Saturday, 24 February, 2024

---विज्ञापन---

जदयू नेता के नाम माओवादियों ने फेंका पर्चा, लिखा-धान काटोगे तो परिवार सहित उड़ा दिए जाओगे

Maoists threw letter in name of JDU leader: माओवादियों द्वारा फेंके गए पर्चे में धान काटने को लेकर मना किया गया है। साथ ही ट्रैक्टर को फूंकने तथा घर को उड़ा देने की भी धमकी दी गई है।

Edited By : Shailendra Pandey | Updated: Nov 27, 2023 14:42
Share :
Representative Image

गणेश प्रसाद, औरंगाबाद: बिहार के अति नक्सल प्रभावित औरंगाबाद जिले में केंद्रीय बलों द्वारा लगातार चलाए जा रहे ऑपरेशन से मांद में छिपे माओवादियों ने पोस्टरबाजी कर एक बार फिर सक्रियता दिखाई है। माओवादियों ने औरंगाबाद के देव थाना क्षेत्र में सरब बिगहा गांव में युवा नेता जदयू के देव प्रखंड अध्यक्ष के घर के पास उनके नाम से धमकी भरे पर्चें फेंके है, जिसके बाद से इलाके में सनसनी फैल गई है।

letter

खेती करने को लेकर हुई थी मारपीट

इस पर्चेबाजी की घटना के बाद से इलाके में एक बार फिर से माओवादियों का खौफ नजर आ रहा है। हालांकि, घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची देव थाना की पुलिस ने पर्चे को बरामद कर मामले की छानबीन में जुट गई है। इस मामले को लेकर पीड़ित युवा जदयू के देव प्रखंड अध्यक्ष रूपेश कुमार उर्फ रूपेश चौधरी ने बताया कि वह बटाई पर खेती करते हैं। दो साल पहले बटाई पर खेती नहीं करने को लेकर मारपीट की गई थी। इसके बाद पांच दिन पहले भी मेरे बेटे के साथ मारपीट की गई। वहीं, सोमवार की सुबह धान नहीं काटे जाने को लेकर माओवादियों द्वारा पर्चे फेंककर उनके पूरे परिवार को जान मारने की धमकी दी गई है।

letter

यह भी पढ़ें- देश के इस राज्य में लगता है भूतों का मेला, जानिए पूर्णिमा की रात क्या करते हैं तांत्रिक-ओझा

ट्रैक्टर को फूंकने व घर को उड़ा देने की धमकी

रूपेश ने बताया कि पर्चा उनके घर के पास ट्रैक्टर पर फेंका हुआ मिला है। पर्चे में धान काटने को लेकर मना किया गया है। साथ ही ट्रैक्टर को फूंकने तथा घर को उड़ा देने की भी धमकी दी गई है। उन्होंने आगे कहा कि पर्चेबाजी के बाद उनका पूरा परिवार दहशत में है। घटना को लेकर देव थानाध्यक्ष राजगृह प्रसाद ने बताया कि प्रथम दृष्टया यह मामला खेती-बटाईदारी के विवाद का प्रतीत होता है। जदयू नेता का अपने गोतिया परिवार के साथ पूर्व से ही विवाद चला आ रहा है। इसे लेकर पूर्व में दोनों पक्षों में मारपीट भी हुई है। पर्चेबाजी का मामला भी इसी विवाद से जुड़ा हुआ लगता है।

प्रसाद ने बताया कि संभवतः इसी विवाद में माओवादियों के नाम से पर्चेबाजी की गई है। वहीं, मामले में अभी जदयू नेता की ओर से कोई आवेदन नहीं मिला है। आवेदन मिलने पर इसके आलोक में अग्रेतर कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान पुलिस नक्सलियों द्वारा पर्चेबाजी किए जाने के एंगल से भी मामले की गहराई से छानबीन में जुटी हुई है।

 

First published on: Nov 27, 2023 02:39 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें