---विज्ञापन---

Congress Satyagraha: राजघाट पर प्रियंका बोलीं- ‘देश का प्रधानमंत्री कायर’, राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा- Dis’qualified MP

Congress Satyagraha: राहुल गांधी की सांसदी जाने के बाद कांग्रेस ने मोदी सरकार के खिलाफ हल्ला बोल दिया है। धारा 144 लागू होने के बावजूद रविवार को दिल्ली के राजघाट पर एक दिन का संकल्प सत्याग्रह आंदोलन किया गया । सुबह 10 बजे शुरू हुआ ये आंदोलन देशभर के सभी प्रदेश और जिला मुख्यालयों पर […]

Edited By : Gyanendra Sharma | Updated: Mar 27, 2023 10:53
Share :
Congress Satyagraha, Priyanka Gandhi, Rahul Gandhi
Priyanka Gandhi

Congress Satyagraha: राहुल गांधी की सांसदी जाने के बाद कांग्रेस ने मोदी सरकार के खिलाफ हल्ला बोल दिया है। धारा 144 लागू होने के बावजूद रविवार को दिल्ली के राजघाट पर एक दिन का संकल्प सत्याग्रह आंदोलन किया गया । सुबह 10 बजे शुरू हुआ ये आंदोलन देशभर के सभी प्रदेश और जिला मुख्यालयों पर भी चल रहा है, जो शाम 5 बजे खत्म हुआ।

पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे, महासचिव प्रियंका गांधी जैसे बड़े नेता राजघाट पर मौजूद रहे। सिख दंगों के आरोपी जगदीश टाइटलर भी राजघाट पर नजर आए। प्रियंका ने पीएम मोदी को कायर बताया है। इससे पहले राहुल गांधी ने अपने ट्विटर अकाउंट का बायो बदलकर उस पर Disqualified MP लिखा है।

यह भी पढ़ें: Mann Ki Baat : मन की बात कार्यक्रम में पीएम मोदी बोले- देश में ऑर्गन डोनेशन के प्रति बढ़ रही जागरूकता

प्रियंका ने कहा- शहीद के बेटे को ‘मीर जाफर’ कहा गया

प्रियंका गांधी ने कहा, ‘इस देश के लोकतंत्र को मेरे परिवार के खून ने सींचा है। जो सोचते हैं कि हमें अपमानित कर, एजेंसियों से छापे मरवाकर हमें डरा देंगे, वो गलत सोचते हैं। हम डरने वाले नहीं हैं।’

‘संसद में मेरे शहीद पिता का अपमान किया। शहीद के बेटे को ‘मीर जाफर’ कहा गया। BJP के CM कहते हैं कि इनके पिता कौन हैं? PM भरी संसद में ‘नेहरू सरनेम’ पर सवाल उठाते हैं? आप पर तो कोई केस नहीं होता, आपकी सदस्यता रद्द नहीं होती।’

पूछा सवाल: भगवान राम क्या परिवारवादी थे? 

परिवारवाद के आरोपों पर प्रियंका गांधी ने पीएम मोदी से सवाल भी पूछा। उन्होंने कहा कि आप परिवारवादी कहते हैं तो भगवान राम कौन थे? क्या वो परिवारवादी थे? क्या पांडव परिवारवादी थे? और हमें क्या शर्म आनी चाहिए कि हमारे परिवार के सदस्य इस देश के लिए शहीद हुए?

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि अहंकारी, तानाशाह जब जवाब नहीं दे पाते तो पूरी सत्ता को लेकर जनता को दबाने की कोशिश करते हैं। आपने कभी सोचा है ये पूरी सरकार एक आदमी को बचाने की इतनी कोशिश क्यों कर रही है? इस अडानी में है क्या कि आप इसे देश की सारी संपत्ति दे रहे हैं। ये अडानी है कौन कि इनका नाम सुनते ही आप बौखला जाते हैं?

LIVE UPDATES…

  • कांग्रेस नेता राजीव शुक्ला ने एकता पर जोर दिया। उन्होंने कहा, ‘जब तक हम सक्रिय नहीं होंगे, तब तक कुछ नहीं होगा। शहीद भगत सिंह भी जब अदालत जाते थे तो उनके साथी गाते जाते थे कि सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है। वक्त आने पर बता देंगे तुम्हें ये आसमां, हम अभी से क्या बताएं, क्या हमारे दिल में हैं।’
  • राजीव शुक्ला ने दूसरा शेर पढ़ते हुए कहा, ‘सोहरत की बुलंदी भी एक पल का तमाशा है, जिस साख पर बैठे हो वो टूट सकती है। ये सोचो कि हम हमेशा सत्ता में रहेंगे तो भूल है। जनता इंदिरा गांधी को साढ़े तीन सौ सीटों से वापस लेकर आई थी। 2024 का चुनाव नजदीक है। तुम्हे भी जनता वापस ला सकती है।’
  • मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा, ‘नीरव मोदी, मेहुल चोक्सी, ललित मोदी OBC हैं? ये तो देश का पैसा लूट कर भाग गए। अगर ये भगोड़े हैं और राहुल गांधी ने भगोड़ो को लेकर बोला तो फिर आपको दर्द क्यों हुआ?
  • राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने कहा, ‘राहुल गांधी ने एजेंडा बदल दिया है। अब देश में लोकतंत्र बचाने का एजेंडा चल रहा है। राहुल गांधी ने स्पीकर से बोलने का मौका मांगा था लेकिन उन्हें मौका नहीं दिया गया और सदन से निष्कासित कर दिया, इस साजिश पर देश के लोगों में गुस्सा है।’
  • शशि थरूर ने कहा, ‘ये सिर्फ अब कांग्रेस या राहुल गांधी की बात नहीं, लोकतंत्र की बात है। क्या ये लोकतंत्र के लिए सही है कि विपक्ष के मुख्य नेता संसद में अपनी आवाज नहीं उठा सकते? विपक्ष एकजुट हुआ है लेकिन नुकसान सिर्फ भारत का है।’
  • सलमान खुर्शीद ने कहा, ‘न्यायपालिका में हमें विश्वास है। यह मामला सिर्फ उस फैसले के बारे में नहीं, भारत के लोकतंत्र पर क्या प्रभाव पड़ रहा है उसपर है। क्या लोकतंत्र में ऐसा होना चाहिए?’
और पढ़िए – Sabarmati to Pyaragraj: गैंगस्टर अतीक को यूपी ला रहा STF का काफिला उदयपुर में रुकने के बाद झांसी के लिए रवाना

  • सलमान खुर्शीद ने कहा, ‘राहुल गांधी को एक कानून के तहत जिम्मेदार ठहराया गया है। हमारा मानना है कि इसे उलटने के लिए अपील ही सही रास्ता है। एक वकील के तौर पर मैं साफ तौर पर दिखा सकता हूं कि फैसले में कई खामियां हैं।’
  • दिल्ली पुलिस ने कांग्रेस पार्टी को राजघाट पर विरोध प्रदर्शन करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया है। पुलिस ने अनुमति नहीं देने का कारण यातायात प्रबंधन को बताया है और इलाके में सीआरपीसी की धारा 144 लगा दी है।
  • दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी ने कहा, ‘हमने इजाजत मांगी थी राजघाट पर सत्याग्रह की सारे नियम फॉलो किया हम लोग मोदानी के 20 हजार करोड़ का सवाल पूछ रहे है इसलिए डरी है सरकार हम सरकार से सवाल पूछते रहेंगे।’

सांसद के रूप में राहुल गांधी की अयोग्यता के विरोध में देशभर में प्रदर्शन हो रहा है। देहरादून, उत्तर प्रदेश, ओडिशा, कर्नाटक में कांग्रेसी एक दिन का संकल्प सत्याग्रह कर रहे हैं। देखिए तस्वीरें…

 

राहुल गांधी ने ट्विटर पर अपना बायो बदला

राहुल गांधी ने ट्विटर पर अपना बायो बदल लिया है। उन्होंने अपने बायो में Dis’Qualified MP लिख लिया है। इशारों में उन्हें पीएम मोदी पर निशाना साधा है।

राहुल बोले- मैं सावरकर नहीं, जो माफी मांग लूं

राहुल गांधी ने शनिवार को दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा, ‘हिन्दुस्तान का लोकतंत्र खतरे में है। मैं सच्चाई को देखता हूं, सच्चाई बोलता हूं। यह बात मेरे खून में है…यह मेरी तपस्या है, उसको मैं करता जाऊंगा। चाहे मुझे अयोग्य ठहराएं, मारे-पीटें, जेल में डालें, मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता, मुझे अपनी तपस्या करनी है।’

उन्होंने दावा करते हुए कहा, ‘मुझे अयोग्य ठहराया गया, क्योंकि प्रधानमंत्री मेरे अगले भाषण से डरे हुए थे। मैंने उनकी आखों में यह डर देखा है। उन्होंने कहा कि मुझे सदस्यता मिले या नहीं मिले। मुझे स्थायी रूप से अयोग्य ठहरा दें, मुझे फर्क नहीं पड़ता कि संसद के अदंर रहूं या नहीं रहूं। मैं राहुल गांधी हूं, सावरकर नहीं जो माफी मांग लूं।’

क्यों राजनीति के केंद्र में राहुल गांधी?

23 मार्च को केरल के वायनाड से कांग्रेस सांसद राहुल गांधी को 2019 के मानहानि केस में सूरत कोर्ट ने दो साल की सजा दी थी। कुछ देर बाद जमानत देते हुए कोर्ट ने उन्हें ट्रायल कोर्ट में अपील के लिए 30 दिन का समय दिया था। लेकिन अगले दिन 24 मार्च को उन्हें लोकसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहरा दिया गया।

दरअसल, 2019 में लोकसभा चुनाव से पहले राहुल गांधी ने कर्नाटक के कोलार में एक रैली की थी। रैली में उन्होंने कहा था कि देश के सभी चोरों का सरनेम मोदी क्यों है? इस टिप्पणी पर सूरत में भाजपा विधायक पूर्णेश मोदी ने केस दर्ज कराया था। उसी मामले में कोर्ट से अब फैसला आया है।

और पढ़िए – देश से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहाँ पढ़ें

First published on: Mar 26, 2023 12:08 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें