Thursday, 18 April, 2024

---विज्ञापन---

खराब कोलेस्ट्रॉल कम करने में फायदेमंद हैं 2 प्राणायाम, बस इन बातों का रखें ध्यान

Yoga Poses For Cholesterol Control: कोलेस्ट्रॉल एक तरह का फैटी एलिमेंट है, जो हमारी आर्टरी में जमा होने लगता है, जिसके पीछे आपकी अनहेल्दी डाइट और लाइफस्टाइल काफी हद तक इसकी जिम्मेदार है। कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए घरेलू उपचार के साथ-साथ कुछ आसन भी मददगार हैं, आइए जानें-

Edited By : Deepti Sharma | Updated: Apr 4, 2024 08:58
Share :
yoga to reduce cholesterol
Image Credit: Freepik

Yoga Poses For Cholesterol Control: कोलेस्ट्रॉल शब्द के कान में पड़ते ही आपके मन में क्या उठता है? हार्ट अटैक? डायबिटीज? अगर ऐसा है तो करीब करीब आप सही हैं। क्योकि बढा हुआ कोलेस्ट्रॉल ये सब कर सकता है। ज्यादातर समय बढ़ा हुआ कोलेस्ट्रॉल एक चेतावनी है। आइए सबसे पहले ये जान लेते हैं कि कोलेस्ट्रॉल है क्या?

क्या है कोलेस्ट्रॉल?

कोलेस्ट्रॉल हमारे शरीर के सेल्स में पाया जाने वाला एक ऑइली पदार्थ है। आपके पाचन में आसानी के लिए, हार्मोन और विटामिन डी को बनाने के लिए कोलेस्ट्रॉल की जरूरत होती है। सेल्स की दीवार के निर्माण में भी कोलेस्ट्रॉल मददगार है। आपका खून कोलेस्ट्रॉल को लिपो-प्रोटीन नाम के छोटे छोटे पार्टिकल्स को एक जगह से लेकर दूसरी जगह जाता है। Low Density Lipo protein एक नुकसान करने वाला कोलेस्ट्रॉल है। High Density Lipo protein एक अच्छा कोलेस्ट्रॉल है।

दरअसल, कोलेस्ट्रॉल एक प्रकार का फैटी तत्व है, जो हमारी आर्टरी में जमा होने लगता है, जिसकी पीछे खराब खान-पान काफी हद तक जिम्मेदार है। इस खराब खानपान के कारण ब्लड वेसल्स में फैट जमा होने लगता है और ब्लड फ्लो में बाधा आती है, जिसके कारण स्ट्रोक और हार्ट अटैक का खतरा बढ़ता है।

खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में प्राणायाम एक महत्वपूर्ण और प्रभावी तरीका है। ये दो प्राणायाम हैं जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद कर सकते हैं-

अनुलोम-विलोम प्राणायाम

इसे करने के लिए बैठ जाएं और आंखें बंद कर लें। दाएं नाक को अंगूठे से बंद करके, बाएं नाक से सांस लें। अब बाएं नाक से सांस छोड़ते हुए, दाएं नाक को अंगूठे से बंद कर दें। इस प्रोसेस को कुछ मिनट तक जारी रखें, ध्यान रखें कि आपकी सांस की गति समान और धीमी रहनी चाहिए।

भ्रामरी प्राणायाम 

भ्रामरी करने के लिए बैठ जाएं और आंखें बंद कर लें। कानों को अंगूठे से बंद करें, धीमी आवाज में “ओम” की साउंड निकालें।
ध्वनि को फिर भी गतिशील रखते हुए अपनी सांस को बाहर निकालें। इस प्रोसेस को कुछ मिनटों तक जारी रखें।

इस बात का ध्यान रखें

  • प्राणायाम को रोजाना और रेगुलर बनाएं।
  • प्राणायाम करते समय ध्यान और शांत मन रखें।
  • अगर आप प्राणायाम करते समय चक्कर, या अन्य ऐसा कुछ भी महसूस करते हैं, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।
  • खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए, प्राणायाम को नियमित रूप से करें और हेल्दी लाइफस्टाइल को फॉलो करें।

ये भी पढ़ें- मां दर्द बर्दाश्त नहीं हो रहा…पहली बार पीरियड होने पर घबराएं नहीं

First published on: Apr 04, 2024 08:58 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें