

Edited By : Rakesh Choudhary | Updated: Nov 27, 2023 10:09
Share :
Rajasthan Election 2023 Woman Voters
Rajasthan Election 2023 Woman Voters

Rajasthan Election 2023: राजस्थान में इस बार 75.45 प्रतिशत वोटिंग हुई है। निर्वाचन विभाग ने रविवार को वोटिंग के फाइनल आंकड़े जारी कर दिए। इसमें होम वोटिंग और पोस्टल बैलेट के आंकड़े भी शामिल हैं। पिछली बार की तुलना में इस बार 1 फीसदी वोटिंग अधिक हुई है।

वोटिंग के मामले एमपी की तरह राजस्थान में भी महिलाएं पुरुषों से आगे रही। पुरुषों का वोटिंग प्रतिशत 74.53 तथा महिलाओं का वोटिंग प्रतिशत 74.72 प्रतिशत रहा। हालांकि 2018 में महिला वोटर्स पुरुषों के मुकाबले पिछड़ गई थी। वहीं वोटिंग के लिहाज से देखें तो बांसवाड़ा की कुशलगढ़ सीट टाॅप पर रही। यहां 88.13 प्रतिशत वोटिंग हुई। प्रदेश के 6 जिलों में 80 प्रतिशत से ज्यादा वोटिंग हुई है। इनमें बांसवाड़ा, जैसलमेर, हनुमानगढ़, झालावाड़, प्रतापगढ़, चित्तौड़गढ़ जिले शामिल हैं।

News24 Whatsapp Channel

भाजपा भी महिलाओं को लुभाने में पीछे नहीं

राजस्थान में महिलाएं पुरुषों के मुकाबले चुनाव में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेती है। चुनावी विश्लेषकों की मानें तो भाजपा-कांग्रेस की फ्री स्कीम्स महिलाओं को लुभा रही है। वहीं दूसरी ओर कांग्रेस की फ्री मोबाइल स्कीम को भी बड़ा कारण मान रहे हैं। एमपी की तर्ज पर इस बार के संकल्प पत्र में भाजपा ने लखपति दीदी बनाने की घोषणा की है। इसके अलावा सस्ता गैस सिलेंडर भी महिलाओं को वोटिंग बूथ तक खींच लाया। कुल मिलाकर लोकतंत्र में महिलाओं की बढ़ती भागीदारी देश के लिए अच्छी बात है।

फ्री मोबाइल स्कीम बनेगी कांग्रेस की वैतरणी

महिलाओं की बढ़ा हुआ वोटिंग प्रतिशत गेम चेंजर साबित हो सकता है। वोटिंग परसेंटेज में बढ़ोतरी के बाद से कांग्रेस डरी हुई थी लेकिन मतदान में महिलाओं की भागीदारी कांग्रेस के राहत भरी बात हो सकती है। कांग्रेस यह मानकर चल रही है कि प्रदेश की 1 करोड़ से अधिक महिलाओं को फ्री मोबाइल फोन देना गहलोत सरकार के लिए मास्टर स्ट्रोक हो सकता है। बता दें कि गहलोत सरकार अब तक 60 लाख महिलाओं को मोबाइल फोन बांट चुकी है वहीं आचार संहिता हटने के बाद बचे 40 लाख मोबाइल भी वितरित किए जाएंगे।

कांग्रेस ने महिलाओं से किए ये वादे

इस बार के घोषणा पत्र में कांग्रेस ने महिलाओं को प्रतिवर्ष 10 हजार देने का वादा किया है। इसके अलावा गहलोत सरकार 18 से 45 साल की महिलाओं और किशोरियों के लिए तीन लाख लाभार्थियों को प्रतिमाह 12 सैनेटरी नेपकिन निशुल्क देती है। ऐसे में कांग्रेस को महिला वोटर्स का साथ मिल सकता है।

यह भी पढेंः ये 29 सीटें राजस्थान में तय करती हैं सरकार, 2018 में भाजपा पिछड़ी, इस बार क्या?

पोकरण में महिलाओं ने किया सर्वाधिक मतदान

चुनाव आयोग की मानें तो 2018 के चुनाव में भी महिलाओं ने 74.67 फीसदी मतदान किया था। बता दें कि 199 सीटों में इस बार पोकरण में महिलाओं ने सर्वाधिक 88.23 प्रतिशत मतदान किया है। इसके बाद बांसवाड़ा की कुशलगढ़ में 87.54 प्रतिशत और तिजारा में 85.45 प्रतिशत मतदान किया है। मारवाड़ जंक्शन सीट पर 61.29 प्रतिशत और सुमेरपुर में 61.44 प्रतिशत मतदान हुआ।

First published on: Nov 27, 2023 09:28 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें