---विज्ञापन---

‘छात्रों ने 4 साल के कोर्स की परीक्षा सिर्फ 1 साल में दी’ नर्सिंग घोटाले पर राज्य सरकार को कांग्रेस ने घेरा

MP Nursing Scam Case Congress React: मध्य प्रदेश के नर्सिंग घोटाले मामले को लेकर सियासत काफी तेज हो गई है। इस घोटाले के लिए कांग्रेस लगातार मध्य प्रदेश सरकार को घेर रही है। गुरुवार को कांग्रेस ने इसके लिए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस रखी। जिसमें उन्होंने काफी कुछ कहा...

Edited By : Pooja Mishra | Updated: May 23, 2024 15:21
Share :
MP Nursing Scam Case Congress React

MP Nursing Scam Case Congress React: मध्य प्रदेश में इन दिनों नर्सिंग घोटाले मामले को लेकर सियासत तेज हो गई है। कांग्रेस लगातार इस घोटाले को लेकर मध्य प्रदेश सरकार को घेर रही है। इसी सिलसिले में कांग्रेस के मीडिया प्रभारी मुकेश नायक ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने मध्य प्रदेश सरकार को घेरते हुए कहा कि राज्य सरकार की नाक के नीचे सभी घोटाले हो रहे हैं। नर्सिंग कॉलेज के स्टूडेंट्स ने 4 साल के कोर्स की परीक्षा सिर्फ 1 साल में ही दे दी। इससे सबसे नुकसान स्टूडेंट्स को हो रहा है।

हाई कोर्ट की जांच

प्रदेश के उपनेता प्रतिपक्ष हेमंत कटारे ने नर्सिंग घोटाले मामले में राज्य सरकार को घेरते हुए कहा कि अभी तक यह लोग व्यापम के कलंक से बाहर नहीं आ पाए थे, अब नर्सिंग का भी घोटाला सामने आ गया है। इस घोटाले में सबसे ज्यादा परेशानी स्टूडेंट को हो रही है। वहीं कांग्रेस मीडिया अध्यक्ष मुकेश नायक ने बताया कि ग्वालियर हाई कोर्ट की जांच के बाद सीबीआई ने कई मेडिकल कॉलेज को सूटेबल घोषित किया था। वहीं 66 नर्सिंग कॉलेज को अपात्र घोषित किया गया था।

169 कॉलेजों को सूटेबल घोषित

मुकेश नायक ने बताया कि जगह के हिसाब से समिति ने प्रदेश के कॉलेजों को मान्यता दी गई थी। इसमें 169 कॉलेजों को सूटेबल घोषित किया गया था। वहीं 73 अल्प पात्र घोषित किया गया था और 66 अपात्र बताए गए थे। इसमें 9 सरकारी नर्सिंग कॉलेज भी शामिल थे। इन नर्सिंग कॉलेजों के छात्रों ने 4 साल के कोर्स की परीक्षा 1 साल में ही दे दी। जब रवि परमार ने इस नर्सिंग घोटाले के लिए आवाज उठाई तो उन्हें हथकड़ी बांधकर घुमाया गया।

यह भी पढ़ें: किर्गिस्तान में फंसे छात्रों के लिए मोहन यादव सरकार ने जारी की हेल्पलाइन, 24 घंटे से शांत है माहौल

कॉलेजों में फर्जी रजिस्ट्रार की नियुक्ति

उन्होंने आगे कहा कि मध्य प्रदेश के ज्यादातर नर्सिंग कॉलेजों में फर्जी रजिस्ट्रार की नियुक्ति की गई है। यहां कॉलेजों में फर्जी फैकल्टी का भी घोटाला हुआ है। नर्सिंग कॉलेज फैकल्टी सिर्फ कागज पर ही मौजूद है। एक ही फैकल्टी 1 दिन में मध्य प्रदेश के भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर और इंदौर में पढ़ा रहा है, इसके साथ दूसरे राज्यों में जाकर पढ़ा रहा है। इसके साथ ही मुकेश नायक ने उपमुख्यमंत्री राजेंद्र शुक्ला पर निशान साधते हुए कहा कि मध्य प्रदेश का नर्सिंग वातावरण भगवान हनुमान जी की 8 सिद्धियां प्राप्त कर चुका है।

First published on: May 23, 2024 03:21 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें