Saturday, 13 April, 2024

---विज्ञापन---

World: भारत का स्वदेशी ड्रोन TAPAS-BH-201 दुश्मनों के छुड़ाएगा छक्के, जानें क्या है खास

नई दिल्ली: भारत अपना स्वदेशी ड्रोन तैयार कर रहा है। इसका नाम है TAPAS-BH-201 ( Tactical Airborne Platform-Beyond Horizon-201)। इस एडवांस तापस ड्रोन का इस्तेमाल सभी तरह के आर्म्ड मिशन और बॉर्डर पर निगरानी के लिए किया जा सकेगा। दरअसल, हाल ही में तुर्की ने अपना Bayraktar TB2 नाम का ड्रोन भारत को बेचने से […]

Edited By : Amit Kasana | Updated: Sep 16, 2022 11:52
Share :

नई दिल्ली: भारत अपना स्वदेशी ड्रोन तैयार कर रहा है। इसका नाम है TAPAS-BH-201 ( Tactical Airborne Platform-Beyond Horizon-201)। इस एडवांस तापस ड्रोन का इस्तेमाल सभी तरह के आर्म्ड मिशन और बॉर्डर पर निगरानी के लिए किया जा सकेगा। दरअसल, हाल ही में तुर्की ने अपना Bayraktar TB2 नाम का ड्रोन भारत को बेचने से इन्कार कर दिया था। बल्कि वह इसे पाकिस्तान को देने को तैयार है। ऐसे में भारत में Bayraktar TB2 को टक्कर देने की तैयारी जोरों पर है।

अभी पढ़ें Video: नामीबिया से भूखे लाए जा रहे हैं चीते, कूनो अभ्यारण्य पहुंचते ही करेंगे इन 181 चीतलों का शिकार, देखें वीडियो

यह हैं खासियत
जानकारी के मुताबिक भारतीय ड्रोन TAPAS-BH-201 तुर्की के Bayraktar TB2 ड्रोन से लंबाई में बड़ा है। यह उससे स्पीड में भी तेज है। इसके साथ ही भारत का तापस तुर्की टीबी-2 ड्रोन से ज्यादा ऊंचाई पर आराम से कंट्रोल किया जा सकता है। TAPAS-BH-201 ड्रोन 9.5 मीटर लंबा और 20.6 मीटर चौड़ा है। इसका वजन करीब 1800 किलो है और यह 130 से 180 एचपी पावर तक जनरेट कर सकता है। वहीं, तापस 224 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उड़ सकता है। तापस 35 हजार फीट की ऊंचाई पर 24 घंटे तक टिक सकता है। इसमें एक हजार किलोमीटर की इसकी रेंज है।

अभी पढ़ें गुजरात चुनाव में AAP राघव चड्ढा पर लगा सकती है बड़ा दांव, जानें क्या है पार्टी का प्लान

प्रोग्राम हुआ था लॉन्च

हाल ही में टीबी-2 ड्रोन ने यूक्रेन में जमकर तबाही मचाई थी। जिसके बाद भारत समेत लीबिया, यूएई, पाकिस्तान और बांग्लादेश ने इसे लेने की इच्छा जाहिर की थी। धीरे-धीरे भारत ड्रोन निर्माण में आग बढ़ रहा है। स्वदेशी कंपनियों को आगे बढ़ाने के लिए इंडियन आर्मी ने भी 8 अगस्त 2022 को ड्रोन फेडरेशन ऑफ इंडिया के साथ मिलकर Him Drone-a-thon प्रोग्राम लॉन्च किया है। इंडियन आर्मी की यह पहल रक्षा उपकरणों के निर्माण में मेक इन इंडिया का विस्तार करने के लिए है। इससे भारतीय ड्रोन इकोसिस्टम के लिए मौके बढ़ेंगे।

अभी पढ़ें –  देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

First published on: Sep 15, 2022 10:37 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें