---विज्ञापन---

ओडिशा में 2 घंटे में 61 हजार बार गिरी आकाशीय बिजली, 6 जिलों में 10 लोगों की मौत

Odisha Weather Updates Lightning Strikes: ओडिशा में आकाशीय बिजली का कहर बरपा है। राज्य के 6 जिलों में शनिवार को 2 घंटे में 61 हजार बार बिजली गिरी, जिससे अलग-अलग जगहों पर 10 लोगों की मौत हो गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक, राजधानी भुवनेश्वर में सबसे ज्यादा आकाशीय बिजली गिरने की घटना सामने आई। भुवनेश्वर और […]

Edited By : Om Pratap | Updated: Sep 3, 2023 12:17
Share :
Odisha Weather Updates Lightning Strikes kills 10 people in state

Odisha Weather Updates Lightning Strikes: ओडिशा में आकाशीय बिजली का कहर बरपा है। राज्य के 6 जिलों में शनिवार को 2 घंटे में 61 हजार बार बिजली गिरी, जिससे अलग-अलग जगहों पर 10 लोगों की मौत हो गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक, राजधानी भुवनेश्वर में सबसे ज्यादा आकाशीय बिजली गिरने की घटना सामने आई।

भुवनेश्वर और इसके आस-पास के इलाकों में शनिवार दोपहर बाद गरज के साथ लगातार बारिश जारी रही। इस दौरान आकाशीय बिजली भी गिरी। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर ओडिशा राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (OSDMA) ने बताया कि शाम 5.30 बजे तक करीब 61 हजार बार से अधिक बिजली गिरने की घटनाएं सामने आईं।

ओडिशा राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से जानकारी दी गई कि शनिवार को राज्य के अलग-अलग जिलों में आकाशीय बिजली गिरने से 10 लोगों की मौत हो गई, जबकि तीन अन्य झुलस गए। बताया गया कि अंगुल में 01, बोलांगीर में 02, बौध में 01, जगतसिंहपुर में 01, ढेंकनाल में 01 और खोरधा में 04 लोगों की मौत की सूचना आई है।

इससे पहले मई में, ओडिशा के नयागढ़ जिले में बिजली गिरने की घटना सामने आई थी। जानकारी के मुताबिक, जिले के सरनाकुला इलाके में अलग-अलग जगहों पर आकाशीय बिजली गिरने से एक महिला समेत 3 लोगों की मौत हो गई थी।

अगले चार दिनों तक राज्य के अलग-अलग हिस्सों में बारिश की भविष्यवाणी

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के मुताबिक, भुवनेश्वर और कटक शहरों समेत ओडिशा के तटीय क्षेत्र में बिजली गिरने के साथ भारी बारिश हुई। IMD ने अगले चार दिनों में ओडिशा के अलग अलग हिस्सों में इसी तरह की स्थिति की आशंका जताई है।

बताया गया कि साइक्लोनिक सर्कुलेशन ने मानसून को सक्रिय कर दिया है जिससे पूरे राज्य में भारी बारिश हुई है। भुवनेश्वर और कटक में दोपहर में 90 मिनट में 126 मिमी और 95.8 मिमी बारिश दर्ज की गई। मौसम विभाग ने लोगों को आंधी तूफान के दौरान सुरक्षित स्थानों पर शरण लेने की सलाह दी है।

क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक एचआर बिस्वास ने कहा कि एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन बंगाल की पूर्वोत्तर खाड़ी पर भी बना हुआ है, जबकि उत्तरी बंगाल की खाड़ी में 3 सिंतबर के आसपास एक और साइक्लोनिक सर्कुलेशन बनने की संभावना है।

First published on: Sep 03, 2023 12:17 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें