Wednesday, 17 April, 2024

---विज्ञापन---

कौन है हिस्ट्रीशीटर शिव गोप? जिसे STF ने शमशान घाट से किया गिरफ्तार

Bihar STF arrest Shiv Gop: बिहार पुलिस के अनुसार शिव गोप और उसके साथियों ने दानापुर में दीपक मेहता हत्याकांड को अंजाम दिया था। उन्होंने इस वारदात के लिए 7 लाख रुपये की सुपारी ली थी। गुप्त सूत्रों से पता चला था कि वह राजद विधायक के पिता के अंतिम संस्कार में शामिल होने आने वाला है। पुलिस को देख शिव गोप ने भागने का प्रयास किया, लेकिन कुछ दूर पीछा कर उसे पकड़ लिया गया।

Edited By : Amit Kasana | Updated: Feb 21, 2024 22:43
Share :
Ritlal Yadav
पुलिस की गिरफ्त में शिव गोप

Bihar STF arrest  Shiv Gop: पटना के दीघा में जनार्दन शमशान घाट पर उस समय भगदड़ मच गई जब यहां अचानक जलती चितांओं के बीच एसटीएफ की टीम रेड मारने पहुंची। दरअसल, यहां राजद के बाहुबली विधायक रीतलाल यादव के पिता रामाशीष राय का दाह संस्कार किया जा रहा था। एसटीएफ को सूचना मिली की इसमें बिहार का हिस्ट्रीशीटर शिव गोप पहुंचने वाला है। शिव लंबे समय से फरार चल रहा था उस पर हत्या समेत अन्य कई संगीन मामले दर्ज हैं। वह भेष बदलकर अंतिम संस्कार में शामिल होने पहुंचा था। जहां पहले से घात लगाए बैठे पुलिसकर्मियों ने उसे धर-दबोचा।

सादे पकड़े में पहुंची थी पुलिस

पुलिस के अनुसार शिव गोप कुख्यात बदमाश है। उस परन बेऊर में प्रॉपर्टी डीलर टुनटुन गोप पर गोलीबारी करने का आरोप है। इसके अलावा दानापुर में दीपक मेहता हत्याकांड में भी उसकी तलाश थी। विधायक के पिता कोथवा पंचायत के मुखिया थे। अंतिम संस्कार में बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। पुलिस ने शिव गोप को चकमा देने के लिए सादे कपड़े पहने हुए थे।

दीपक हत्याकांड में फरार था

पुलिस के अनुसार शिव गोप की लंबे समय से तलाश की जा रही थी। कोर्ट ने दानापुर मामले में वारंट जारी किया था और उस पर कई मामले दर्ज हैं। फुलवारी शरीफ अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी विक्रम सिहाग ने इस मामले में बताया कि शिवगोप ने बेउर निवासी प्रोपर्टी डिलर टूनटून राय उर्फ टुनटुन गोप के ऑफिस पर ऑटोमैटिक हथियार से कई राउंड फायरिंग की थी, जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और तीन लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे।

यह भी पढ़ें: पहले प्रेम संबंध, फिर कराया पकड़ौआ विवाह, ससुरालियों ने पिता, बेटा-बेटी को गोलियों से भूना

7 लाख की ली थी सुपारी

पुलिस के अनुसार दीपक मेहता हत्याकांड में शिव गोप और रवि गोप शामिल थे। कुछ समय पहले ही रवि गोप को गिरफ्तार किया गया था। पूछताछ में उसने बताया था कि 7 लाख रूपये की सुपारी लेकर दीपक मेहता की हत्या की गई थी। जिसके बाद लगातार शिव गोप पर नजर रखी जा रही थी। विधायक के पिता के दाह संस्कार में मौका पाकर उसे पकड़ लिया गया।

इनपुट अमिताभ कुमार ओझा

First published on: Feb 21, 2024 10:43 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें