Wednesday, 17 April, 2024

---विज्ञापन---

Regional Industry Conclave 2024: इन्वेस्टमेंट और रोजगार के अवसर खुले, 2500 से ज्यादा लोगों ने कराया रजिस्ट्रेशन

Regional Industry Conclave 2024: उज्जैन में होने वाले रीजनल इंडस्ट्री कॉन्क्लेव 2024 की जानकारी उज्जैन के कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने दी है। उन्होंने बताया कि इस कॉन्क्लेव में सरकार द्वारा 169 उद्योगपतियों को 6774 करोड़ की भूमि आवंटित की जाएगी।

Edited By : Pooja Mishra | Updated: Feb 27, 2024 16:16
Share :
Regional Industry Conclave 2024
रीजनल इंडस्ट्री कांक्लेव 2024 की तैयारी

Regional Industry Conclave 2024: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव बिना रुके प्रदेश के विकास के लिए काम कर रहे हैं। सीएम मोहन यादव का लक्ष्य है कि वह राज्य को हर क्षेत्र में आगे बढ़ाए। इसके लिए सीएम मोहन यादव लगातार काम भी कर रहे हैं। उज्जैन में आने वाले 1 और 2 मार्च को रीजनल इंडस्ट्री कॉन्क्लेव 2024 का आयोजन किया जाने वाला है। इस कॉन्क्लेव जरिए उज्जैन, इंदौर समेत राज्य के बाकी जिलों में औद्योगिक विकास के द्वार खुल जाएगे

‘रीजनल इंडस्ट्री कांक्लेव 2024’ का आयोजन

इस इंडस्ट्री कॉन्क्लेव में सरकार द्वारा 169 उद्योगपतियों को 6774 करोड़ की भूमि आवंटित की जाएगी। ‘रीजनल इंडस्ट्री कांक्लेव 2024’ के दौरान उज्जैन में कुल 8000 करोड़ से अधिक के कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया जाएगा। इससे जिले में 12000 से अधिक रोजगार पैदा होंगे। इस पूरे कार्यक्रम की जानकारी उज्जैन के कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने दी है। उन्होंने बताया कि इस इंडस्ट्री कॉन्क्लेव में अब तक 662 बायर्स की तरफ से 2551 सेलर द्वारा रजिस्ट्रेशन करवाया गया है, हालांकि रजिस्ट्रेशन का काम अभी भी जारी है।

किसने कराया रजिस्ट्रेशन

कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने बताया कि रजिस्ट्रेशन करवाने वाले बायर और सेलर में ज्यादातर लोग सर्विस सेक्टर, टेक्सटाइल, प्लास्टिक, हैंडलूम-हैंडीक्राफ्ट, फूड-एग्रो प्रोडक्ट्स, इंजीनियरिंग प्रोडक्ट्स, इलेक्ट्रिकल, रियल एस्टेट, स्पोर्ट्स, फिश- मरीन प्रोडक्ट्स, केमिकल-एलाइड प्रोडक्ट्स, जेम एंड ज्वेलरी और लेदर सेक्टर के हैं। इस इंडस्ट्री कॉन्क्लेव में देश में आईटी सेक्टर्स के टॉप उद्योगपतियों के साथ मंगोलिया के गवर्मेंट डेलीगेशन, अमेरिका, फिजी, और जापान, जर्मनी के बिजनेस डेलिगेट्स शामिल होंगे। सबसे पहले इंडस्ट्री कांक्लेव के सफल आयोजन के लिए भगवान महाकाल का आशीर्वाद लिया जाएगा और भोग में 6.25 क्विंटल लड्डू चढ़ाएंगे। इसी लड्डू के प्रसाद को कांक्लेव में शामिल हुए उद्योगपतियों को दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: जंगल और वन्य प्राणियों के संरक्षण के साथ-साथ युवाओं को मिलेगा रोजगार, जानिए क्या है CM मोहन यादव की प्लान?

प्रतिभागियों को खास किट

प्रसाद के अलावा इंडस्ट्री कॉन्क्लेव में शामिल होने वाले उद्योगपतियो और प्रतिभागियों को एक खास किट दी जाएगी। इसमें मध्य प्रदेश सरकार की उद्योग फ्रेंडली नीतियों, बुटीक प्रिंट और भूमि बैंक होगा। बता दें कि मध्य प्रदेश ऑटोमोबाइल, खाद्य प्रसंस्करण, कपड़ा निर्माण, कृषि उपकरण और इंजीनियरिंग निर्माण में अग्रणी है।

First published on: Feb 27, 2024 04:12 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें