---विज्ञापन---

Bibhav Kumar के खिलाफ कंप्लेंट देने तक मैं “लेडी सिंघम” थी और आज BJP एजेंट कैसे?: स्वाति

Swati Maliwal Assault Case Latest Update: स्वाति मालीवाल ने एक बार फिर आम आदमी पार्टी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में जब उन्होंने शिकायत दी, तो सबने कहा कि वे लेडी सिंघम हैं। लेकिन अब उनको बीजेपी के इशारे पर काम करने वाली महिला बताया जा रहा है। इसके बाद उन्होंने आरोप लगाए।

Edited By : Parmod chaudhary | Updated: May 20, 2024 23:21
Share :
Swati Maliwal Assault Case
स्वाति मालीवाल मारपीट केस के आरोपी विभव कुमार ने भी क्रॉस केस दर्ज कराया हुआ है।

Swati Maliwal Assault Case: स्वाति मालीवाल एक बार फिर आम आदमी पार्टी के खिलाफ हमलावर है। उन्होंने आरोप लगाया है कि कल से दिल्ली के मंत्री झूठ फैला रहे हैं कि मुझ पर भ्रष्टाचार की एफआईआर हुई है। इसलिए मैंने बीजेपी के इशारे पर ये सब किया है। ये एफआईआर 8 साल पहले 2016 में हो चुकी थी। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर स्वाति ने लिखा है कि एफआईआर के बाद मुझे सीएम अरविंद केजरीवाल और एलजी दोनों ने दो बार और महिला आयोग की अध्यक्ष नियुक्त किया। केस पूरी तरह फर्जी है, जिस पर 1.5 साल से माननीय हाई कोर्ट ने स्टे लगाया हुआ है।

यह भी पढ़ें:IPhone फॉर्मेट किया, CCTV से भी छेड़छाड़…Swati Maliwal केस के आरोपी विभव के रिमांड पेपर में जानें क्या लिखा?

स्वाति मालीवाल के अनुसार उन्होंने माना है कि पैसे का कोई लेन-देन नहीं हुआ है। बिभव कुमार के खिलाफ कंप्लेंट देने तक मैं इनके हिसाब से “लेडी सिंघम” थी। और आज बीजेपी एजेंट बन गई हूं? पूरी ट्रोल आर्मी मेरे ऊपर लगा दी गई है। सिर्फ इसलिए कि क्योंकि मैंने सच बोला। पार्टी के सभी लोगों को फोन करके बोला जा रहा है स्वाति की कोई पर्सनल वीडियो है तो भेजो, लीक करनी है।

रिश्तेदारों की जान खतरे में डाली जा रही

मालीवाल ने लिखा है कि मेरे रिश्तेदारों की गाड़ियों के नंबर से उनकी डिटेल्स ट्वीट करवाकर उनकी जान खतरे में डाली जा रही है। खैर, झूठ ज्यादा देर तक टिक नहीं पाता है। पर सत्ता के नशे में किसी को नीचा दिखाने के जुनून में ऐसा न हो जाए कि जब सच सामने आए, तो अपने परिवारों से भी नजरें न मिला पाओ। तुम्हारे हर फैलाए झूठ के लिए तुम्हें कोर्ट लेके जाऊंगी! स्वाति मालीवाल से मारपीट केस में पुलिस सूत्रों के हवाले से पता लगा था कि आरोपी विभव कुमार पर पुलिस धारा 201 यानी सबूतों को नष्ट करने के तहत भी कार्रवाई कर सकती है। आरोप है कि बिभव ने जान बूझकर अपना फोन फॉर्मेट किया।

First published on: May 20, 2024 11:21 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें