Thursday, 22 February, 2024

---विज्ञापन---

Ram Mandir: ‘मोदी पीएम नहीं होते तो नहीं बन पाता राम मंदिर…’, कांग्रेस नेता प्रमोद कृष्णम का बड़ा बयान

Acharya Pramod Krishnam on Ram Mandir Inauguration: कांग्रेस पार्टी ने राम मंदिर के कार्यक्रम के निमंत्रण को ठुकरा दिया है। पार्टी ने समारोह को बीजेपी-आरएसएस ने पॉलिटिकल इवेंट बताया है। पार्टी का आरोप है कि बीजेपी राजनीतिक फायदे के लिए ऐसा कर रही है।

Edited By : Shubham Singh | Updated: Jan 21, 2024 18:01
Share :
Acharya Pramod Krishnam on Ram Mandir
रामलला के प्राण प्रतिष्ठा पर कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम

Congress leader Acharya Pramod Krishnam on Ram Mandir Pran Pratistha in Ayodhya: यूपी के अयोध्या में कल यानी सोमवार को राम मंदिर में रामलला का प्राण प्रतिष्ठा समारोह होना है। इसमें शामिल होने के लिए देशभर की कई जानीमानी हस्तियां अयोध्या पहुंच रही हैं। अमिताभ बच्चन, रजनीकांत, अक्षय कुमार, कंगना रनौत, अनुपम खेर और माधुरी दीक्षित समेत कई फिल्म जगत की हस्तियों को कार्यक्रम के लिए आमंत्रित किया गया है। कार्यक्रम में शामिल होने और मंदिर के उद्घाटने को लेकर राजनीतिक बयानबाजी का दौर भी चल रहा है। विपक्षी नेता इसे लेकर बीजेपी की आलोचना कर रहे हैं तो वहीं बीजेपी भी पलटवार कर रही है।

वहीं कांग्रेस समेत कई विपक्षी नेताओं ने समारोह में न जाने का फैसला किया है। कांग्रेस ने कार्यक्रम के न्योते को अस्वीकार कर दिया है। विपक्षी नेता कार्यक्रम के राजनीतिकरण का आरोप लगा रहे हैं। कई राज्यों ने इस दिन सार्वजनिक अवकाश की घोषणा की है। इस बीच कांग्रेस नेता प्रमोद कृष्ण ने राम मंदिर को लेकर बड़ा बयान दिया है। 10 जनवरी को कांग्रेस कहा था कि राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम में सोनिया गांधी, मल्लिकार्जुन खड़गे शामिल नहीं होंगे।

ये भी पढ़ें-कौन है दुनिया का सबसे अमीर नेता, जिसके पास है पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था से भी ज्यादा संपत्ति?

क्या कहा आचार्य प्रमोद कृष्णम ने

कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि मंदिर का जो निर्माण हुआ है वो अदालत के फैसले से हुआ है। सुप्रीम कोर्ट ने फैसला दिया और भगवान श्री राम की जन्मभूमि पर मंदिर का निर्माण शुरु हुआ और कल उसकी प्राण प्रतिष्ठा है। अगर मोदी देश के प्रधानमंत्री ना होते तो ये फैसला ना हो पाता और यह मंदिर नहीं बन पाता। मैं राम मंदिर के निर्माण और इसके प्राण प्रतिष्ठा के शुभ दिन का श्रेय प्रधानमंत्री मोदी को देना चाहता हूं।

विपक्ष के नेताओं द्वारा राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह के निमंत्रण को अस्वीकार करने पर कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा कि यह दुर्भाग्य का विषय है। राम के निमंत्रण को तो कोई ईसाई, पादरी, मुसलमान भी नहीं ठुकरा सकता। राम भारत की आत्मा हैं। राम के निमंत्रण को ठुकराने का मतलब भारतीय संस्कृति और सभ्यता का अपमान करना है।

भाजपा से लड़ो राम से नहीं-प्रमोद कृष्णम

प्रमोद कृष्णम ने कहा कि राम के निमंत्रण को ठुकराने का मतलब भारत की अस्मिता को चुनौती देना है। राम के बिना ना भारत की कल्पना की जा सकता है, ना भारत के लोकतंत्र की। मैं सभी विपक्षी दलों से निवेदन करना चाहता हूं कि आप भाजपा से लड़ो राम से मत लड़ो, भाजपा से लड़ो सनातन से मत लड़ो, भाजपा से लड़ो भारत से मत लड़ो।

ये भी पढ़ें-Ayodhya Ram Mandir: प्राण प्रतिष्ठा समारोह में किस-किस राज्य से क्या-क्या आएगा?

First published on: Jan 21, 2024 04:21 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें