Wednesday, 28 February, 2024

---विज्ञापन---

Medical जगत में क्रांति, लाइलाज बीमारी Alzheimer का संभव हुआ इलाज, पहली दवा को मंजूरी

Alzheimer Treatment: अल्जाइमर एक दिमागी बीमारी (Progressive Neurological Disorders) है, जो हमारी याददाश्त, सोचने की शक्ति और व्यवहार पर असर करता है। यह डिमेंशिया का सबसे आम कारण है। अल्जाइमर की बीमारी होने पर दिमाग में प्रोटीन असाधारण तरीके से बनने लगते हैं। जो ब्रेन के सेल्स को नुकसान करते हैं और खत्म कर देते […]

Edited By : Deepti Sharma | Updated: Sep 28, 2023 11:38
Share :
what is the best treatment for alzheimer?,alzheimer's disease medication,early-stage alzheimer's treatment,alzheimer's disease self-care,fda approved drugs for alzheimer's disease,alzheimer's disease specialists,alzheimer's disease caused by deficiency of,types of alzheimer's disease
Alzheimer Disease medicine

Alzheimer Treatment: अल्जाइमर एक दिमागी बीमारी (Progressive Neurological Disorders) है, जो हमारी याददाश्त, सोचने की शक्ति और व्यवहार पर असर करता है। यह डिमेंशिया का सबसे आम कारण है। अल्जाइमर की बीमारी होने पर दिमाग में प्रोटीन असाधारण तरीके से बनने लगते हैं। जो ब्रेन के सेल्स को नुकसान करते हैं और खत्म कर देते हैं।

देखा जाए तो अल्जाइमर बीमारी का कोई उपचार नहीं है, लेकिन जापान में अल्जाइमर की बीमारी के लिए पहली दवा को मंजूरी मिल गई है। जापान के मिनिस्ट्री ऑफ हेल्थ ने अल्जाइमर बीमारी के लिए ‘लेकेम्बी’ दवा को मंजूरी दे दी है। इस दवा को जापान और अमेरिका की कंपनियों ने मिल कर बनाया है। तेजी से बढ़ती उम्र वाले लोगों को लिए यह पहली दवा है।

अल्जाइमर बीमारी को धीमा करेगी दवा

लेकेम्बी दवा इस बीमारी की पहली स्टेज में हल्के डिमेंशिया के लक्षण और अन्य लक्षण वाले मरीजों के लिए है। यह लेकेम्बी दवा मामूली रूप से अल्जाइमर बीमारी को धीमा कर सकती है।

अल्जाइमर के लक्षण

  • याददाश्त खोना
  • भाषा में परेशानी
  • नार्मल व्यवहार न हो पाना
  • कोई परेशानी सुलझाने में दिक्कत होना

ये भी पढ़ें- कैसे अलग हैं Alzheimer और Dementia की बीमारी, समझें इनके लक्षण और रोकथाम

अल्जाइमर के रिस्क फैक्टर

उम्र- आमतौर पर 65 साल की उम्र के बाद अल्जाइमर बीमारी होती है, लेकिन कुछ मामलों में कम उम्र में भी होने के चांस हैं।

फैमिली हिस्ट्री- अगर फैमिली में किसी को यह बीमारी है, तो आपको होने का खतरा हो सकता है।

दिमाग की चोट- दिमाग में लगी चोट अल्जाइमर के खतरे को बढ़ा सकती है।

हेल्थ कंडीशन- हार्ट डिजीज, स्ट्रोक और हाई ब्लड प्रेशर होने पर या ऐसी स्थिति होती है तो अल्जाइमर बीमारी हो सकती है।

Disclaimer: इस लेख में बताई गई जानकारी और सुझाव को पाठक अमल करने से पहले डॉक्टर या संबंधित एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। News24 की ओर से किसी जानकारी और सूचना को लेकर कोई दावा नहीं किया जा रहा है।

First published on: Sep 28, 2023 10:43 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें