---विज्ञापन---

खालिस्तानी आतंकियों की हत्या की साजिश के आरोपों पर बोले जयशंकर, अमेरिका और कनाडा के मुद्दे एक जैसे नहीं

S Jaishankar on Attack Plot Allegations against Pro Khalistani Elements: खालिस्तानी आतंकियों की हत्या की साजिश को लेकर अमेरिका और कनाडा के आरोपों को लेकर विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा है कि ये दोनों मामले अलग-अलग हैं। भारत हर देश की ओर से जताई जाने वाली चिंता पर गौर करने के लिए तैयार है।

Edited By : News24 हिंदी | Updated: Dec 17, 2023 16:35
Share :
MEA S Jaishankar
विदेश मंत्री एस जयशंकर (एएनआई फाइल)

S Jaishankar on Attack Plot Allegations against Pro Khalistani Elements : विदेश मंत्री एस जयशंकर ने रविवार को अमेरिका और कनाडा में खालिस्तान समर्थक तत्वों की हत्या की साजिश के आरोपों पर बात की। उन्होंने कहा कि ये दोनों मुद्दे अलग-अलग हैं और अमेरिका ने भी हमें कुछ खास बातें बताई हैं। इन आरोपों के बीच अंतर स्पष्ट करते हुए जयशंकर ने कहा कि भारत अन्य देशों की ओर से उठाए जाने वाले विशेष मुद्दों पर गौर करने के लिए हमेशा तैयार है।

जयशंकर ने कहा, कनाडा ही नहीं बल्कि कोई भी देश कोई चिंता व्यक्त करता है और हमें कुछ इनपुट या उस चिंता के कारण के बारे में बताता है तो हम हमेशा उस पर ध्यान देने के लिए तैयार हैं। मुद्दा यह है कि जब अमेरिका ने कुछ मुद्दे उठाए तो उन्होंने हमें कुछ खास बातों की जानकारी दी। विदेश मंत्री ने आगे कहा कि अंतरराष्ट्रीय संबंधों में समय-समय पर इस तरह की चुनौतियां आती रहती हैं।

उन्होंने बेंगलुरु में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि इसलिए हमने कनाडा से कहा कि यह आपके ऊपर है। यह आपकी इच्छा है कि हम इस मुद्दे को देखें या नहीं। बता दें कि अमेरिका ने खालिस्तानी आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नूं की हत्या की कथित साजिश की जांच में भारत से मदद मांगी है। अमेरिकी न्याय विभाग ने निखिल गुप्ता नाम के एक व्यक्ति के खिलाफ मुकदमा दायर किया है।

पन्नूं के मामले में सरकारी कर्मचारी के शामिल होने का आरोप

आरोप लगाया गया है कि पन्नूं की हत्या के लिए भारत सरकार के एक कर्मचारी ने निखिल गुप्ता से हिटमैन हायर करने के लिए कहा था। इसके जवाब में विदेश मंत्रालय ने इस कथित साजिश में सरकारी कर्मचारी के शामिल होने पर चिंता जताई है और सरकारी नीति के खिलाफ होने की बात कहते हुए खुद को इस मामले से अलग कर लिया है। गुप्ता को चेक रिपब्लिक में गिरफ्तार किया गया था।

इस महीने की शुरुआत में भारत ने कहा था कि अमेरिका की ओर से जताई गई चिंताओं को लेकर जांच की जाएगी। दोनों देशों के बीच इस मुद्दे को लेकर कई बार बातचीत हो चुकी है। केंद्र सरकार ने इस मामले की जांच के लिए एक समिति का गठन भी किया है। अमेरिका ने भारत के इस कदम का स्वागत करते हुए कहा था कि मामले की जांच में भारत सरकार का सहयोग बहुत आवश्यक है।

कनाडा ने लगाए ये आरोप, बढ़ा है दोनों देशों के बीच तनाव

कनाडा ने जून में भारतीय एजेंट्स पर खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया था। इसके चलते दोनों देशों के डिप्लोमैटिक संबंधों में खासा तनाव आया है। भारत ने इन आरोपों को पूरी तरह से गलत बता चुका है और कह चुका है कि कनाडा ने अपने आरोपों को लेकर कोई मजबूत सबूत नहीं दिया है। इसलिए हम इस मामले में कुछ नहीं कर सकते।

ये भी पढ़ें: पुतिन ने अपने AI वर्जन से पूछे सवाल, मिले ऐसे जवाब

ये भी पढ़ें: सरेंडर के सिंबल के साथ थे इजरायल के तीनों युवा

ये भी पढ़ें: दुनिया का सबसे खतरनाक समुद्री रूट, 2200 डूबे

ये भी पढ़ें: अमेरिका ने दी उत्तर कोरिया को सख्त चेतावनी

ये भी पढ़ें: डराने वाली है 2024 के लिए नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी

First published on: Dec 17, 2023 04:35 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें