---विज्ञापन---

सेना को मिली बड़ी कामयाबी, 4 आतंकी हमलों का मास्टरमाइंड जैश कमांडर रिहान साथी समेत ढेर

Kathua Terror Attack: कश्मीर में आतंकियों का सफाया जारी है। पिछले एक सप्ताह में कश्मीर में चार आतंकी हमले हो चुके हैं। अब मास्टरमाइंड सेना के हाथों मारा गया है। सुरक्षाबलों ने उसके एक साथी का भी काम तमाम कर दिया। सुरक्षाबलों को लगातार ये आतंकी चुनौती दे रहे थे। दोनों आतंकी पाकिस्तानी सेना के संपर्क में थे।

Edited By : Parmod chaudhary | Updated: Jun 14, 2024 15:30
Share :
Jaish-e-Mohammed commander Rehan
जैश कमांडर रिहान ढेर।

Kashmir News: जम्मू कश्मीर के कठुआ जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। एक गांव में मुठभेड़ के दौरान जैश का कमांडर रिहान और उसका साथी मारा गया है। सूत्रों के मुताबिक ये दोनों आतंकवादी पाकिस्तानी सेना के संपर्क में थे। जैश कमांडर रिहान के अलावा उसका निजी सुरक्षा अधिकारी मारा गया है। सूत्रों के मुताबिक जो वेपन और उपकरण इन आतंकियों से मिले हैं, वो पाकिस्तानी सेना यूज करती है। इन आतंकियों के पास सुरक्षाबलों को फ्रीक्वेंसी सैटेलाइट कम्युनिकेशन डिवाइस वाली एम4 राइफल और नाइट स्कोप मिला है। इन डिवाइस का इस्तेमाल पाक की सेना, नौसेना और वायुसेना करती है। सेना के अधिकारियों को संदेह है कि रिहान और उसका साथी पाकिस्तानी सेना के संपर्क में थे।

सप्ताह में हो चुके 4 आतंकी हमले

इसी सप्ताह जम्मू कश्मीर के डोडा, कठुआ, रियासी जिलो में 4 आतंकी हमले हो चुके हैं। जिसमें एक सीआरपीएफ का जवान शहीद हो चुका है। दो आतंकी मारे गए हैं। 8 आम लोगों की जान गई है। सूत्रों से जानकारी मिली है कि हिज्ब-उल-मुजाहिदीन और जैश-ए-मोहम्मद की एक मीटिंग 9 जून को रियासी में आतंकी हमले के बाद हुई है। पाकिस्तान के रावलकोट में मीटिंग के दौरान बड़े आतंकी आकाओं की मौजूदगी की बात सामने आई है। हिजबुल के डिप्टी कमांडर खालिद और जैश कमांडर रज्जाक भी 10 जून को मिले हैं।

यह भी पढ़ें:रियासी आतंकी हमले पर सेना का बड़ा एक्शन, हिरासत में लिए 50 संदिग्ध

सूत्रों के मुताबिक मीटिंगों में भारत में आतंकी हमले तेज करने और सेना को कैसे नुकसान पहुंचाना है? इसको लेकर रणनीति बनाई गई है। वहीं, राजौरी के नौशेरा सेक्टर में 2 संदिग्ध देखे जाने की सूचना के बाद सेना ने सर्च ऑपरेशन शुरू किया था। इलाके की घेराबंदी के बाद तलाश जारी है। वहीं, रावलकोट की खुफिया रिपोर्ट मिलने के बाद सुरक्षाबलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। पुंछ और राजौरी जिलों पर सेना की विशेष नजर है। जहां पिछले 2 साल में आतंकी हमले बढ़े हैं।

First published on: Jun 14, 2024 03:30 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें