Tuesday, December 6, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

जयपुर में सीएम गहलोत ने इंदिरा रसोई का किया अवलोकन, पत्नी संग खाया खाना, देखें

जयपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जल महल जाकर इंदिरा रसोई में अपनी धर्म पत्नी के साथ भोजन किया। सीएम ने जयपुर में जलमहल के पास संचालित इंदिरा रसोई पहुंचकर यहां की व्यवस्थाओं का अवलोकन किया एवं उपस्थित महिलाओं एवं अन्य लोगों से बातचीत कर फीडबैक लिया।

गौरतलब है कि राजस्थान सरकार ₹8 में खाना खिलाने की “इंदिरा रसोई “नाम से योजना चला रही है, जिसका मकसद कम दाम पर अच्छी गुणवत्ता वाले भोजन को करना है। खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पिछले हफ्ते कह चुके हैं कि सभी जनप्रतिनिधियों को महीने में एक बार इंदिरा रसोई में जाकर जरूर भोजन करना चाहिए, ताकि खाने की गुणवत्ता बनी रह सके और लोगों की जरूरतों का भी पता लग सके।

अभी पढ़ें – कोर्ट में पेशी पर आए माफिया अतीक अहमद बोले- योगी ईमानदार, बहादुर और मेहनती मुख्यमंत्री हैं

 

इसी के तहत अशोक गहलोत आज अपनी धर्म पत्नी के साथ दोपहर को जयपुर के जलमहल इलाके में बने इंदिरा रसोई में गए और वहां ना केवल मौजूद लोगों के साथ ₹8 रुपए की पर्ची कटवा कर भोजन किया बल्कि वहां पर मौजूद लोगों और रसोई चला रहे लोगों के साथ से बातचीत भी की। इस दौरान गहलोत ने कहा कि जिस तरह से इंदिरा रसोई पर मुस्कुरा के खाना खिलाया जा रहा है, यह देख लगा कि जिस मंशा से काम शुरू किया था, वह पूरा हो रहा है।

अभी पढ़ें खड़गे को रबड़ स्टाम्प बताए जाने पर बिफरे CM गहलोत, बोले- BJP नेताओं को इतिहास पढ़ना चाहिए, ताकि उनका मखौल न बने

सीएम गहलोत ने इस योजना को लेकर खुशी जताई और बताया कि बड़ी संख्या में लोग प्रतिदिन यहां भोजन कर रहे हैं। सीएम ने कहा कि इंदिरा रसोई के अवलोकन के दौरान यहां भोजन कर रहे श्रमिक से बातचीत की इस दौरान पता चला कि वो चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में रजिस्टर्ड नहीं है, तो मौके पर ही निर्देश दिए कि उन्हें योजना में शामिल करवाया जाए, साथ ही श्रमिक को योजना में 10 लाख तक के निःशुल्क इलाज के बारे में बताया।

अभी पढ़ें प्रदेश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -