---विज्ञापन---

Punjab: प्रिंटिंग और स्टेशनरी विभाग सरकारी फाइल कवर के द्वारा सामाजिक कुरीतियों के खिलाफ लोगों को करेगा जागरुक

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान की तरफ से भ्रष्टाचार और नशों जैसी बीमारिओं को जड़ से ख़त्म करने के लिए प्रण को दोहराते हुये प्रिंटिंग और स्टेशनरी विभाग ने अच्छी पहल करते हुए सरकारी फाइल कवर के द्वारा सामाजिक बीमारिओं के खिलाफ़ जागरूक करने की मुहिम शुरू की है। इसी के साथ ही साक्षरता […]

Edited By : Siddharth Sharma | Updated: Sep 4, 2022 16:15
Share :
प्रिंटिंग विभाग
प्रिंटिंग विभाग

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान की तरफ से भ्रष्टाचार और नशों जैसी बीमारिओं को जड़ से ख़त्म करने के लिए प्रण को दोहराते हुये प्रिंटिंग और स्टेशनरी विभाग ने अच्छी पहल करते हुए सरकारी फाइल कवर के द्वारा सामाजिक बीमारिओं के खिलाफ़ जागरूक करने की मुहिम शुरू की है। इसी के साथ ही साक्षरता अभियान और पर्यावरण और जल संरक्षण का भी न्योता दिया जा रहा है।

यह जानकारी प्रिंटिंग और स्टेशनरी मंत्री गुरमीत सिंह मीत हेयर ने यह निवेकली प्रवृत्ति शुरू करते हुए नये सरकारी फाइल कवर जारी करते हुये दी। कैबिनेट मंत्री और विभाग की विशेष सचिव डा. सेनू दुग्गल की तरफ से यह नये सरकारी फाइल कवर जारी किये गए।

नये जारी किये गए सरकारी फाइल कवर की ख़ासियत यह है कि इन पर भ्रष्टाचार मुकाओ, सुधार लिआओ’, ’नशियां नू जड़ों मुकाओ’, ’हर मनुख लावे रूख’, ’जल है तां कल है’ और ’पढ़ो और पढ़ाओ’ सलोगन लिखे गए हैं जिनसे सम्बन्धित लोगो लगाए गए हैं। इसके इलावा फाइल पर लगाए जाते फलैपर ( जफ़्फ़ू) पर विभाग, शाखा आदि की जानकारी लिखने के लिए कालम रखे गए हैं। इससे पहले हर बार कोई भी सरकारी फाइल तैयार करते समय अलग प्रिंट निकलवा कर लगाना पड़ता था।

मीत हेयर ने आगे जानकारी देते हुये बताया कि राज्य सरकार की तरफ से भ्रष्टाचार, नशों के खि़लाफ़ ज़ीरो टॉलरैंस नीति अपनाई गई है। इसके इलावा सरकार की तरफ से पर्यावरण के संरक्षण को प्राथमिकता दी जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रिंटिंग और स्टेशनरी विभाग की तरफ से सभी सरकारी विभागों के लिए प्रतिदिन प्रयोग में आते फाइल कवर प्रकाशित करवाए जाते हैं। विभाग ने फ़ैसला किया है कि सामाजिक बीमारियों के खि़लाफ़ जागरूकता और पर्यावरण के संरक्षण वाले सलोगन फाइलों पर लिखे जाएँं

प्रिंटिंग और स्टेशटनी मंत्री ने कहा कि रोज़मर्रा के कामकाज के दौरान सरकारी दफ्तरों की फाइलें कई सरकारी कर्मियों के हाथों से निकलती हैं और अच्छे संदेश देने के लिए इससे बढ़िया पहलकदमी नहीं हो सकती। इसके इलावा समय और पैसे की बचत के लिए फाइल कवर पर लगते फलैपर पर विभाग, शाखा आदि का नाम छापने का भी फ़ैसला किया गया है जिससे हर फाइल तैयार करते समय प्रिंट न निकालना पड़े।

First published on: Sep 04, 2022 04:15 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें