Monday, November 28, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

जयवीर शेरगील ने प्रवक्ता पद से इस्तीफा दिया, बोले- कांग्रेस नेता जनहित में निर्णय नहीं ले रहे हैं

जयवीर शेरगील ने कहा कि आज मुझे लोगों के सामने झुकने के लिए मजबूर किया जा रहा है क्योंकि वे शीर्ष नेतृत्व के करीब हैं। यह मुझे स्वीकार्य नहीं है।

नई दिल्ली: कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता जयवीर शेरगील ने प्रवक्ता पद से इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफा देने के बाद शेरगील ने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस के शीर्ष नेता जनहित में निर्णय नहीं ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज मैंने इस्तीफा दो कारणों से दिया है। आज कांग्रेस पार्टी के निर्णय जनहित में नहीं कुछ लोगों के हित में निर्णय लिए जा रहे हैं। वास्तविकता से मुंह मोड़ा जा रहा है, जनता के मुद्दों से मुंह मोड़ा जा रहा है।

अभी पढ़ें Bihar News: भाजपा विधायकों ने सदन से किया वॉकआउट तो बोले नीतीश कुमार, ये सच नहीं सुनना चाहते हैं

जयवीर शेरगिल ने कहा कि कांग्रेस के जो निर्णय लिए जाते हैं उसमें आपकी काबिलियत, जनता की आवाज़, युवाओं की अपेक्षाओं को नजरअंदाज करके सिर्फ कुछ लोग जो चुनाव भी हार चुके हैं, केवल उनकी ताजपोशी हो रही है। उन्होंने कहा कि मुझे यह कहते हुए दुख होता है कि निर्णय लेना अब जनता और देश के हितों के लिए नहीं है, बल्कि यह उन लोगों के स्वार्थी हितों से प्रभावित है जो चापलूसी में लिप्त हैं और लगातार ज़मीनी हकीकत की अनदेखी करते हैं।

एएनआई से बात करते हुए शेरगिल ने कहा, “मैंने कांग्रेस पार्टी में सभी पदों से इस्तीफा दे दिया है। इस्तीफे का प्राथमिक कारण यह है कि कांग्रेस में निर्णय अब जनता के हितों को ध्यान में रखते हुए नहीं किया जा रहा है। कांग्रेस पार्टी का निर्णय अब जमीनी हकीकत के साथ नहीं है। मैं राहुल गांधी, सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा से एक साल से अधिक समय से समय मांग रहा हूं, लेकिन ये संभव नहीं हो पा रहा है।”

उन्होंने कहा, “पिछले 8 वर्षों में मैंने कांग्रेस से कुछ नहीं लिया, बल्कि केवल पार्टी को अपना सबकुछ दिया है। आज मुझे लोगों के सामने झुकने के लिए मजबूर किया जा रहा है क्योंकि वे शीर्ष नेतृत्व के करीब हैं। यह मुझे स्वीकार्य नहीं है।” शेरगिल ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना पत्र भेजा। शेरगिल ने अपने पत्र में कहा, “प्राथमिक कारण यह है कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के वर्तमान निर्णय निर्माताओं की विचारधारा और दूरदृष्टि अब युवाओं और आधुनिक भारत की आकांक्षाओं के अनुरूप नहीं है।”

“इसके अलावा, मुझे यह कहते हुए दुख हो रहा है कि निर्णय लेना अब जनता और देश के हित में नहीं है। बल्कि यह चाटुकारिता में लिप्त व्यक्तियों के स्वार्थी हितों से प्रभावित है और लगातार जमीनी हकीकत की अनदेखी कर रहा है। यह है कुछ ऐसा जिसे मैं नैतिक रूप से स्वीकार नहीं कर सकता या जिसके साथ काम करना जारी रख सकता हूं।”

अभी पढ़ें जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया, हथियार और पाकिस्तानी करेंसी बरामद

 

बता दें कि शेरगिल पेशे से वकील हैं और कांग्रेस के युवा नेताओं में प्रमुख लोगों में से एक थे। वे पंजाब के रहने वाले हैं। शेरगिल के पहले भी कांग्रेस पार्टी के कई युवा चेहरों ने पार्टी छोड़ दी थी। इनमें ज्योतिरादित्य सिंधिया हैं, जो अब केंद्रीय मंत्री हैं और जितिन प्रसाद हैं जो यूपी सरकार में मंत्री हैं।

अभी पढ़ें –  देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -