Wednesday, 21 February, 2024

---विज्ञापन---

चंद्रयान-3 के बाद ISRO का एक और अभियान, श्रीहरिकोटा से 7 सैटेलाइट्स के साथ PSLV-C56 लॉन्च

ISRO PSLV Launch:चंद्रयान-3 की सफल लॉन्चिंग के बाद अब इसरो (ISRO) ने रविवार को श्रीहरिकोटा से PSLV-C56 की सफल लॉन्चिंग की। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने सात सैटेलाइट्स को सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (SDSC) से लॉन्च किया। इसरो चीफ एस सोमनाथ ने कहा कि बधाई हो, प्राइमरी सैटेलाइट DS-SAR और 6 को-पैसेंजर सैटेलाइट्स सहित 7 […]

Edited By : Om Pratap | Updated: Jul 31, 2023 12:49
Share :
ISRO, PSLV launch, Sriharikota, Indian Space Research Organisation, Singapore, Satish Dhawan Space Centre
इसरो ने श्रीहरिकोटा से 7 उपग्रहों को लेकर PSLV-C56 लॉन्च किया। (फोटो: इसरो)

ISRO PSLV Launch:चंद्रयान-3 की सफल लॉन्चिंग के बाद अब इसरो (ISRO) ने रविवार को श्रीहरिकोटा से PSLV-C56 की सफल लॉन्चिंग की। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ने सात सैटेलाइट्स को सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (SDSC) से लॉन्च किया।

इसरो चीफ एस सोमनाथ ने कहा कि बधाई हो, प्राइमरी सैटेलाइट DS-SAR और 6 को-पैसेंजर सैटेलाइट्स सहित 7 उपग्रहों को ले जाने वाले पीएसएलवी-सी56 को सफलतापूर्वक सही कक्षा में स्थापित किया गया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, लॉन्चिंग आज सुबह 6.30 बजे किया गया।

इसरो ने किया ये ट्वीट

इसरो ने ट्वीट कर लिखा कि PSLV-C56/ DS-SAR मिशन सफलतापूर्वक पूरा हो गया है। PSLV-C56 सभी 7 उपग्रहों को उनकी इच्छित कक्षाओं में सटीक रूप से लॉन्च किया। एनएसआईएल_इंडिया और सिंगापुर को धन्यवाद।

PSLV की ये उड़ान कुल मिलाकर 58वीं और कोर अलोन कॉन्फ़िगरेशन का उपयोग करते हुए 17वीं उड़ान है। इसरो के अनुसार, पीएसएलवी-सी56 को श्रीहरिकोटा के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (एसडीएससी) में पहले लॉन्च पैड (एफएलपी) से लॉन्च किया गया था।

PSLV-C56/ DS-SAR एसटी इंजीनियरिंग, सिंगापुर के लिए न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड (एनएसआईएल) का समर्पित वाणिज्यिक मिशन है। डीएस-एसएआर, एक रडार इमेजिंग अर्थ ऑब्जर्वेशन उपग्रह, मिशन का प्राथमिक उपग्रह है। इसके अलावा, छह सह-यात्री ग्राहक उपग्रह भी सिंगापुर के हैं। इसरो की एक विज्ञप्ति में कहा गया है कि सभी उपग्रहों को 5 कक्षीय झुकाव के साथ 535 किमी के गोलाकार में इंजेक्ट किया जाएगा।

डीएस-एसएआर उपग्रह डीएसटीए (सिंगापुर सरकार का प्रतिनिधित्व) और एसटी इंजीनियरिंग के बीच साझेदारी के तहत विकसित किया गया है। एक बार तैनात और चालू होने के बाद, इसका उपयोग सिंगापुर सरकार के भीतर विभिन्न एजेंसियों की उपग्रह इमेजरी आवश्यकताओं का समर्थन करने के लिए किया जाएगा।

एसटी इंजीनियरिंग अपने वाणिज्यिक ग्राहकों के लिए मल्टी-मॉडल और उच्च प्रतिक्रियाशीलता इमेजरी और भू-स्थानिक सेवाओं के लिए इसका उपयोग करेगी। डीएस-एसएआर इज़राइल एयरोस्पेस इंडस्ट्रीज (आईएआई) की ओर से विकसित सिंथेटिक एपर्चर रडार (एसएआर) पेलोड रखता है।

इसरो ने कहा, यह डीएस-एसएआर को हर मौसम में दिन और रात की कवरेज प्रदान करने की अनुमति देता है और पूर्ण पोलारिमेट्री पर 1 मीटर रिज़ॉल्यूशन पर इमेजिंग करने में सक्षम है।

देश की खबरों के लिए यहां क्लिक करेंः-

First published on: Jul 30, 2023 10:05 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें