---विज्ञापन---

Delhi Mahapanchayat: बेरोजगारी समेत कई मुद्दों पर किसानों का धरना प्रदर्शन, गाजीपुर बॉर्डर पर बवाल, जगह-जगह जाम

नई दिल्ली: संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) और अन्य किसान समूह न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) समेत अपनी लंबित मांग पर आवाज उठाने के लिए आज जंतर मंतर पर एक ‘महापंचायत’ का आयोजन कर रहे हैं। इस विरोध के मद्देनजर, दिल्ली पुलिस ने अब सभी सीमाओं पर सुरक्षा बढ़ा दी है। हालांकि, भारी संख्या में लोग जंतर […]

Edited By : Nitin Arora | Updated: Aug 22, 2022 13:40
Share :

नई दिल्ली: संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) और अन्य किसान समूह न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) समेत अपनी लंबित मांग पर आवाज उठाने के लिए आज जंतर मंतर पर एक ‘महापंचायत’ का आयोजन कर रहे हैं। इस विरोध के मद्देनजर, दिल्ली पुलिस ने अब सभी सीमाओं पर सुरक्षा बढ़ा दी है। हालांकि, भारी संख्या में लोग जंतर मंतर पहुंच चुके हैं और महापंचायत शुरू की गई।

महापंचायत में संयुक्त किसान मोर्चा (अराजनैतिक) के संयोजक जगजीत सिंह डल्लेवाल ने कहा अपनी मांगों के समर्थन में राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपेंगे।

क्या है मांग?
-लखीमपुर खीरी मामले में पीड़ित किसान परिवारों को इंसाफ मिले। जेलों में बंद किसानों की रिहाई हो और केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी की गिरफ्तारी हो।
-स्वामीनाथन आयोग के सी2+50 प्रतिशत फॉर्मूले के अनुसार एमएसपी की गारंटी का कानून बने।
-देश के सभी किसानों का कर्जमुक्त हो।
-बिजली बिल 2022 को रद्द किया जाए
-गन्ने का समर्थन मूल्य बढ़ाया जाए और बकाया राशि का तत्काल भुगतान हो।
-विश्व व्यापार संगठन से बाहर आए और सभी मुक्त व्यापार समझौते रद्द किए जाए।
-किसान आंदोलन के दौरान दर्ज सभी मुकदमे वापस लिए जाएं।
-प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसानों के बकाया मुआवजे का तत्काल भुगतान किया जाए।
-अग्निपथ योजना की वापसी हो।

वहीं, दिल्ली पुलिस ने दिल्ली-यूपी सीमा पर गाजीपुर में प्रदर्शन कर रहे किसानों को हिरासत में लिया। बेरोजगारी के खिलाफ किसान आज प्रदर्शन कर रहे हैं।

जंतर-मंतर पर आज किसानों का धरना

एसकेएम नेताओं ने दावा किया कि कुछ स्थानों पर किसानों को जंतर-मंतर तक पहुंचने से रोका जा रहा है, लेकिन दिल्ली पुलिस ने इससे इनकार किया। जंतर-मंतर पर ‘महापंचायत’ के लिए पुलिस ने अभी अनुमति नहीं दी है।

जंतर-मंतर पर किसानों के विरोध के चलते कई किलोमीटर का लंबा जाम
किसानों की इस एक दिन की महापंचायत के चक्कर में लाखों वाहन चालकों की हालात खराब हो गई है। कई स्थानों पर लंबा जाम लगा पड़ा है। दिल्ली पुलिस ने इसके तहत एडवाइजरी भी जारी की थी।

नोएडा-दिल्ली बॉर्डर पर भारी ट्रैफिक है। इसके अलावा जंतर-मंतर पर किसानों के विरोध के आह्वान से पहले पुलिस ने गाजीपुर सीमा पर बैरिकेड लगा दिए, जिससे जाम हो गया। वहीं, मुकरबा चौक से रिंग रोड की ओर वाहनों की आवाजाही है, लेकिन बेरिकेड्स के कारण जाम की स्थिति बनी हुई है। इधर, शास्त्री पार्क से कश्मीरी गेट राजघाट की तरफ और तीस हजारी कोर्ट से घंटाघर तक कई किलोमीटर का लंबा ट्रैफिक जाम लग गया है।

किसानों ने राजधानी में कल से ही डालना शुरू कर दिया था। इस संबंध में किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए बाहरी जिले के टिकरी सीमा, प्रमुख चौराहों, रेलवे ट्रैक और मेट्रो स्टेशन पर स्थानीय पुलिस और बाहरी बल की पर्याप्त तैनाती की गई है।

इससे पहले कल, किसान नेता और भारतीय किसान संघ (बीकेयू) के राष्ट्रीय प्रवक्ता और एसकेएम के प्रमुख चेहरे राकेश टिकैत को दिल्ली पुलिस ने रविवार को गाजीपुर सीमा पर हिरासत में लिया था। हालांकि, बाद में उन्हें छोड़ दिया गया।

First published on: Aug 22, 2022 01:40 PM
संबंधित खबरें