Saturday, November 26, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

आंतरिक सुरक्षा को लेकर चिंतन शिविर में PM मोदी बोले- अगले 25 साल ‘अमृत पीठ’ निर्माण के लिए होंगे

Chintan Shivir: देश की आतंरिक सुरक्षा को लेकर चिंतन शिविर आयोजित किया गया है जिसमें पीएम मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए। 

 Chintan Shivir: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि देश में त्योहारों का सीजन चल रहा है। हर राज्य एक दूसरे से अच्छे कार्यों को सीखें और देश के लिए एक साथ मिलकर काम करें। पीएम मोदी ने राज्यों के गृह मंत्रियों से संवाद के दौरान ये बातें कही। बता दें कि देश की आतंरिक सुरक्षा को लेकर चिंतन शिविर आयोजित किया गया है जिसमें पीएम मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शामिल हुए।

बता दें कि आठ राज्यों के मुख्यमंत्री और 16 राज्यों के गृह मंत्री और उपमुख्यमंत्री इस कार्यक्रम में एकत्रित हुए, जिसकी अध्यक्षता केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह कर रहे हैं।

अभी पढ़ें विदेश मंत्री जयशंकर ने किया ग्लोबल टेरर पर प्रहार, बोले- 26/11 को कभी नहीं भुलाया जा सकेगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज कल देश में उत्सव का माहौल है। ओणम, दशहरा, दुर्गापूजा और दीपावली सहित अनेक उत्सव शांति और सौहार्द के साथ देशवासियों ने मनाएं हैं। अभी छठ पूजा सहित कई अन्य त्योहार भी हैं। विभिन्न चुनौतियों के बीच इन त्योहारों में देश की एकता का सशक्त होना, आपकी तैयारियों का भी प्रतिबिंब है।

पीएम मोदी ने कहा कि आजादी का अमृतकाल हमारे सामने हैं। आने वाले 25 वर्ष देश में एक अमृत पीढ़ी के निर्माण के हैं। ये अमृत पीढ़ी ‘पंच प्राणों’ के संकल्पों को धारण करके निर्मित होगी। उन्होंने कहा कि संविधान में भले कानून और व्यवस्था राज्यों का दायित्व है, लेकिन ये देश की एकता-अखंडता के साथ भी उतने ही जुड़े हुए हैं, हर एक राज्य एक दूसरे से सीखें, एक दूसरे से प्रेरणा लें।

पीएम ने कही पंच प्राणों की बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 1- विकसित भारत का निर्माण 2- गुलामी की हर सोच से मुक्ति 3- विरासत पर गर्व 4- एकता और एकजुटता 5- नागरिक कर्तव्य, इन पंच प्राणों का महत्व आप सभी भली भांति जानते हैं, समझते हैं। ये एक विराट संकल्प है, जिसको सिर्फ और सिर्फ सबके प्रयास से ही सिद्ध किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि देश की बेहतरी के लिए काम करें, ये संविधान की भी भावना है और देशवासियों के प्रति हमारा दायित्व है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि जब देश का सामर्थ्य बढ़ेगा तो देश के हर नागरिक, हर परिवार का सामर्थ्य बढ़ेगा। यही तो सुशासन है, जिसका लाभ देश के हर राज्य को समाज की आखिरी पंक्ति में खड़े व्यक्ति तक पहुंचाना है। इसमें आप सभी की बहुत बड़ी भूमिका है।

अभी पढ़ें संयुक्त राष्ट्र की आधिकारिक भाषाओं में शामिल होगी हिंदी! विदेश मंत्री जयशंकर ने दिए ये संकेत

पीएम मोदी ने ‘एक राष्ट्र, एक पुलिस वर्दी’ का विचार रखा

प्रधानमंत्री मोदी ने ‘एक राष्ट्र, एक पुलिस वर्दी’ का विचार भी पेश किया और कहा कि राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को इस पर चर्चा करनी चाहिए कि क्या यह संभव है।

पीएम मोदी ने कहा कि कई बार केंद्रीय एजेंसियों को कई राज्यों में एक साथ जांच करनी पड़ती है, दूसरे देशों में भी जाना पड़ता है, इसलिए हर राज्य का दायित्व है कि चाहे राज्य की एजेंसी हो, चाहे केंद्र की एजेंसी हो, सभी एजेंसियों को एक-दूसरे को पूरा सहयोग देना चाहिए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि साइबर क्राइम हो या फिर ड्रोन टेक्नोलॉजी का हथियारों और ड्रग्स तस्करी में उपयोग, इनके लिए हमें नई टेक्नोलॉजी पर काम करते रहना होगा। स्मार्ट टेक्नोलॉजी से कानून-व्यवस्था को स्मार्ट बना पाना संभव होगा।

अभी पढ़ें –  देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -