Wednesday, September 28, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Bihar Politics: बिहार के मंत्री सुधाकर सिंह का फिर बड़ा बयान, बोले- अधिकारी करा रहे हैं कालाबाजारी

कुछ दिन पहले न्यूज 24 ने भी दर्शकों को दिखाया था कि कैसे बिहार में खाद की कालाबाजारी हो रही है।

सौरभ कुमार, पटना: बिहार सरकार के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह ने एक बार फिर से मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। केंद्रीय मंत्री का समर्थन करते हुए सुधाकर सिंह ने कहा कि बिहार में खाद की कालाबाजारी सच में हो रही है।

बता दें कि शुक्रवार को केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक राज्यमंत्री भगवंत खुबा ने कहा कि बिहार में कालाबाजारी और जमाखोरी की वजह से किसानों को खाद की दिक्कत हो रही है। केंद्रीय मंत्री के बयान के एक दिन बाद बिहार सरकार के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह ने भगवंत खुबा का समर्थन कर दिया। भगवंत खुबा ने नीतीश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि बिहार में खाद की कालाबाजारी हो रही है और सरकार इसे रोकने में विफल है।

सुधाकर सिंह ने अपनी ही सरकार को कठघरे में खड़ा कर दिया

मीडिया ने जब केंद्रीय मंत्री पर कृषि मंत्री से जवाब मांगा तो बदले में मंत्री ने अपनी ही सरकार को कठघरे में खड़ा कर दिया। सुधाकर सिंह ने कहा कि मैं केंद्रीय मंत्री के आरोप का समर्थन करता हूं। सच है कि बिहार में खाद की कालाबाजारी हो रही है और हमारे विभाग के अधिकारी इसमें शामिल है।

बता दें कि बिहार में महागठबंधन की सरकार बने अभी एक महीने ही हुए हैं, सरकार और मंत्री के बीच नोकझोंक शुरू हो चुकी है। कुछ दिन पहले भी सुधाकर सिंह ने सार्वजनिक मंच पर कहा था कि हमारे विभाग के अधिकारी चोर हैं और मैं चोरों का सरदार हूं।

सुधाकर सिंह को लालू यादव ने किया था तलब

मंत्री के बयान के बाद बिहार में विपक्ष ने काफी हंगामा भी किया था। उधर, मंत्री के बयान के बाद लालू यादव ने सुधाकर सिंह को तलब भी किया था। अब एक बार फिर बिहार सरकार में मंत्री सुधाकर सिंह ने नीतीश कुमार सरकार को कठघरे में खड़ा कर दिया है। अब जेडीयू के सामने विकट स्थिति खड़ी हो गई है।

बता दें कि कुछ दिन पहले न्यूज 24 ने भी दर्शकों को दिखाया था कि कैसे बिहार में खाद की कालाबाजारी हो रही है। सरकार के तरफ से जो खाद किसान को 262 रुपये में मिलनी चाहिए वो 700 रुपये में मिल रही है और आज मंत्री ने यह सच सामने लाकर न्यूज 24 के खबर पर मुहर लगा दी है।

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -